शहडोल के 16 पर्यटन और दर्शनीय स्थल – Top 16 Shahdol Tourist Places in Hindi

Shahdol Tourist Places in Hindi :- शहडोल मध्य प्रदेश का एक प्रसिद्ध जिला है। इस लेख में हम आपको शहडोल जिले में घूमने की जगह, शहडोल कैसे पहुंचे और शहडोल के प्रसिद्ध मंदिर और धार्मिक स्थलों के बारे में जानकारी देंगे।

Table of Contents

शहडोल जिले के बारे में जानकारी – Information about Shahdol district

शहडोल मध्य प्रदेश का प्रमुख जिला है। शहडोल जिले की सीमाओं पर उमरिया, डिंडोरी, अनूपपुर और रीवा जिले की सीमाएं लगती हैं। शहडोल में सोन नदी और सराफा नदी बहती है। शहडोल जिला जंगलों और पहाड़ों से घिरा हुआ है। शहडोल जिला बहुत खूबसूरत है।

शहडोल जिले में घूमने के लिए बहुत सारी जगह है, जहां पर जाकर आप अच्छा समय बिता सकते हैं। शहडोल जिले में घूमने के लिए ऐतिहासिक, प्राकृतिक और धार्मिक जगह हैं, जो बहुत सुंदर है और इन सभी जगह में आप अपनी फैमिली और दोस्तों के साथ जा सकते हैं।

शहडोल में घूमने के लिए बहुत सारी जगह (Shahdol Tourist Places) है और इस ब्लॉग में, हमने आपको शहडोल में घूमने वाली जगह (Shahdol Tourist Places) के बारे में जानकारी दी है। आप ब्लॉग पूरा पढ़ें। आपको पूरी जानकारी मिलेगी। शहडोल में ठहरने के लिए बहुत सारे होटल आपको मिल जाते हैं, जहां पर आप ठहर सकते हैं। इस ब्लॉग में आप शहडोल में कहां-कहां घूम सकते हैं। इन सभी जगह की जानकारी दी गई है।

 

शहडोल जिले में घूमने की जगह – Shahdol Tourist Places

शहडोल के पर्यटन और दर्शनीय स्थल की सूची – Shahdol Tourist Places list in Hindi

  1. क्षीर सागर शहडोल
  2. बाणसागर बांध शहडोल
  3. विराट मंदिर शहडोल
  4. बूढ़ी माता मंदिर शहडोल
  5. पुरातत्व संग्रहालय शहडोल
  6. सर्राफा बांध शहडोल
  7. देवझार शहडोल
  8. टैगोर गार्डन शहडोल
  9. श्री विराटेश्वरी धाम शहडोल
  10. सिंहवाहिनी माता मंदिर शहडोल
  11. छोटी तुम्मी और बड़ी तुम्मी शहडोल
  12. झरिया नाला शहडोल
  13. लखवारिया गुफा शहडोल
  14. मां काली मंदिर शहडोल
  15. श्री चीपाधा नाथ धाम शहडोल
  16. गोदावल महादेव मंदिर शहडोल

 

शहडोल में घूमने वाली जगह – Shahdol Tourist Places

 

क्षीर सागर शहडोल – Ksheer Sagar Shahdol

क्षीर सागर शहडोल का प्रमुख धार्मिक स्थल (Shahdol Tourist Places) है। क्षीर सागर पर मुरना और सोन नदी का संगम हुआ है। यह जगह प्राकृतिक है  और जंगल के बीच में स्थित है। यहां पर आपको पहाड़ी, घना जंगल, चट्टाने और रेत का बड़ा सा किनारा देखने के लिए मिलता है। इस जगह को मध्यप्रदेश का गोवा भी कहा जाता है। यहां पर बरसात के समय छोटे-छोटे जलप्रपात बहते हैं, जो बहुत सुंदर लगते हैं। यह जगह शहडोल वन क्षेत्र के अंतर्गत आती है। यहां पर पहुंचने के लिए सड़क मार्ग है।

यहां पर मकर संक्रांति में मेला भरता है, जिसमें दूर दूर से लोग इस मेले में घूमने के लिए आते हैं। यहां पर सोन नदी ज्यादा गहरी नहीं है। यहां पर नहाने का मजा लिया जा सकता है। यहां पर लक्ष्मण जी का प्राचीन मंदिर भी है, जो आप देख सकते हैं। यहां पर आश्रम बना हुआ है। यहां पर बहुत सारे बंदर है। इसलिए आप को संभाल कर रहने की जरूरत रहती है। यह जगह बहुत सुंदर है।

 

बाणसागर बांध शहडोल – Bansagar Dam Shahdol

बाणसागर बांध शहडोल जिले का एक बहुत बड़ा जलाशय है। यह जलाशय मध्य प्रदेश के सबसे बड़े जलाशयों में से एक है। यह जलाशय शहडोल जिले के देवलोद गांव में स्थित है। यह बांध सोन नदी पर बना हुआ है। यह बांध मुख्य रूप से सिंचाई और विद्युत उत्पादन के लिए बनाया गया है। यह बांध रीवा  शहडोल हाईवे सड़क पर स्थित है। इस बांध का दृश्य बहुत ही सुंदर रहता है। इस बांध में 18 गेट है।

बरसात के समय इस बांध के गेट खोले जाते हैं, जिससे इसका दृश्य देखने लायक रहता है। शाम के समय यहां पर आकर सूर्यास्त का दृश्य देखा जा सकता है। बाणसागर बांध की प्रधानमंत्री मोरारजी देसाई ने 1978 में नीव रखी थी। 2006 में इस बांध का उद्घाटन अटल बिहारी वाजपेई के द्वारा किया गया था।

 

विराट मंदिर शहडोल – Virat Mandir Shahdol

विराट मंदिर शहडोल सोहागपुर में स्थित एक प्राचीन मंदिर है। यह मंदिर शिव भगवान जी को समर्पित है। यह मंदिर 11 वीं सदी में बनाया गया था। इस मंदिर की बाहरी दीवारों में सुंदर मूर्ति कला बनाई गई है। इस मंदिर की शैली पंचायतन है। इसमें गर्भगृह, मंडप, अर्धमंडप, महामंडप बना हुआ है। यह मंदिर एक ऊंचे चबूतरे पर बना हुआ है। मंदिर के बाहर एक बहुत बड़ा गार्डन बनाया गया है। इस मंदिर की देखरेख भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण द्वारा की जाती है। इस मंदिर को बहुत अच्छी तरह से प्रबंधित करके रखा गया है।

विराट मंदिर की बाह्य मूर्तिकला खजुराहो मंदिरों के समान है।  इस मंदिर में बहुत सारी कामुक प्रतिमा भी बनाई गई है। मंदिर के अंदर गर्भ गृह में शिवलिंग विराजमान है। यहां पर मंडप में नंदी भगवान जी की मूर्ति भी विराजमान है। इस मंदिर का निर्माण कलचुरी कालीन राजा युवराज देव जी ने करवाया था।

 

बूढ़ी माता मंदिर शहडोल – Budhi Mata Temple Shahdol

बूढ़ी माता मंदिर शहडोल का एक प्रमुख मंदिर है। यहां पर मां दुर्गा बूढ़ी माता के रूप में विराजमान है। यहां पर बूढ़ी माता की बहुत सुंदर प्रतिमा के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। इस मंदिर के बारे में कहा जाता है, कि यहां पर आकर मनोकामनाएं पूरी होती है। इसलिए यहां पर लोगों की भीड़ लगी रहती है। यह मंदिर शहडोल से 3 किलोमीटर दूर है। इस मंदिर में हनुमान जी, शंकर जी, गणेश जी, शनि भगवान जी, राम जी, भैरव बाबा जी के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यहां पर एक गार्डन भी बना हुआ है, जहां पर बैठा जा सकता है।

 

पुरातत्व संग्रहालय शहडोल – Archaeological Museum Shahdol

पुरातत्व संग्रहालय शहडोल का एक प्रमुख स्थान (Shahdol Tourist Places) है। यहां पर बहुत सारी प्राचीन वस्तुओं का संग्रह करके रखा गया है। यहां पर प्राचीन प्रतिमाएं देखने के लिए मिलते हैं। यहां प्राचीन शिलालेख देखे जा सकते हैं। यह संग्रहालय शहडोल शहर के बीचोंबीच स्थित है। यहां पर आप आसानी से अपने बाइक या कार से पहुंच सकते हैं।

 

सर्राफा बांध शहडोल – Sarafa Dam Shahdol

सर्राफा बांध शहडोल का एक प्राकृतिक स्थल है। यहां पर एक छोटा सा बांध बना हुआ है। इस बांध को सर्राफा नाला के नाम से भी जाना जाता है। इस बांध का दृश्य बहुत सुंदर रहता है, क्योंकि बरसात के समय इस बांध में बहुत ज्यादा पानी आ जाता है। बांध के रास्ते में एक मंदिर भी देखने के लिए मिलता है। यह मंदिर शिव भगवान को समर्पित है।

 

देवझार शहडोल – Deojhar Shahdol

देवझार शहडोल का एक प्रमुख प्राकृतिक स्थल (Shahdol Tourist Places) है। यह जगह धार्मिक है। यह जगह समधान नदी के किनारे बनी हुई है। यहां पर एक प्राकृतिक गुफा है, जिसमें शिवलिंग विराजमान है। इस शिवलिंग का जल अभिषेक साल भर होते रहता है। यहां पहाड़ों से एक छोटी सी जलधारा बहती है, जिससे बूंद बूंद पानी शिवलिंग के ऊपर गिरता है। यहां पर बरसात के समय झरना देखने के लिए मिलता है। यह जगह बहुत सुंदर है। यह जगह शहडोल से बाणसागर बांध की तरफ जाने वाले मार्ग में स्थित है।

 

टैगोर गार्डन शहडोल – Tagore Garden Shahdol

टैगोर गार्डन शहडोल का एक प्रमुख स्थान (Shahdol Tourist Places) है। यह गार्डन बहुत बड़ा और बहुत सुंदर है। यह गार्डन मुख्य शहर में नगर पालिका के पास में स्थित है। इस गार्डन में प्रवेश के लिए एंट्री फीस ली जाती है। यहां पर एक बड़ा सा फव्वारा देखने के लिए मिलता है। गार्डन में चारों तरफ पेड़ पौधे लगे हुए हैं। यहां पर झूले लगे हुए हैं, जिसमें बच्चे इंजॉय कर सकते हैं।

 

श्री विराटेश्वरी धाम शहडोल – Shri Virateshwari Dham Shahdol

श्री विराटेश्वरी धाम शहडोल का एक प्रमुख धार्मिक स्थान है। यह मंदिर शिव भगवान जी को समर्पित है। इस मंदिर का डिजाइन बहुत ही सुंदर लगता है। मंदिर के अंदर शिव भगवान जी, और भी प्राचीन प्रतिमाएं देखने के लिए मिलती है। यहां पर राधा कृष्ण जी, हनुमान जी, गणेश जी के दर्शन करने के लिए मिल जाते हैं। यह मंदिर टैगोर गार्डन के पास में स्थित है।

 

सिंहवाहिनी माता मंदिर शहडोल – Singhvahini Mata Temple Shahdol

सिंहवाहिनी माता मंदिर शहडोल का एक प्रसिद्ध धार्मिक स्थान है। यह मंदिर शहडोल जिले के जैतपुर तहसील के चांदपुर गांव में स्थित है। यह मंदिर प्राचीन है। यहां पर माता का भव्य मंदिर बना हुआ है और गर्भगृह में माता की सुंदर प्रतिमा विराजमान है। इस प्रतिमा में माता शेर पर सवार है। इसलिए इन्हें सिंहवाहिनी के नाम से जाना जाता है। नवरात्रि में यहां पर बहुत ज्यादा भीड़ लगती है। बहुत सारे भक्त आकर, माता के दर्शन करते हैं।

इस मंदिर के बारे में कहा जाता है, कि इस मंदिर में विराजमान प्रतिमा कलचुरी कालीन है। इस प्रतिमा को खुदाई के दौरान प्राप्त किया गया है। कहा जाता है, कि यहां पर आकर लोगों की मनोकामनाएं पूरी होती है। इसलिए यहां पर हमेशा भीड़भाड़ रहती है।

 

छोटी तुम्मी और बड़ी तुम्मी शहडोल – Chhoti Tummi and Badi Tummi Shahdol

छोटी तुम्मी और बड़ी तुम्मी शहडोल का एक प्रमुख स्थान (Shahdol Tourist Places) है। यह जगह बहुत सुंदर है और यह पर आपको सुंदर पर्वत श्रंखला देखने के लिए मिलती है। यहां पर व्यूप्वाइंट बनाया गया है, जहां से आप दूर तक फैले जंगल को देख सकते हैं। यह जगह शहडोल से करीब 40 किलोमीटर दूर है। यहां पर बाइक से और कार से पहुंच सकते हैं। इस जगह में आने के लिए सड़क माध्यम उपलब्ध है।

यहां पर साल, तेंदू, महुआ और भी बहुत सारे पेड़ पौधे जंगल में देखने के लिए मिलते हैं। बरसात के समय, यहां पर जलप्रपात भी देखने के लिए मिलता है। यहां पर आने का रास्ता भी बहुत सुंदर है।

 

झरिया नाला शहडोल – Jharia Nala Shahdol

झरिया नाला शहडोल में स्थित एक सुंदर उद्यान है। यह एक इको टूरिज्म पॉइंट है। इस जगह को अच्छी तरह डिवेलप किया गया है। यहां पर छोटा सा तालाब भी देखने के लिए मिलता है, जिसमें कमल के फूल लगे हुए हैं। यहां चारों तरफ हरियाली है और यहां पर व्यूप्वाइंट बनाया गया है, जहां से दूर तक का जंगल का दृश्य देख सकते हैं। यह जगह मुख्य हाईवे सड़क पर स्थित है। इसलिए यहां पर पहुंचना भी आसान है। आप यहां पर बाइक और कार से पहुंच सकते हैं। यहां पर एंट्री के लिए फीस लिया जाता है।

 

लखवारिया गुफा शहडोल – Lakhwaria Cave Shahdol

लखवारिया गुफा शहडोल का एक प्रमुख स्थान (Shahdol Tourist Places) है। यहां पर प्राचीन गुफाएं देखने के लिए मिलती है। यह गुफाएं बड़ी-बड़ी चट्टानों को काटकर बनाई गई है। इन गुफाओं के बारे में कहा जाता है, कि यहां पर आदिमानव रहा करते थे। कुछ लोग इस जगह को धार्मिक मान्यताओं से भी जोड़ते हैं और इस जगह के बारे में कहते हैं, कि यहां पर प्राचीन काल में पांडव अपने अज्ञातवास के दौरान निवास किया करते थे। यह गुफाएं शहडोल जिले के कोइलाहा गांव में स्थित है। इस गुफा के पास में एक सुंदर जलाशय बना हुआ है।

 

मां काली मंदिर शहडोल – Maa Kali Temple Shahdol

मां काली मंदिर शहडोल जिले के सिंघपुर गांव में स्थित है। यह मंदिर प्राचीन है। इस मंदिर की दीवारों पर सुंदर नक्काशी देखने के लिए मिलती है। यहां पर काली माता, शारदा माता, चामुंडा माता के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यहां पर एक तालाब भी बना हुआ है। यह मंदिर कलचुरी कालीन है। इस मंदिर के बारे में कहा जाता है, कि यहां पर लोगों की मनोकामना पूरी होती है।

इस मंदिर के प्रवेश द्वार में सुंदर नक्काशी देखने के लिए मिलती है। यह मंदिर 10वीं शताब्दी में बनाया गया था। यह शहडोल से करीब 12 किलोमीटर दूर है।

यह भी पढ़े :- मंदसौर जिले के प्रमुख पर्यटन स्थल

श्री चीपाधा नाथ धाम शहडोल – Shri Chipadha Nath Dham Shahdol

श्री चीपाधा नाथ धाम शहडोल का एक प्रमुख मंदिर है। यह मंदिर हनुमान जी को समर्पित है। इस मंदिर में, जो हनुमान जी की प्रतिमा है। वह बहुत ही अद्भुत है। इस प्रतिमा के बारे में कहा जाता है, कि यह प्रतिमा धरती से स्वयं प्रकट हुई है। यह मंदिर शहडोल के ब्योहारी में स्थित है। इस मंदिर में हनुमान जयंती के समय बहुत सारे लोग आते हैं। यहां पर कार और बाइक से पहुंचा जा सकता है।

 

गोदावल महादेव मंदिर शहडोल – Godawal Mahadev Temple Shahdol

गोदावल महादेव मंदिर शहडोल का एक प्रसिद्ध मंदिर है। यह मंदिर शिव भगवान जी को समर्पित है। यह मंदिर एक ऊंची पहाड़ी पर बना हुआ है। इस मंदिर में शिव भगवान जी की प्रतिमा लेटी हुई अवस्था में देखने के लिए मिलती है। मंदिर परिसर में और भी बहुत सारे मंदिर बने हुए हैं। यहां पर मकर संक्रांति के समय बहुत विशाल मेला लगता है। यह मंदिर शहडोल जिले के बोहरी में स्थित है।

यह भी पढ़े :- पचमढ़ी के 22 प्रमुख दर्शनीय स्थल

शहडोल में घूमने का सबसे अच्छा समय – Best time to visit in Shahdol

शहडोल में घूमने का सबसे अच्छा समय ठंड का रहता है। आप यहां पर ठंड में आकर सभी जगह की सैर कर सकते हैं। शहडोल में घूमने के लिए ढेर सारे पर्यटन स्थल हैं। आप यहां पर ठंड में घूमने के लिए जा सकते हैं।

ठंड का मौसम बहुत ही बढ़िया रहता है और घूमने में किसी भी प्रकार की दिक्कत नहीं होती है। शहडोल में आप अपनी इच्छा अनुसार कभी भी घूमने के लिए आ सकते हैं। मगर यहां पर गर्मी के समय तापमान बहुत ज्यादा रहता है, जिससे यहां पर घूमने में परेशानी होती है।

यह भी पढ़े :- भोपाल के प्रसिद्ध मंदिर

शहडोल कैसे पहुंचे – How to reach Shahdol

शहडोल मध्य प्रदेश का प्रमुख शहर है। शहडोल अन्य शहरों से अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है। शहडोल में आप वायु मार्ग, रेल मार्ग और सड़क मार्ग से पहुंच सकते हैं। चलिए जानते हैं – शहडोल कैसे पहुंचे

 

वायु मार्ग से शहडोल कैसे पहुंचे – How to reach Shahdol by air

वायु मार्ग से शहडोल पहुंचने के लिए, आपको शहडोल के अंदर सबसे नजदीकी हवाई अड्डा जबलपुर आना पड़ेगा। जबलपुर में डुमना एयरपोर्ट बना हुआ है। यह एयरपोर्ट मुख्य शहरों से अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है। यहां पर आप पहले भारत के अन्य राज्यों से वायु मार्ग से जबलपुर आ सकते हैं और उसके बाद सड़क मार्ग द्वारा शहडोल पहुंच सकते हैं।

 

शहडोल में रेल मार्ग द्वारा कैसे पहुंचे – How to reach Shahdol by train

शहडोल में रेल मार्ग द्वारा पहुंचना आसान है। शहडोल में रेलवे स्टेशन है, जो अन्य शहरों से अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है। शहडोल रेलवे स्टेशन कटनी बिलासपुर रेलवे रूट पर बना हुआ है। यहां पर प्रमुख शहरों से डायरेक्ट ट्रेन आती है। यहां पर आप आराम से आ सकते हैं।

 

शहडोल में सड़क मार्ग द्वारा कैसे पहुंचे – How to reach Shahdol by road

शहडोल में आप सड़क मार्ग से आसानी से आ सकते हैं। शहडोल में हाईवे रोड गुजरती है, जिसके द्वारा आप यहां पर आसानी से आ सकते हैं। शहडोल में आप सभी प्रमुख शहरों जैसे कटनी, रीवा, मैहर, उमरिया, अमरकंटक, डिंडोरी जैसे शहरों से डायरेक्ट आ सकते हैं। यहां पर बस सेवा उपलब्ध है। यहां पर आप बस से आसानी से आ सकते हैं।

यह भी पढ़े :- सतना जिले के दर्शनीय स्थल

 

यह लेख आपकी जानकारी के लिए लिखा गया है, अगर आपको अच्छा लगे, तो इसे शेयर जरूर करें।

Leave a Comment