पांडव जलप्रपात और गुफा पन्ना – Beautigul Pandav waterfall and Cave Panna

पांडव जलप्रपात और गुफा (Pandav waterfall and Cave) पन्ना जिले का एक मुख्य आकर्षण स्थल है। पांडव जलप्रपात और गुफा (Pandav waterfall and Cave) पन्ना जिले में पन्ना टाइगर रिजर्व के अंदर स्थित एक सुंदर स्थल है।  आप यहां पर आसानी से पहुंच सकते हैं। ये जगह प्राकृतिक सुंदरता से परिपूर्ण है। यहां पर आकर आप अच्छा समय व्यतीत कर सकते हैं। यहां पर आपको ढेर सारी जगह देखने के लिए मिलती है।

पांडव जलप्रपात और गुफा पन्ना की जानकारी – Information about Pandav waterfall and Cave Panna

पांडव फॉल एवं गुफा (Pandav waterfall and Cave) पन्ना टाइगर रिजर्व (Panna Tiger Reserve) में स्थित एक रमणीय जगह है। यह जगह मध्य प्रदेश का प्राकृतिक, ऐतिहासिक एवं धार्मिक दृष्टि से महत्वपूर्ण स्थान है। पन्ना जलप्रपात विश्व प्रसिद्ध खजुराहो से करीब 34 किलोमीटर दूर है। आप यहां पर आराम से घूमने के लिए आ सकते हैं।

पांडव जलप्रपात और गुफा (Pandav waterfall and Cave) पन्ना जिले के एक ऐतिहासिक और धार्मिक स्थल के रूप में प्रसिद्ध है। पांडव जलप्रपात पन्ना जिले से करीब 14 किलोमीटर दूर है। यहां पर आप पन्ना छतरपुर राजमार्ग से आसानी से आ सकते हैं। यह जलप्रपात पन्ना टाइगर रिजर्व के अंदर बना हुआ है।

पांडव जलप्रपात और गुफा (Pandav waterfall and Cave) मुख्य सड़क से कुछ दूर अंदर बना हुआ है। इस जलप्रपात में प्रवेश के लिए शुल्क लिया जाता है। यहां पर दो पहिया वाहन, चार पहिया वाहन, टैक्सी और बस का अलग-अलग शुल्क लगता है। यहां पर आपको गाइड करना कंपलसरी है। गाइड आपको इस जगह के बारे में संपूर्ण जानकारी देता है।

पांडव जलप्रपात (Pandav waterfall) मुख्य सड़क से करीब 600 मीटर दूर है। आप आराम से यहां पर अपनी बाइक और बाइक से जा सकते हैं। यहां पर आप पैदल भी घूमने के लिए जा सकते हैं। यहां पार्किंग के लिए बहुत बड़ा स्पेस दिया गया है, जहां पर आप अपनी बाइक और कार को खड़ा कर सकते हैं।

पांडव जलप्रपात (Pandav waterfall) और गुफा काफी बड़े एरिया में फैली हुई है। यहां पर आपको बहुत सारे स्थल देखने के लिए मिलते हैं, जो बहुत सुंदर है। यहां पर आपको एक सुंदर झरना, प्राचीन गुफा, पहाड़ों से गिरता हुआ पानी, पक्षियों की मधुर आवाज सुनने मिलती है। यहां पर कभी-कभार आपको जंगली जानवर भी देखने के लिए मिलते हैं। यहां पर आपको हिरण, चौसिंगा, चिंकारा जैसे जानवर मिलते देखने मिलते हैं।

पांडव जलप्रपात (Pandav waterfall) एक बरसाती नाले पर बना हुआ है। यहां पर बरसात के समय इस जलप्रपात में भारी मात्रा में पानी देखने के लिए मिलता है। मगर गर्मी के समय भी इस जलप्रपात में पानी बहता है। पानी की मात्रा भले ही कम रहती है। मगर पानी यहां पर साल भर बहता रहता है। आप यहां पर अपनी इच्छा अनुसार कभी भी घूमने के लिए आ सकते हैं। आप यहां पर बरसात, गर्मी या ठंडी में कभी भी आ सकते हैं।

पांडव जलप्रपात (Pandav waterfall) के पास में ही गुफाएं देखने के लिए मिलते हैं। यह गुफाएं बहुत अच्छी तरह से बनाई गई है। इन गुफाओं के बारे में कहा जाता है, कि पांडव यहां पर अपने अज्ञातवास के दौरान छिपे हुए थे। पांडवों को 1 साल का अज्ञातवास दिया गया था। इस समय अगर पांडव किसी भी व्यक्तियों को दिखेंगे, तो उन्हें दोबारा अपना अज्ञातवास और वनवास को भोगना पड़ेगा। इसलिए पांडव यहां पर छिपे थे। यहां पर उन्होंने भगवान शिव की स्थापना भी की थी। यहां पर आप शिवलिंग के दर्शन कर सकते हैं। इसलिए यह जगह धार्मिक दृष्टि से बहुत महत्वपूर्ण है।

पांडव जलप्रपात एवं गुफा (Pandav waterfall and Cave) ऐतिहासिक रूप से भी महत्वपूर्ण है। इस जगह का हमारी स्वतंत्रता संग्राम में भी बहुत महत्वपूर्ण भूमिका है।  यह जगह ऐतिहासिक भी है, इस जगह पर 4 सितंबर 1929 को अमर शहीद चंद्रशेखर आजाद ने क्रांतिकारियों के साथ एक बैठक की थी और अग्रेजों से युध्द करनें की रणनीति बनाई थी।

इस तरह पांडव जलप्रपातखूबसूरत होने के साथ-साथ धार्मिक और ऐतिहासिक रूप से भी महत्वपूर्ण है। पांडव जलप्रपात के आस-पास आपको खूबसूरत चट्टानें देखने के लिए मिलती है, जो बहुत ही यूनिक लगते हैं। यहां पर पेड़ों में आपको भालू के निशान देखने के लिए मिलते हैं।

पांडव फॉल एवं गुफा (Pandav waterfall and Cave) तक आप राष्ट्रीय राजमार्ग 75 से पहुॅच सकते है। पांडव जलप्रपात (Pandav Falls) की ऊंचाई 25 मीटर है। बारिश के समय यहां का दृश्य बहुत ही मनोरम होता है। यह क्षेत्र जैव विविधता की दृष्टि से बहुत महत्वपूर्ण है। यह पर बहुत सारे औषधियां पौधे पाये जाते है, जो मानव स्वास्थ्य के लिए महत्वपूर्ण है।

जलप्रपात के नीचे बहुत बडा जलकुंड है, जिसमें मछलियों की नर्सरी तैयार होती है। जलकुंड का पानी साफ सुथरा है। यहां पर मछलियां आपको साफ साफ दिखाई देती है। यहां पर मछली के बच्चे जन्म लेकर बड़े हो जाते है और बारिश के मौसम में बाढ़ के पानी के साथ बह जाते है और केन नदी पर ये मछलियों मिल जाती है। कुंड में 12 माह पानी उपलब्ध रहता है। कुंड में पानी रहने के कारण यह पर पक्षी की चहल पहल बनी रहती है।

पांडव फॉल एवं गुफा (Pandav waterfall and Cave) तक पहुंचने के लिए सीढ़ियां बनी हुई है। आपको सीढ़ियां के द्वारा झरने और गुफाओं तक पहुंच जाते हैं। यहां पर आपको अर्जुन के बहुत सारे पेड़ देखने मिलते है,  जिनमें मधुमक्खी के छाते लगे हुआ है। इन छाता में शहद रहता है। इस शहद के लिए भालू इन पेड़ों पर चढ़ते हैं। भालू के नाखूनों के निशान आप यहां के पेड़ों पर देख सकते हैं। आपको यहां पर झरने में उतरना माना है। झरने के पास प्राचीन गुफाएं है। आप इन गुफाओं को देख सकते हैं।

पांडव फॉल (Pandav waterfall) में गर्मी के मौसम में भी चट्टानें के ऊपर से पानी बूंद बूंद गिरता रहता है, जो आपको बरिश का अहसास दिलाता है। लोग यहां पर जो पानी पहाडों से टपकता है, उसको बोतल में भरकर अपने साथ ले जाते हैं। कहते है कि यह जो पानी रहता है यह मिनरल्स से भरपूर रहता है।

आप गुफाओं के अंदर जाकर प्राचीन समय का अनुभव कर सकते हैं, कि किस तरह यहां पर पांडव रहा करते थे। गुफा के अंदर प्राचीन शिवलिंग और अन्य मूर्तियों का संग्रह करके रखा गया है, आप उन्हें भी देख सकते हैं। यह जगह प्राकृतिक रूप से बहुत ही खूबसूरत है। आपको यहां पर आकर बहुत अच्छा लगेगा।

यह भी पढ़े :- माई की बगिया अमरकंटक

पन्ना जलप्रपात एवं गुफा में घूमने का सबसे अच्छा समय – Best time to visit in Pandav waterfall and Cave

पन्ना जलप्रपात एवं गुफा (Pandav waterfall and Cave) में घूमने का सबसे अच्छा समय बरसात का रहता है। बरसात के समय आप यहां पर आ सकते हैं और जलप्रपात को देख सकते हैं। बरसात के समय जलप्रपात में पानी की बहुत अधिक मात्रा रहती है और यहां पर पानी का प्रवाह बहुत तेज रहता है, जिससे यह बहुत सुंदर लगता है।

आप यहां पर ठंड के समय भी आ सकते हैं। ठंड में यहा पानी कम रहता है। गर्मी में यहां पर पानी की मात्रा बहुत ज्यादा कम हो जाती है। यहां पर बूंद बूंद पानी झरने में गिरता है। आप अपनी मर्जी के अनुसार कभी भी यहां पर घूमने लिए आ सकते हैं।

यह भी पढ़े :- रानेह जलप्रपात छतरपुर मध्य प्रदेश

पांडव फॉल और गुफा कहां स्थित है – Where is Pandav waterfall and Cave located

पांडव  फॉल एवं गुफा (Pandav waterfall and Cave) मध्यप्रदेश के पन्ना शहर में स्थित है। यह स्थल पन्ना टाइगर रिजर्व (Panna Tiger Reserve) के अंदर स्थित है। यह स्थल पन्ना शहर से करीब 13 किलोमीटर दूर होगा और खजुराहो से यह स्थल करीब 31 किलोमीटर दूर होगा। आप इस जगह से अपने वाहन से या किराए की टैक्सी से आ सकते है। खजुराहो – पन्ना राजमार्ग पर स्थित, पांडव जलप्रपात (Pandav Falls) पन्ना में दर्शनीय झरनों में से एक है ।

 

यह लेख आपकी जानकारी के लिए लिखा गया है। अगर आपको यह लेख पसंद आए तो इसे शेयर जरूर करें।

Leave a Comment