गोविंद बल्लभ पंत सागर या रिहंद बांध उत्तर प्रदेश – Rihand Dam Uttar Pradesh

भारत की सबसे बड़ी कृत्रिम झील – गोविंद बल्लभ पंत सागर या रिहंद बांध

गोविंद बल्लभ पंत सागर या रिहंद बांध (Rihand Dam) भारत की सबसे बड़ी कृत्रिम झील है। रिहंद बांध (Rihand Dam) भारत के उत्तर प्रदेश जिले में स्थित है। यह उत्तर प्रदेश का एक बहुउद्देशीय परियोजना है। रिहंद बांध (Rihand Dam) पर्यटन की दृष्टि से महत्वपूर्ण स्थान है। रिहंद बांध उत्तर प्रदेश के सोनभद्र जिले में स्थित है। इस बांध में आप घूमने के लिए आ सकते हैं।

Table of Contents

गोविंद बल्लभ पंत सागर या रिहंद बांध सोनभद्र उत्तर प्रदेश – Govind Ballabh Pant Sagar or Rihand Dam Sonbhadra Uttar Pradesh

रिहंद बांध सोनभद्र जिले का एक मुख्य पर्यटन स्थल है। यह सोनभद्र जिले का  पिकनिक के लिए एक बहुत ही बढ़िया जगह है। रिहंद बांध को गोविंद बल्लभ पंत सागर परियोजना के नाम से भी जाना जाता है। यह बांध भारत की सबसे बड़ी मानव निर्मित झील है। रिहंद बांध सोनभद्र जिले में स्थित है। रिहंद बांध उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश के बॉर्डर में स्थित है। रिहंद बांध का फैलाव उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ जिले में है। रिहंद बांध उत्तर प्रदेश के सोनभद्र जिले और मध्य प्रदेश के सिंगरौली जिले तक फैला हुआ है।

रिहंद बांध प्राकृतिक प्रेमियों के लिए एक सुंदर जगह है। यहां पर प्राकृतिक प्रेमी आकर आस-पास के क्षेत्र की विविध वनस्पतियों और जंगली जीवों को देख सकते हैं। बांध के चारों तरफ हरियाली है। यह सोनभद्र के पास पिकनिक के लिए एक परफेक्ट जगह है। रिहंद बांध में जल आधारित एडवेंचर गतिविधियों का आयोजन भी होता है।

रिहंद बांध सोनभद्र जिले के रेणुकूट के पास में स्थित है। रिहंद बांध पिपरी की पहाड़ियों के बीच बना हुआ है। यहां पर चारों तरफ पहाड़ का दृश्य बहुत सुंदर है। इस बांध में आप बरसात के समय घूमने के लिए आ सकते हैं। इस बांध का बरसात के समय बहुत ही सुंदर दृश्य देखने के लिए मिलता है। जब बरसात के समय इस बांध का पानी ओवरफ्लो होकर बहता है, तब यह बहुत ही आकर्षक लगता है। यह बांध बहुत ही विशाल है।

अगर आप रिहंद बांध के अंदरूनी भाग में घूमना चाहते हैं तो इसके लिए आपको परमिशन लेनी पड़ती है। परमिशन लेने के बाद आप रिहंद बांध के अंदरूनी क्षेत्र में प्रवेश कर सकते हैं और इसके सभी हिस्सों को देख सकते हैं। इस बांध में बहुत कड़ी सुरक्षा की व्यवस्था की गई है। यहां पर आप बांध के अंदर नहीं जा सकते हैं।

रिहंद बांध के चारों तरफ खूबसूरत पहाड़ियां और जंगल का दृश्य देखने के लिए मिलता है। यह बांध चारों तरफ से हरियाली से घिरा हुआ है। रिहंद बांध के आसपास बहुत सारी जगह है, जहां पर आप घूम सकते हैं। रिहंद बांध के पास में ही जल विद्युत गृह बना हुआ है।

रिहंद बांध के ठीक सामने रिहंद बांध पुल बना हुआ है, जहां से आप रिहंद बांध के गेट का दृश्य देख सकते हैं। यहां पर रिहंद नदी का नजारा भी देखने लायक रहता है। रिहंद बांध में 13 गेट है। बरसात के समय में इस बांध में जब पानी ओवरफ्लो होता है, तो रिहंद बांध (Rihand Dam) के गेट खोले जाते हैं। इस दृश्य को देखने के लिए लोग आते है।

रिहंद बांध एक बहुउद्देशीय परियोजना है। रिहंद बांध के द्वारा उत्तर प्रदेश के बहुत सारे जिलों में पानी की व्यवस्था की जाती है। यह बांध बहुत से गांव में खेती के लिए पानी उपलब्ध कराता है, जिससे कृषि को बढ़ावा मिलता है। इस बांध के पास में जल विद्युत गृह बनाया गया है, जो बिजली का उत्पादन करता है, जिससे उत्तर प्रदेश के कई क्षेत्रों में बिजली भेजी जाती है।

गोविंद बल्लभ पंत सागर जलाशय की जलग्रहण क्षमता 8600 एकड़ वर्ग फीट है। इस डैम की जलभराव क्षमता 870 फीट है। डैम का जलस्तर बढ़ने पर डैम के गेट खोले जाते हैं, जिससे डैम का पानी ओबरा डैम में छोड़ दिया जाता है। ओबरा डैम में पानी अधिक होने पर, यह पानी आगे छोड़ दिया जाता है, जो सोन नदी में मिलता है।

रिहंद बांध दया गोविंद बल्लभ पंत सागर एक प्रमुख दर्शनीय स्थल है और यहां पर बरसात के समय बहुत सारे लोग आते हैं और अच्छा समय व्यतीत करते हैं। गोविंद बल्लभ पंत सागर डैम के आस-पास भी बहुत सारी जगह है, जहां पर लोग घूमने के लिए जाते हैं। बरसात के समय यह जगह हरियाली से घिरी हुई रहती है, जिससे यहां पर आकर अच्छा लगता है। आप यहां पर आकर सूर्यास्त का सुंदर दृश्य देख सकते हैं।

यह भी पढ़े :- देवगढ़ का किला छिंदवाड़ा

रिहंद डैम या गोविंद बल्लभ पंत सागर जलाशय का जल विद्युत गृह – Rihand Dam or Govind Ballabh Pant Sagar Reservoir Hydropower House

रिहंद डैम या गोविंद बल्लभ पंत सागर में बिजली उत्पादन के लिए जल विद्युत गृह बनाया गया है। यह रिहंद बांध के पास में ही बना हुआ है। इस विद्युत गृह पर बिजली उत्पादन के लिए छह टरबाइनों की स्थापना की गई है। एक टरबाइन 50 मेगावाट बिजली उत्पादन करने की क्षमता रखती है। यहां पर 6 टरबाइन के द्वारा 300 मेगावाट बिजली का उत्पादन किया जाता है।

 

गोविंद बल्लभ पंत सागर बांध या रिहंद बांध किस नदी पर बना हुआ है – Govind Ballabh Pant Sagar Dam or Rihand Dam is on which river?

गोविंद बल्लभ पंत सागर जलाशय रिहंद नदी पर बना हुआ है। रिहन्द नदी को पुराना नाम रेणुका नदी है। रिहन्द नदी का उदगम सरगुजा जिलें की मैनपाट की पहाडियों से हुआ है। रिहन्द नदी सोन नदी की सहायक नदी है। छत्तीसगढ़ में रिहन्द नदी की लम्बाई 145 किलोमीटर है। रिहंद बांध का निर्माण पिपरी के पहाडों  के बीच में बहने वाली रिंहद नदी को बांधकर किया गया था।

यह भी पढ़े :- मदन महल का किला जबलपुर मध्य प्रदेश

रिहंद बांध या गोविंद बल्लभ पंत सागर बांध के बारे में महत्वपूर्ण बातें – Important things about Rihand Dam or Govind Ballabh Pant Sagar Dam

रिहंद बांध एक गुरुत्वाकर्षण बांध है। रिहंद बांध की लंबाई 934.45 मीटर है। बांध की ऊंचाई 91.46 मीटर है। रिहंद बांध (Rihand Dam) में 300 मेगावाट बिजली का उत्पादन किया जाता है। यहां पर 50 मेगावाट की 6 इकाइयां है। रिहंद बांध (Rihand Dam) के तल पर बिजलीघर बना हुआ है।

इस बांध की आधार शिला 13 जुलाई 1954 को देश के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू जी के द्वारा रखी गई थी और रिहंद बांध (Rihand Dam) का उद्घाटन 6 जनवरी 1963 भारत के पहले प्रधान मंत्री प. जवाहर लाल नेहरू ने किया था। इस बांध का जलग्रहण क्षेत्र उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में फैला हुआ है।

 

रिहंद बांध या गोविंद बल्लभ पंत सागर कहां स्थित है – Where is Rihand Dam or Govind Ballabh Pant Sagar located?

रिहंद बांध उत्तर प्रदेश के सोनभद्र जिले में स्थित है। रिहंद बांध सोनभद्र जिले से करीब 70 किलोमीटर दूर है । रिहंद बांध सोनभद्र जिलें के रेणुकूट नगर के पिपरी में स्थित है। और आप इस बांध तक सड़क माध्यम के द्वारा आ सकते हैं। आप अगर सोनभद्र से आते हैं, तो स्टेट हाईवे से आ सकते हैं। यहां पर आप आसानी से आ सकते हैं।

 

रिहंद बांध में कैसे पहुंचे हैं – How to reach Rihand Dam

रिहंद बांध में पहुंचना बहुत ही आसान है। रिहंद बांध में पहुंचने के लिए अच्छी सड़क व्यवस्था है। यहां पर आने के लिए पक्की सड़क व्यवस्था है। रिहंद बांध में जब आप  आते हैं, तो आपको घना जंगल देखने के लिए मिलता है।

रिहंद बांध की तरफ आने के लिए जो रास्ता बना हुआ है, वह बहुत घुमावदार है। यहां पर घुमावदार सड़के हैं, इसलिए आपको गाड़ी संभाल कर चलाने की आवश्यकता होती है। रिहंद बांध में आप बाइक और कार से पहुंच सकते हैं। रिहंद बांध के सामने सड़क बनी हुई है, जहां से आप रिहंद बांध का सुंदर दृश्य देख सकते हैं।

यह भी पढ़े :- सुकमा डुकमा बाँध की पूरी जानकारी

वनदेवी मंदिर, रिहंद डैम – Vandevi Temple, Rihand Dam

वन देवी का मंदिर रिहंद डैम के पास स्थित एक प्रसिद्ध मंदिर है। यह मंदिर रिहंद डैम से करीब 1 किलोमीटर दूर है । वन्देवी का मंदिर रेणुकूट से लगभग 6 किमी की दूरी पर स्थित है और रेणुकुट शक्तिनगर रोड पर बना हुआ है। यह मंदिर वन की देवी वनदेवी को समर्पित है। इस मंदिर के बारे में कहा जाता है, कि यहां पर मांगी गई मुराद पूरी होती है और जिन लोगों की मुराद यहां पर पूरी होती है। वह यहां पर प्रसाद चढ़ाते हैं और भंडारा करवाते हैं।

यह मंदिर अब काफी बड़ा बन गया है। 1958 के समय में यहां पर एक चबूतरा हुआ करता था, जिसमें माता की मूर्ति विराजमान थी। उस समय किसी भक्त ने आकर मनोकामना मांगी और कहा अगर मनोकामना पूरी होती है, तो यहां पर मंदिर का निर्माण कराएगी। फिर उनकी मनोकामना पूरी हो गई है और उन्होंने मंदिर का निर्माण करवाया। धीरे-धीरे यह मंदिर काफी बड़ा हो गया और प्रसिध्द भी हो गया। आप जब भी रिहंद बांध घूमने के लिए आते हैं तो इस मंदिर में आ सकते हैं।

 

FAQ

रिहंद बांध किस नदी पर स्थित है

रिहंद बांध रिहंद नदी पर बना हुआ है।

 

रिहंद बांध परियोजना किस राज्य में बनाई गई है

रिहंद बांध परियोजना उत्तर प्रदेश राज्य में बनाई गई है।

 

रिहंद बांध किस राज्य में है

रिहंद बांध उत्तर प्रदेश राज्य में है।

 

रिहंद बांध किस जिले में है

रिहंद बांध सोनभद्र जिले में है।

 

रिहंद बांध परियोजना से किन राज्यों की सिंचाई होती है

रिहंद बांध परियोजना से उत्तर प्रदेश और मध्यप्रदेश राज्यों की सिंचाई होती है।

 

रिहंद बांध किस नदी पर बनाया गया है

रिहंद बांध रिहंद नदी पर बनाया गया है

 

गोविंद बल्लभ पंत सागर किस नदी पर स्थित है

गोविंद बल्लभ पंत सागर रिहंद नदी पर स्थित है

 

गोविंद बल्लभ पंत सागर झील कहां स्थित है

गोविंद बल्लभ पंत सागर सोनभद्र जिले में स्थित है।

 

गोविंद बल्लभ पंत सागर झील किस राज्य में है

गोविंद बल्लभ पंत सागर झील उत्तर प्रदेश राज्य में है।

 

गोविंद बल्लभ पंत सागर कहां स्थित है

गोविंद बल्लभ पंत सागर सोनभद्र जिले में स्थित है।

 

रिहंद बांध या गोविंद बल्लभ पंत सागर की लंबाई कितनी है

रिहंद बांध या गोविंद बल्लभ पंत सागर की लंबाई 3065 फीट है।

 

रिहंद बांध या गोविंद बल्लभ पंत सागर की ऊंचाई कितनी है

रिहंद बांध या गोविंद बल्लभ पंत सागर की ऊंचाई 300 फीट है।

 

रिहंद बांध या गोविंद बल्लभ पंत सागर के ऊपरी चौड़ाई कितनी है

रिहंद बांध या गोविंद बल्लभ पंत सागर के ऊपरी चौड़ाई 24 फीट है।

यह भी पढ़े :- माताटीला बांध झांसी, उत्तर प्रदेश

रिहंद बांध या गोविंद बल्लभ पंत सागर कब बनाया गया था

रिहंद जलाशय या गोविंद बल्लभ पंत सागर जलाशय के आधारशिला 13 जुलाई 1954 में रखी गई थी और 6 जनवरी 1963 में इसका उद्घाटन किया गया था।

 

रिहंद बांध या गोविंद बल्लभ पंत सागर का उद्घाटन किसने किया था

रिहंद बांध या गोविंद बल्लभ पंत सागर का उद्घाटन प्रथम प्रधानमंत्री पं. जवाहर लाल नेहरू ने किया था।

 

यह लेख आपकी जानकारी के लिए लिखा गया है, अगर आपको पसंद आए तो आप इसे शेयर जरूर करें।

Leave a Comment