सागर में घूमने की 21 जगह – Sagar Tourist Places in hindi

सागर मध्य मध्य प्रदेश राज्य का एक जिला है। सागर में घूमने के लिए (Sagar Tourist Places) बहुत सारी जगह है, जहां पर जाकर आप अच्छा समय बिता सकते हैं। यह शहर राज्य की राजधानी भोपाल से लगभग 180 किमी दूर है। सागर एक सुंदर शहर है।  सागर प्राचीन समय में अहीर राजाओं के शासन में था और इसकी राजधानी गढ़पहरा में थी। 1660 में, उदेनशाह ने सागर के वर्तमान शहर की स्थापना की। सागर का पुराना नाम सौगोर गया था।

Table of Contents

 

सागर में घूमने की जगह – Sagar Tourist Places in hindi

सागर मध्य प्रदेश का एक सुंदर शहर है। सागर शहर में बहुत सारे ऐतिहासिक, धार्मिक और प्राकृतिक स्थल है, जहां की सैर आप कर सकते हैं। यहां पर आप अच्छा समय बिता सकते हैं। यहां पर आप अपनी फैमिली और दोस्तों के साथ जाकर घूम सकते हैं। आज इस ब्लॉग में हम आपको सागर के प्रमुख पर्यटन स्थल और दर्शनीय स्थलों के बारे में जानकारी देंगे।

 

सागर के दर्शनीय और पर्यटन स्थलों की सूची – List of scenic and tourist places of Sagar

  1. लाखा बंजारा झील सागर
  2. बया इको पार्क सागर
  3. राहतगढ़ जलप्रपात सागर
  4. राहतगढ़ का किला सागर
  5. रमना इको टूरिज्म पार्क सागर
  6. गौरझामर का किला सागर
  7. प्राचीन आबचंद गुफाएं सागर
  8. गढ़ापहरा किला सागर
  9. खुरई का किला सागर
  10. डोहेला मंदिर खुरई सागर
  11. खुरई झील सागर
  12. एरण सागर
  13. हरसिद्धि माता का मंदिर रानगिर सागर
  14. खिमलासा का किला सागर
  15. राजघाट बांध सागर
  16. टिकीटोरिया तीर्थ स्थल या दुर्गा मंदिर सागर
  17. लक्ष्मी नारायण मंदिर रहली सागर
  18. पंढरीनाथ मंदिर सागर
  19. नौरादेही वन्यजीव अभ्यारण सागर
  20. पगारा बांध एवं जलप्रपात सागर
  21. धमोनी का किला सागर

 

सागर में घूमने की लायक जगह – Sagar Tourist Places

 

लाखा बंजारा झील सागर – Lakha Banjara Lake Sagar

लाखा बंजारा झील सागर सागर शहर का प्रमुख पर्यटन स्थल है। लाखा बंजारा जय मुख्य सागर शहर में स्थित है। यह झील बहुत बड़े एरिया में फैली हुई है। यह झील बहुत खूबसूरत है। इस झील के किनारे बहुत सारे दर्शनीय स्थल हैं, जहां पर आप घूम सकते हैं।

लाखा बंजारा झील के चारों तरफ सागर शहर बसा हुआ है। इस झील का निर्माण लाखा बंजारा नाम के एक व्यापारी ने किया था। इस झील को लेकर एक प्राचीन कहानी प्रसिद्ध है। इस झील में बोटिंग का मजा ले सकते हैं। यहां पर बहुत सारी गतिविधियां होती हैं। इस झील को सागर तालाब भी कहा जाता है।

 

लाखा बंजारा झील के आसपास घूमने के अन्य जगह

  • संजय ड्राइव ब्रिज
  • गंगा मंदिर
  • चकरा घाट
  • लाखा बंजारा पार्क उद्यान
  • श्री हनुमान मंदिर
  • डा राम मनोहर लोहिया उद्यान
  • अटल पार्क
  • सागर म्यूजियम
  • सागर किला

 

बया इको पार्क सागर – Baya Eco Park Sagar

बया इको पार्क सागर शहर में स्थित एक प्राकृतिक पर्यटन स्थल है। यह पर मुख्य रूप से बया पक्षी के कारण प्रसिद्ध है। बया एक पक्षी रहता है, जो अपना घोंसला एक अनोखी प्रकार से बनाता है। इसका घोंसला देखने में बहुत ही सुंदर लगता है।

यह पार्क सागर में डॉ हरिसिंह गौर विश्वविद्यालय के पास में स्थित है। आप यहां पर आसानी से आ सकते हैं और इस पार्क में घूम सकते हैं। इस पार्क में बहुत सारी गतिविधियां होती है जैसे हॉर्स राइडिंग, तीरंदाजी आदि। यहां पर रुकने की व्यवस्था है। यहां पर एक रिसॉर्ट है, जहां पर सभी प्रकार की सुविधा उपलब्ध है। आप यहां रात में रुक सकते हैं। यह पार्क सागर जिले के पथरिया जाट में स्थित है। यह जगह चारों तरफ से पहाड़ियों से घिरी हुई है।

 

राहतगढ़ जलप्रपात सागर – Rahatgarh Falls Sagar

राहतगढ़ जलप्रपात सागर जिले का एक प्राकृतिक पर्यटन स्थल है। राहतगढ़ जलप्रपात को भालकुंड जलप्रपात के नाम से भी जाना जाता है। यह जलप्रपात बीना नदी पर बना हुआ है। यह जलप्रपात सागर जिले की राहतगढ़ तहसील में स्थित है। यह जलप्रपात घने जंगल के अंदर बना हुआ है। यहां पर आप घूमने के लिए आ सकते हैं। यहां पर आप अपनी बाइक और कार से पहुंच सकते हैं।

राहतगढ़ जलप्रपात बहुत सुंदर है। यह जलप्रपात बरसात के समय आपको देखने के लिए मिल जाता है। यह घने जंगल के बीच में स्थित है। इस जलप्रपात में जाने के लिए कच्चा रास्ता है। जलप्रपात के पास व्यूप्वाइंट बना हुआ है, जहां से आप जलप्रपात को देख सकते हैं।

 

राहतगढ़ का किला सागर – Rahatgarh Fort Sagar

राहतगढ़ का किला सागर शहर का एक ऐतिहासिक स्थल है। यह एक प्राचीन किला है। यह किला सागर जिले की राहतगढ़ तहसील में स्थित है। इस किले तक पहुंचने के लिए सड़क मार्ग उपलब्ध है। इस किले में आप बाइक और कार से जा सकते हैं। किले के पास का कुछ रास्ता, थोड़ा उबड़ खाबड़ है। मगर यहां पर बाइक और कार से जा सकते हैं।

राहतगढ़ किला खंडहर अवस्था में यहां पर मौजूद है। इस किले में देखने के लिए बहुत सारी जगह है। इस किले में आपको एक कुंड देखने के लिए मिलता है, जो प्राचीन है। यहां पर फांसी घर भी देख सकते हैं, जहां पर लोगों को फांसी दी जाती थी। यहां पर रंग महल देखने के लिए मिल जाता है। इस किले से राहतगढ़ सिटी का बहुत ही सुंदर दृश्य देखने के लिए मिलता है। इस किले से बीना नदी का भी सुंदर दृश्य देखा जा सकता है।

 

रमना इको टूरिज्म पार्क सागर – Ramana Eco Tourism Park Sagar

रमना इको टूरिज्म पार्क सागर में स्थित एक प्रमुख पर्यटन स्थल है। यह एक सुंदर गार्डन है। यहां पर बहुत सारी गतिविधियां होती है, जिसमें आप मजे ले सकते हैं। यहां पर जिपलाइन, हॉर्स राइडिंग जैसी गतिविधियां होती है। यह जगह जंगल से चारों तरफ से घिरी हुई है। यहां पर आपको पुराना किला भी देखने के लिए मिलता है। यहां पर बावड़ी भी देखने के लिए मिलती है। रमना इको टूरिज्म पार्क सागर जिले में गढ़ाकोटा तहसील में स्थित है।

 

गौरझामर का किला सागर – Gourjhamar Fort Sagar

गौरझामर का किला सागर का एक ऐतिहासिक स्थल है। यह एक प्राचीन किला है। यह किला अब खंडहर अवस्था में यहां पर मौजूद है। यह किला सागर जिले के गौरझामर में स्थित है। आप इस किले में घूमने के लिए आ सकते हैं। इस किले में गोंड राजाओं का शासन हुआ करता था। इस कारण यहां का नाम गौरझामर पड़ा। इस किले में बहुत सारे प्राचीन स्थल देखने के लिए मिलते हैं। यहां पर रानी के स्नान का स्थल देखा जा सकता है। यहां पर एक गुप्त सुरंग बनी हुई है। यह किला ईट और चूने से बना हुआ है। किले के चारों कोने पर गोल बुर्ज बने हुए हैं।

 

प्राचीन आबचंद गुफाएं सागर – Ancient Abachand Caves Sagar

प्राचीन आबचंद गुफाएं सागर जिले का एक दर्शनीय स्थल है। यह स्थान प्राकृतिक सुंदरता से घिरा हुआ है। ये जगह बहुत खूबसूरत है। यहां पर आपको प्राचीन मंदिर, नदी, पहाड़, झरना और जंगल का दृश्य देखने के लिए मिलता है। यहां पर प्राचीन गुफाएं देखने के लिए मिलती हैं, जो आदिमानव के समय की है।

इन गुफाओं के बारे में कहा जाता है कि यहां पर आदिमानव रहा करते थे। यहां पर आपको रॉक पेंटिंग देखने के लिए मिल जाती है। यहां पर पांच गुफाएं हैं। इनमें से कुछ गुफाओं में आप जा सकते हैं। यहां पर हनुमान जी का मंदिर बना हुआ है। आप यहां पर हनुमान जी के दर्शन कर सकते हैं। यहां पर नदी बहती है, जो बहुत सुंदर लगती है। यहां पर ढेर सारे बंदर भी हैं। यह गुफाएं सागर जिले के गढ़कोटा तहसील में स्थित है। यहां यह गुफाएं जंगल के बीच में स्थित है। यहां पर आप प्राकृतिक नजारे भी देख सकते हैं।

 

गढ़पहरा किला सागर – Gadapahra Fort Sagar

गढ़पहरा किला सागर में स्थित एक ऐतिहासिक स्थल है। यह किला प्राचीन है। यह किला सागर जिले में राष्ट्रीय राजमार्ग 26 में स्थित है। यह किला सागर झांसी हाईवे मार्ग पर बना हुआ है। यह किला सागर जिले से 6 किलोमीटर दूर है। यहां पर आप आसानी से आ सकते हैं। यहां पर आपको सबसे पहले हनुमान जी का मंदिर देखने के लिए मिलता है। यह मंदिर बहुत प्रसिद्ध है। इस मंदिर में हनुमान जी के दर्शन करने लिए मिलते हैं। यहां पर आपको ढेर सारे बंदर भी देखने के लिए मिलते हैं। आप इन्हें चने का प्रसाद खिला सकते हैं।

हनुमान मंदिर के पीछे यहां पर गढ़पहरा का किला बना हुआ है। यह किला अब यहां पर खंडहर अवस्था में मौजूद है। यह किला एक ऊंची पहाड़ी पर बना हुआ है और बहुत सुंदर लगता है। यह किला गोंड राजा संग्राम सिंह के द्वारा बनवाया गया था। आपको इस किले से सूर्यास्त का बहुत खूबसूरत दृश्य देखने के लिए मिल जाता है। गढ़पहरा किला में रानी महल है जो बहुत खूबसूरत है। आप यहां घूमने के लिए आ सकता है।

 

खुरई का किला सागर – Khurai Fort Sagar

खुरई का किला सागर शहर का एक ऐतिहासिक स्थल है। यह एक प्राचीन किला है। यह किला सागर जिले की खुरई तहसील में स्थित है। इस किले में आप आसानी से आ सकते हैं। यह किला बहुत ही सुंदर है।  यह किला बहुत अच्छी हालत में है। इसका गवर्नमेंट प्रबंधन अच्छी तरह से कर रही है। किले में आपको प्रवेश द्वार और बुर्ज देखने के लिए मिलता है। इस किले के अंदर खूबसूरत गार्डन है। अगर आप खुरई आना होता है, तो आप इस किले को जरूर देखें।

 

दोहेला मंदिर खुरई सागर – Dohela Temple Khurai Sagar

दोहेला मंदिर सागर शहर में स्थित धार्मिक स्थल है। यह मंदिर शिव भगवान जी को समर्पित है। यह मंदिर झील में बना हुआ है। यह मंदिर देखने में बहुत ही सुंदर लगता है। झील में बहुत सारी मछलियां हैं। यह मंदिर सागर जिले की खुरई में स्थित है।

 

खुरई झील सागर – Khurai Lake Sagar

खुरई झील सागर शहर में स्थित एक मुख्य स्थल है। यह झील सागर की खुरई तहसील में स्थित है। यह झील बहुत बड़े एरिया में फैली हुई है। इस झील को राधाकुंड भी कहा जाता है। इस झील के बीच में सुंदर मंदिर पर बना हुआ है। इस झील के किनारे पर गार्डन बना हुआ है। इस गार्डन स्वर्गीय ठाकुर श्री महेंद्र प्रताप सिंह के नाम पर गार्डन का नाम रखा गया है। यह गार्डन बहुत ही सुंदर है और इसमें तरह-तरह के झूले लगे हुए हैं। इसमें टॉय ट्रेन भी है। आप यहां पर आ कर घूम सकते हैं।

 

एरण सागर – Eran Sagar

एरण सागर जिले का एक मुख्य पर्यटन स्थल है। ये जगह ऐतिहासिक मान्यता रखता है। यहां पर आपको एक मंदिर देखने के लिए मिलता है। यह मंदिर बहुत ही प्राचीन है। यह मंदिर विष्णु भगवान को समर्पित है। इस मंदिर में आपको विष्णु भगवान की वराह अवतार की 10 फीट ऊंची प्रतिमा देखने के लिए मिलती है। इस पूरी प्रतिमा में देवी देवताओं की प्रतिमा को उकेरा गया है।

यहां पर आपको विष्णु भगवान के नरसिंह अवतार की प्रतिमा भी देखने के लिए मिलती है। यहां पर आपको एक प्राचीन स्तंभ भी देखने के लिए मिलता है। यहां पर बहुत सारी खंडित मूर्तियां भी है। ऐरण सागर जिले के बीना तहसील में स्थित है। यह जगह बीना नदी के किनारे है। आप यहां घूमने के लिए आ सकते हैं। यह जगह चारों तरफ से खेत और पेड़ पौधों से घिरी हुई है। यहां पर पहुंचने के लिए सड़क थोड़ी खराब है। यहां पर आकर आपको अच्छा लगेगा।

 

हरसिद्धि माता का मंदिर रानगिर सागर – Harsiddhi Mata Temple Rangir Sagar

हरसिद्धि माता का मंदिर सागर का एक धार्मिक स्थल है। यह मंदिर दूर-दूर तक प्रसिद्ध है। यहां पर ढेर सारे लोग माता के दर्शन करने के लिए आते हैं। यह मंदिर घने जंगल के अंदर बना हुआ है। यह मंदिर हरसिद्धि माता को समर्पित है। इस मंदिर के मुख्य गर्भगृह में माता हरसिद्धि की बहुत सुंदर प्रतिमा देखने के लिए मिलती है। यह मंदिर सुनार नदी के किनारे बना हुआ है। यह मंदिर बहुत ही सुंदर है।

हरसिद्धि माता मंदिर सागर जिले के रानीगिर में स्थित है। यह मंदिर जंगल के बीच में स्थित है। मंदिर के किनारे सुनार नदी बहती है। इस नदी में जाने के लिए सीढ़ियां हैं। आप यहां पर नहाने का मजा भी ले सकते हैं। यहां पर आपको प्राकृतिक दृश्य देखने के लिए मिलते हैं। यहां पर बंदर भी हैं। आप इस जगह में घूमने के लिए आ सकते हैं। यहां का वातावरण बहुत शांत और मनोरम है। यहां पर जाकर शांति का अनुभव होता है। आप यहां पर अच्छा समय बिता सकते हैं। यहां पर नवरात्रि के समय मेले का आयोजन होता है, जिसमें काफी संख्या में लोग भाग लेते हैं।

 

खिमलासा किला सागर – Khimlasa Fort Sagar

खिमलासा किला सागर सागर का एक ऐतिहासिक स्थल है। यह एक प्राचीन किला है। यह किला खंडहर में बदलते जा रहा है। यह किला सागर जिले की खुरई तहसील में स्थित है। इस किला में आपको एक बावड़ी देखने के लिए मिलती है। बावड़ी में नीचे उतरने के लिए सीढ़ियां भी है। आपको इस किले में खूबसूरत मूर्तिकला भी देखने के लिए मिलती है। आप इस किले में घूमने के लिए आ सकते हैं।

 

राजघाट बांध सागर – Rajghat Dam Sagar

राजघाट बांध सागर का एक मुख्य पर्यटन स्थल है। यह एक सुंदर जलाशय है। इस जलाशय का दृश्य बरसात के समय बहुत  सुंदर लगता है, क्योंकि जलाशय पूरी तरह पानी से भर जाता है और इसका पानी ओवरफ्लो होता है, तो यहां पर एक झरना बनता है, जो सुंदर दिखता है। आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं।

राजघाट बांध सागर मुख्य शहर से दूर है। यह बांध सागर जैसीनगर मार्ग में स्थित है। यह मुख्य हाईवे सड़क से करीब एक किलोमीटर दूर है। इस बांध तक जाने के लिए कच्ची सड़क उपलब्ध है। आप यहां पर आराम से जा सकते हैं। यह सागर का एक पिकनिक स्पॉट है। यहां पर आप अपनी फैमिली और दोस्तों के साथ पिकनिक बना सकते हैं। आप यहां पर शाम के समय जाकर सूर्यास्त का सुंदर दृश्य देख सकते हैं। यह बांध सागर को पीने का पानी उपलब्ध कराता है। यहां पर आकर अच्छा लगता है।

 

टिकीटोरिया तीर्थ स्थल सागर – Tikitoria Pilgrimage Place Sagar

टिकीटोरिया तीर्थ  स्थल सागर शहर का एक धार्मिक स्थल है। यह तीर्थ स्थल दुर्गा माता जी को समर्पित है। यह मंदिर सागर जिले के रहली तहसील में स्थित है। यह मंदिर सागर जबलपुर हाईवे सड़क पर बना हुआ है। आप यहां पर आसानी से आ सकते हैं।

यह मंदिर एक ऊंची पहाड़ी पर स्थित है और मंदिर में जाने के लिए सीढ़ियां बनी हुई है। मंदिर में आपको दुर्गा जी की भव्य प्रतिमा देखने के लिए मिलेगी। यहां पर नौ देवियों की स्थापना की गई है। यहां पर आपको पंचमुखी हनुमान जी की प्रतिमा देखने के लिए मिल जाती है। यहां पर नवरात्रि में बहुत सारे भक्त माता के दर्शन करने के लिए आते हैं।

 

लक्ष्मी नारायण मंदिर रहली सागर – Lakshmi Narayan Temple Rehali Sagar

लक्ष्मी नारायण मंदिर सागर जिले का एक ऐतिहासिक स्थल है। यह मंदिर प्राचीन है। यह मंदिर मुख्य रहली तहसील में बना हुआ है। आप यहां पर आराम से जा सकते हैं। यह मंदिर प्राचीन है। यह मंदिर बहुत सुंदर है। यह मंदिर शिव भगवान जी को समर्पित है। आप इस मंदिर में घूमने के लिए आ सकते हैं।

 

पंढरीनाथ मंदिर सागर – Pandharinath Temple Sagar

पंढरीनाथ मंदिर सागर शहर में स्थित एक धार्मिक स्थल है। यह मंदिर सागर जिले की रहली तहसील में स्थित है। यह मंदिर मराठा वास्तुकला में बना हुआ है। यह मंदिर विट्ठल भगवान जी को समर्पित है। मंदिर में विट्ठल भगवान की बहुत ही आकर्षक प्रतिमा विराजमान है। यह मंदिर प्राचीन है। यह मंदिर करीब 200 साल पुराना है। आप इस मंदिर में जाकर घूम सकते हैं।

 

नौरादेही वन्यजीव अभयारण्य सागर – Nauradehi Wildlife Sanctuary Sagar

नोरादेही वन्य जीव अभ्यारण सागर जिले का एक मुख्य पर्यटन स्थल है। यह अभ्यारण सागर जिले की रहली तहसील में स्थित है। यह अभ्यारण जबलपुर सागर हाईवे रोड पर स्थित है। इस अभ्यारण में आप आसानी से आ सकते हैं। इस अभ्यारण में आप अपने बाइक और कार से यात्रा कर सकते हैं। यहां पर आपको गाइड की सुविधा मिलती है। यहां पर आपको सफारी की सुविधा मिलती है। यह अभ्यारण बहुत बड़े एरिया में फैला हुआ है।

इस अभ्यारण में आपको जंगली जानवर एवं पेड़ पौधों के दृश्य देखने के लिए मिलते हैं। आप यहां पर आकर घूम सकते हैं। यहां पर आपको हिरण, नीलगाय, सांभर, लोमड़ी, चीतल देखने के लिए मिल जाते हैं। नौरादेही अभ्यारण जबलपुर नरसिंहपुर और सागर जिले में फैला हुआ है। इस अभ्यारण में आपको बाघ भी देखने के लिए मिल जाता है।  यहां पर बरसात के समय हरियाली देखने के लिए मिलती है। यहां पर खूबसूरत घाटियां और पहाड़ी भी देखने मिलती हैं।

 

पगारा बांध एवं जलप्रपात सागर – Pagara Dam and Waterfall Sagar

पगारा बांध एवं जलप्रपात सागर का एक प्रमुख पर्यटन स्थल है। यहां पर एक सुंदर जलाशय देखने के लिए मिलता है और यहां पर एक झरना भी देखने के लिए मिलता है। यह बांध सागर जिले में पगारा नाम की जगह पर स्थित है। आप यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। यहां पर बरसात के समय आपको झरना देखने के लिए मिलता है।

 

धमोनी का किला सागर – Dhamoni Fort Sagar

धमोनी का किला सागर में स्थित एक ऐतिहासिक किला है। यह सागर में घूमने का एक छुपा हुआ स्थान है। यह स्थान बहुत शांतिपूर्ण है। यह जगह ऐतिहासिक रूप से महत्वपूर्ण है। यह किला बहुत ही प्राचीन है। यह किला सागर जिले में धामोनी गांव के पास में स्थित है। यह किला मध्य प्रदेश और उत्तर प्रदेश बॉर्डर एरिया में बना हुआ है। इस किले में आने के लिए सड़क उपलब्ध है। यहां पर आप  अपने वाहन से आ सकते हैं।

धामोनी का किला सुरक्षा को देखकर बहुत ही अच्छी तरह डिजाइन किया गया है। इस किले एक तरफ गहरी खाई देखने के लिए मिलती है। यह किला चारों तरफ ऊंची ऊंची दीवारों से घिरा हुआ है। यह किला ऊंची पहाड़ी पर बनाया गया है। यह किला 17 वी शताब्दी में बुंदेला राजा वीर सिंह के द्वारा बनाया गया था। किले के अंदर आपको बहुत सारे मस्जिद , मजार और मंदिर देखने के लिए मिल जाते हैं। इस किले में आपको रंग महल और बावड़ी देखने के लिए भी मिलती है। इस किले में यात्रा के लिए आप बरसात के समय और ठंड के समय आ सकते हैं। गर्मी में यहां पर आने में परेशानी हो सकती है।

यह भी पढ़े :- 15 मैहर के प्रमुख दर्शनीय और पर्यटन स्थल

सागर कैसे पहुंचे – How to reach Sagar

सागर मध्य प्रदेश का प्रमुख शहर है। सागर पहुंचने के लिए परिवहन के साधन उपलब्ध है। सागर में आप वायु मार्ग, रेल मार्ग और सड़क मार्ग से पहुंच सकते हैं।

 

सागर से वायु मार्ग से कैसे पहुंचे – How to reach Sagar by Air

सागर से वायु मार्ग से पहुंचना आसान है। सागर का निकटतम हवाई अड्डा जबलपुर में है। जबलपुर में डुमना हवाई अड्डा बना हुआ है। जबलपुर सागर से 100 किलोमीटर दूर है। आप जबलपुर आ सकते हैं और उसके बाद सागर पहुंच सकते हैं।

 

सागर में रेल मार्ग द्वारा कैसे पहुंचे – How to reach Sagar by Rail

सागर में रेल मार्ग द्वारा पहुंचना आसान है। सागर में रेलवे स्टेशन बना हुआ है, जो मध्य प्रदेश के प्रमुख शहरों से अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है। यहां पर आप आराम से अन्य शहरों से ट्रेन मार्ग से आ सकते हैं।

 

सागर में सड़क मार्ग द्वारा कैसे पहुंचे – How to reach Sagar by Road

सागर में सड़क मार्ग द्वारा आसानी से पहुंचा जा सकता है। सागर मध्य प्रदेश का प्रमुख शहर है। यह अन्य शहरों से सड़क मार्ग द्वारा अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है, जिससे सागर पहुंचने में आसानी होती है। सागर में आप बस के द्वारा आ सकते हैं। यहां पर सभी प्रमुख शहरों से डायरेक्ट बस सेवा उपलब्ध है।

सागर टूरिस्ट प्लेसेस (Sagar Tourist Places) बहुत सुंदर है। इन सभी टूरिस्ट स्थल में आकर आप अच्छा समय बिता सकते हैं। सागर टूरिस्ट प्लेस (Sagar Tourist Places) की खूबसूरती देखने लायक है। आप यहां पर आकर अच्छा समय बिता सकते हैं।

यह भी पढ़े :- रूपनाथ शिव मंदिर कटनी

अगर आपको यह जानकारी अच्छी लगी हो, तो आप आगे भी शेयर करें।

Leave a Comment