पीलीभीत में घूमने की जगह – Top 9 Pilibhit me Ghumne ki Jagah

Pilibhit me Ghumne ki Jagah :- पीलीभीत उत्तर प्रदेश का एक प्रसिद्ध शहर है। इस लेख में हम आपको पीलीभीत में घूमने की जगह (Pilibhit me Ghumne ki Jagah), पीलीभीत के प्रसिद्ध धार्मिक स्थल, पीलीभीत कैसे पहुंचे और पीलीभीत के प्रसिद्ध मंदिरों के बारे में जानकारी देंगे।

Table of Contents

पीलीभीत जिले के बारे में जानकारी – Information about Pilibhit district

पीलीभीत भारत के उत्तर प्रदेश राज्य का एक प्रमुख जिला है। इसका मुख्यालय पीलीभीत है। पीलीभीत एक समतल जिला है। पीलीभीत उत्तर प्रदेश में नेपाल देश की सीमा के पास में स्थित है। पीलीभीत जिले का अधिकतर भाग जंगल से ढका हुआ है। पीलीभीत में पीलीभीत टाइगर रिजर्व है, जहां पर बहुत सारे जंगली जीव देखे जा सकते हैं। यहां का मुख्य आकर्षण टाइगर है। पीलीभीत में घूमने के लिए बहुत सारी जगह है। पीलीभीत में देवहा नदी बहती है।

पीलीभीत में सबसे अधिक प्रसिद्ध पीलीभीत टाइगर रिजर्व है। पीलीभीत टाइगर रिजर्व में हर साल ढेर सारे पर्यटक घूमने के लिए आते हैं।

पीलीभीत में घूमने के लिए (Pilibhit me Ghumne ki Jagah) और भी बहुत सारे आकर्षक स्थल हैं, जहां पर आप घूमने के लिए जा सकते हैं। पीलीभीत में घूमने के लिए ऐतिहासिक, प्राकृतिक और धार्मिक जगह हैं, जो बहुत सुंदर है। आप इन जगहों में जाकर अपना समय शांतिपूर्वक बिता सकते हैं। यह सभी जगह बहुत सुंदर है।

इस ब्लॉग में हम पीलीभीत में घूमने वाली बहुत सारी जगह (Pilibhit me Ghumne ki Jagah) के बारे में जानकारी देने वाले हैं। इस ब्लॉग को आप पूरा पढ़े। इस ब्लॉग में हम पीलीभीत में घूमने लायक जगह (Pilibhit me Ghumne ki Jagah), पीलीभीत कैसे पहुंचे, पीलीभीत कहां है, पीलीभीत में ठहरना की जगह, इन सभी के बारे में जानकारी देने वाले हैं।

 

पीलीभीत में घूमने की जगह – Pilibhit me Ghumne ki Jagah

पीलीभीत जिले के प्रमुख पर्यटन और दर्शनीय स्थलों की सूची – Pilibhit Tourist Places list in Hindi

  1. गौरी शंकर मंदिर पीलीभीत
  2. पीलीभीत टाइगर रिजर्व
  3. चुका इको टूरिज्म स्पॉट पीलीभीत
  4. शरद सागर बांध पीलीभीत
  5. मनकामेश्वर मंदिर पीलीभीत
  6. जामा मस्जिद पीलीभीत
  7. दरगाह शाहजी मियां जी पीलीभीत
  8. छठी पातशाही गुरुद्वारा
  9. श्री मढ़ानाथ मंदिर पीलीभीत

 

पीलीभीत जिले के प्रमुख पर्यटन स्थल – Pilibhit me Ghumne ki Jagah

 

गौरी शंकर मंदिर पीलीभीत – Gauri Shankar Temple Pilibhit

गौरी शंकर मंदिर पीलीभीत का एक प्रमुख मंदिर है। यह मंदिर शंकर भगवान जी को समर्पित है। मंदिर में शंकर जी का शिवलिंग देखा जा सकता है। यहां पर चौमुखी शिवलिंग विराजमान है। यहां पर सावन सोमवार में बहुत सारे भक्त शिव के दर्शन करने के लिए आते हैं। यह मंदिर पीलीभीत में गवर्नमेंट आयुर्वेदिक कॉलेज के पास में देवहा नदी के पास में बना हुआ है।

 

पीलीभीत टाइगर रिजर्व – Pilibhit Tiger Reserve

पीलीभीत टाइगर रिजर्व पीलीभीत का एक मुख्य आकर्षण स्थल है। पीलीभीत टाइगर रिजर्व में बहुत सारे स्थल है, जहां पर घुमा जा सकता है। पीलीभीत में मुख्य आकर्षण का केंद्र टाइगर है। यहां पर टाइगर की बहुत अधिक संख्या देखी जा सकती है। पीलीभीत टाइगर रिजर्व भारत और नेपाल की बॉर्डर पर स्थित है।

यहां पर साल वृक्ष का घना जंगल देखने के लिए मिलता है। यहां पर घास के मैदान और दलदली भूमि देखी जा सकती है। यहां पर टाइगर की संख्या बहुत तेजी से बढ़ी है। यहां पर 2014 में बाघों की संख्या 25 थी और 2018 में यहां पर बाघ की संख्या 65 हो गई। इसे टाइगर रिजर्व को इंटरनेशनल यूनियन फॉर कंजर्वेशन ऑफ नेचर की तरफ से अवार्ड मिला है।

पीलीभीत टाइगर रिजर्व पर आप घूमने के लिए आ सकते हैं। यहां पर जंगल सफारी कर सकते है। यहां पर सफारी की बुकिंग करके, जंगल में घुमा जा सकता है। सफारी बुकिंग ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों तरीके से की जा सकती है। सफारी के टाइमिंग अलग-अलग रहते हैं। आप सफारी बुकिंग ऑनलाइन करना चाहते हैं, तो आप वेबसाइट पर जा सकते हैं और वहां पर ऑनलाइन बुकिंग कर सकते हैं।

 

चुका इको टूरिज्म स्पॉट पीलीभीत – Chuka Eco Tourism Spot Pilibhit

चुका इको टूरिज्म स्पॉट पीलीभीत का एक मुख्य आकर्षण स्थल है। चुका इको टूरिज्म स्पॉट पीलीभीत टाइगर रिजर्व के अंदर है। यहां पर एक सुंदर और बहुत बड़ा जलाशय देखने के लिए मिलता है, जिसके किनारे जंगल है। इस जलाशय को शरद सागर बांध के नाम से जाना जाता है।

इसके किनारों पर रेत का सुंदर नजारा देखा जा सकता है, जहां पर आप घूम सकते हैं। इस रेत के किनारे को चूका बीच के नाम से जानते हैं। शरद सागर बांध के किनारे कॉटेज बनाए गए हैं, जहां पर आप ठहर सकते हैं। यहां पर ट्री हाउस बने हुए हैं। यहां पर जलाशय ऊपर लकड़ी के घर बनाए गए हैं, जिनमें ठहरा जा सकता है।

इनमें सभी प्रकार की सुविधाएं उपलब्ध है। यहां पर आकर आपको ऐसा लगेगा, जैसे आप अंडमान निकोबार जैसी जगह पर आ गए हैं। यहां पर बहुत अच्छा टाइम बिताया जा सकता है। यह चारों तरफ प्राकृतिक दृश्य देखने के लिए मिलता है। यहां सनसेट और सनराइज का सुंदर व्यू देखा जा सकता है।

 

शरद सागर बांध पीलीभीत – Sharad Sagar Dam Pilibhit

शरद सागर बांध पीलीभीत का एक सुंदर स्थान है। यह बांध बहुत बड़े क्षेत्र में फैला हुआ है और यह पीलीभीत टाइगर रिजर्व के अंदर स्थित है। यहां पर बोटिंग की जाती है। आप यहां पर अलग-अलग बोट में घूम सकते हैं। यह टाइगर रिजर्व बहुत गहरा है। यहां पर तैराकी करने की मनाही है।

 

मनकामेश्वर मंदिर पीलीभीत – Mankameshwar Temple Pilibhit

मनकामेश्वर मंदिर पीलीभीत का एक प्राचीन मंदिर है। यह मंदिर शिव जी को समर्पित है। मंदिर में शिवलिंग के दर्शन किए जा सकते हैं। यहां पर बहुत सारी देवी देवता विराजमान है। यह मंदिर गवर्नमेंट आयुर्वेदिक कॉलेज के पास में बना हुआ है। मंदिर के पास देवहा नदी बहती है, जिसका दृश्य बहुत सुंदर रहता है।

 

जामा मस्जिद पीलीभीत – Jama Masjid Pilibhit

जामा मस्जिद पीलीभीत का एक प्रमुख धार्मिक स्थल है। यह मुसलमानों के लिए पवित्र स्थल है। यह मस्जिद प्राचीन है। इस मस्जिद का निर्माण दिल्ली में बनी जामा मस्जिद के प्रतिरूप की तरह किया गया है। इस मस्जिद का निर्माण हाफिज अहमद खान ने 1759 में करवाया था। यह मस्जिद बहुत सुंदर है। यहां पर बड़े-बड़े गुंबद और मीनार बनाए गए हैं। यहां पर नमाज अदा की जाती है।

 

दरगाह शाहजी मियां जी पीलीभीत – Dargah Shahji Mian Ji Pilibhit

दरगाह शाहजी मियां पीलीभीत का एक प्रमुख धार्मिक स्थल है। यह  मुस्लिम धार्मिक स्थल है। यह दरगाह हजरत हाजी हाजी मोहम्मद शेर मियां जी की है। यहां दरगाह बहुत ही सुंदर तरीके से बनी हुई है। यहां पर बहुत दूर-दूर से लोग आते हैं और दरगाह के दर्शन करते हैं और मन्नत मांगते हैं। यहां पर चादर चढ़ाई जाती है।

यहां पर उर्स के दौरान मेले का आयोजन होता है, जिसमें बहुत सारी दुकान लगते हैं। यहां पर दरगाह को बहुत सुंदर तरीके से सजाया जाता है। दरगाह में बहुत भीड़ लगती है और बहुत सारी कार्यक्रम का आयोजन किया जाता है। यहां पर आकर अच्छा लगता है। यहां पर दूर-दूर से लोग घूमने के लिए आते हैं।

 

छठी पातशाही गुरुद्वारा – Chhathi Patshahi Gurudwara

छठी पातशाही गुरुद्वारा पीलीभीत का एक प्रमुख स्थल है। यह  गुरुद्वारा गुरु गोविंद सिंह जी की याद में बनाया गया है। गुरु गोविंद सिंह जी, यहां पर अपनी यात्रा के दौरान थोड़े समय के लिए रुके थे। यह गुरुद्वारा बहुत सुंदर और बहुत बड़ा है। यहां पर लंगर चलता है, जिसमें सभी धर्मों के लोग आकर भोजन ग्रहण कर सकते हैं। यहां ठहरने के लिए रूम मिल जाते हैं। इस गुरुद्वारे के ऊपर बड़े-बड़े गुंबद देखे जा सकते हैं।

यह भी पढ़े :- इटावा में घूमने की जगह

श्री मढ़ानाथ मंदिर पीलीभीत – Shri Madhanath Temple Pilibhit

श्री मढ़ानाथ मंदिर पीलीभीत का प्राचीन मंदिर है। यह मंदिर शिव भगवान को समर्पित है। इस मंदिर में प्राचीन शिवलिंग विराजमान है। इस मंदिर के बारे में कहा जाता है, कि यहां पर प्राचीन किला हुआ करता था, जो ध्वस्त हो गया। इस मंदिर का निर्माण स्थानीय एवं बलसंडा नगर वासियों ने करवाया है।

यह मंदिर पीलीभीत में औरमाझा गांव में स्थित है। आप यहां पर आ सकते हैं और मंदिर के दर्शन कर सकते हैं। मंदिर के पास एक तालाब बना हुआ है, जिसमें कमल के बहुत सारे फूल लगे रहते हैं।

यह भी पढ़े :- अलीगढ़ के प्रमुख दर्शनीय स्थल

पीलीभीत कैसे पहुंचे हैं – How to reach Pilibhit

पीलीभीत उत्तर प्रदेश का एक प्रमुख जिला है। पीलीभीत अन्य जिलों से अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है। पीलीभीत में आप आसानी से आ सकते हैं। पीलीभीत में बहुत सारे पर्यटक स्थल है, जहां पर पर्यटक घूमने लिए जाते हैं। पीलीभीत पहुंचने के लिए रेल मार्ग, सड़क मार्ग और वायु मार्ग उपलब्ध है। इन तीनों माध्यम से पीलीभीत पहुंचा जा सकता है।

 

वायु मार्ग से पीलीभीत कैसे पहुंचे – How to reach Pilibhit by air

वायु मार्ग से पीलीभीत पहुंचा जा सकता है। पीलीभीत का सबसे नजदीकी हवाई अड्डा लखनऊ है। लखनऊ में अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा बना हुआ है। इसमें सभी प्रमुख शहरों के लिए सीधी फ्लाइट मिल जाती है। यहां पर आप आ सकते हैं और उसके बाद सड़क मार्ग द्वारा पीलीभीत पहुंच सकते हैं।

 

रेल मार्ग से पीलीभीत कैसे पहुंचे – How to reach Pilibhit by rail

रेल मार्ग से पीलीभीत पहुंचना बहुत आसान है। पीलीभीत सिटी में, पीलीभीत रेलवे स्टेशन बना हुआ है, जो अन्य शहरों से अच्छी तरह कनेक्टेड है। पीलीभीत में आप आ सकते हैं। रेल का किराया भी सस्ता रहता है।

 

सड़क मार्ग से पीलीभीत कैसे पहुंचे – How to reach Pilibhit by road

पीलीभीत में सड़क मार्ग भी बना हुआ है। पीलीभीत में सड़क मार्ग से पहुंचा जा सकता है। यहां पर आने के लिए, बस की सुविधा उपलब्ध है। आप यहां पर लग्जरी और सरकारी बसों के द्वारा पढ़ सकते हैं। यहां पर आप अपने स्वयं के वाहन से भी घूमने के लिए आ सकते हैं।

यह भी पढ़े :- मैनपुरी में घूमने की जगह

पीलीभीत घूमने का सबसे अच्छा समय – Best time to visit in Pilibhit

पीलीभीत आने का सबसे अच्छा समय ठण्ड का रहता है। यहां पर ठंड में आप आराम से घूम सकते हैं। अगर आप गर्मी में घूमने के लिए आएंगे, तो गर्मी में आपको गर्मी और तपिश के कारण घूम नहीं पाएंगे। इसलिए आप अक्टूबर से मार्च के महीने में यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं।

यह भी पढ़े :- सिरमौर में घूमने की जगह

पीलीभीत में ठहरने के लिए साधन – Accommodation in Pilibhit

पीलीभीत में ठहरने के लिए बहुत सारे होटल और लॉज मिल जाते हैं। अगर आप टाइगर रिजर्व आ रहे हैं, तो टाइगर रिजर्व के आसपास बहुत सारे रिसोर्ट और होटल बने हुए हैं, जहां पर आप आराम से ठहर सकते हैं। आप होटल का ऑनलाइन बुकिंग कर सकते हैं और अपनी सुविधा के अनुसार होटल देख सकते हैं और ठहर सकते हैं।

यह भी पढ़े :- ऊना में घूमने की जगह 

यह लेख आपकी जानकारी के लिए लिखा गया है, अगर आपको अच्छा लगे, तो इसे शेयर जरूर करें।

Leave a Comment