माताटीला बांध झांसी, उत्तर प्रदेश – Matatila Dam Talbehat

माताटीला बांध उत्तर प्रदेश का एक प्रमुख बांध है। माताटीला बांध (Matatila Dam) उत्तर प्रदेश राज्य के ललितपुर जिले का एक दर्शनीय स्थल है। माताटीला बांध प्राकृतिक रूप से बहुत ही सुंदर है। माता टीला बांध बेतवा नदी पर बना हुआ है। माताटीला बांध बहुत बड़े एरिया में फैला हुआ है। यह बांध मुख्य रूप से सिंचाई के उद्देश्य से बनाया गया है।

Table of Contents

माताटीला बांध के बारे में जानकारी – Information about Matatila Dam

मातातीला बांध झांसी जिले के बहुत करीब है। यह झांसी जिले के पास घूमने के लिए मुख्य स्थान है। यहां पर झांसी से आराम से घूमने के लिए आया जा सकता है। यह बांध उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश राज्यों की सीमा पर स्थित है। यह बेतवा नदी पर बना हुआ एक विशाल बांध है। बेतवा नदी उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश राज्य में बहती है। इस बांध के पानी का उपयोग सिंचाई के रूप में भी किया जाता है।

माताटीला बांध (Matatila Dam) ललितपुर के तालबेहट तहसील में बना हुआ है। यह बांध तालबेहट से करीब 10 किलोमीटर दूर है। यहां पर आने के लिए अच्छा सड़क मार्ग बना हुआ है। इस बांध में आप आसानी से आ सकते हैं। माताटीला बांध का निर्माण 1970 के दशक में किया गया था।

माताटीला बांध (Matatila Dam) बहुत बड़ी एरिया में फैला हुआ है। यह बांध बहुत सुंदर दिखता है। बांध के चारों तरफ प्राकृतिक नजारे देखे जा सकते हैं। यहां आकर आप दूर-दूर तक फैले हुए पानी का दृश्य देख सकते हैं, जो एक समुद्र की भांति लगता है। यहां पर चारों तरफ हरियाली है। यहां पर ढेर सारे पेड़ पौधे लगे हुए हैं।

माताटीला बांध के पास घूमने के लिए बहुत सारे स्थल है। माताटीला बांध (Matatila Dam) के पास में माताटीला पार्क और माताटीला मंदिर बना हुआ है। आप इन दोनों जगह में भी जाकर घूम सकते हैं। यह दोनों जगह बहुत सुंदर है।

माताटीला बांध (Matatila Dam) में घूमने का सबसे अच्छा समय बरसात का रहता है। बरसात में यहां पर आपको चारों तरफ हरियाली देखने के लिए मिलती है। इस समय बांध पूरी तरह पानी से भर जाता है और डैम के गेट खोले जाते हैं, जिसका दृश्य देखने लायक रहता है। आप यहां पर बरसात में आकर अपना अच्छा समय व्यतीत कर सकते हैं। आप यहां पर अगस्त से फरवरी माह के बीच आ सकते हैं। इस समय यहां पर घूमने का मौसम बहुत ही बढ़िया रहता है।

माताटीला बांध (Matatila Dam) में आकर आप जंगल और पहाड़ियों का सुंदर दृश्य देख सकते हैं। यहां पर आप नौकायन का भी आनंद ले सकते हैं। यहां पर कई लोग मछली पकड़ते हुए देखने के लिए मिल जाते हैं। वह लोग यहां के लोकल लोग रहते हैं। आप चाहे तो आप भी यहां पर मछली पकड़ सकते हैं।

माता टीला बांध मध्य प्रदेश और उत्तर प्रदेश के बहुत सारे गांव में सिंचाई का पानी उपलब्ध कराता है और स्थानीय आबादी के लिए पीने के पानी का मुख्य स्रोत है। माता टीला बांध (Matatila Dam) झांसी  और ललितपुर जिले के लिए एक प्रसिद्ध पिकनिक स्थल है। यहां पर ढेर सारे लोग पिकनिक मनाने के लिए आते हैं। यहां पर आप परिवार और दोस्तों के साथ अपने दिन का समय बिताने के लिए आ सकते हैं।

माताटीला बांध एक अच्छा पिकनिक स्थल है। यहां पर आप अपने फैमिली और फैंडस के साथ आ सकते है।

माताटीला पार्क – Matatila Park

माताटीला पार्क माताटीला बांध के नीचे की तरफ बना हुआ है। माताटीला पार्क बहुत बड़े एरिया में फैला हुआ है। यह बांध के गेट के साइड बना हुआ है। यहां पर आप अपना अच्छा समय व्यतीत कर सकते हैं। माताटीला बांध में तरह-तरह के रंग-बिरंगे फूल खिले हुए हैं। इस पार्क में ढेर सारे स्टैचू देखने के लिए मिलते हैं, जो बहुत ही सुंदर लगते हैं।

माताटीला पार्क अपने परिवार के साथ समय बिताने के लिए यह एक अच्छी जगह है। यह पार्क बहुत खूबसूरत है। यह पार्क साफ और सुंदर है। इस पार्क में बच्चों के लिए झूले लगे हुए है। इस पार्क में शिव भगवान जी की मूर्ति देखने मिलती है। शिव भगवान जी की मूर्ति से पानी की एक फुहार निकलती है। मूर्ति को देखकर ऐसा लगता है कि शिव भगवान जी के सिर से गंगा जी बह रही है। यह मूर्ति बहुत ही सुंदर है।

माताटिया पार्क के बीच में फव्वारा बना हुआ है, जो बहुत सुंदर है।  जब यह फवारा चालू होता है, तो बहुत ही आकर्षक दिखता है। पार्क में ढेर सारी मूर्तियां है। यहां पर डायनासोर, शेर और राक्षस की मूर्तियां बनाई गई है। माताटीला पार्क में आप अच्छा समय बिता सकते हैं। माताटीला पार्क से आपको माताटीला डैम के गेट भी देखने के लिए मिलते हैं, जिसका दृश्य बहुत ही सुंदर लगता है।

माताटीला मंदिर – Matatila Temple

माताटीला मंदिर माता टीला डैम के पास में बना हुआ है। माताटीला मंदिर एक ऐतिहासिक मंदिर है। यह मंदिर माताटीला डैम से करीब 1 किलोमीटर दूर है। यहां पर आप आराम से आ सकते हैं। यह मंदिर पहाड़ी पर बना हुआ है। मंदिर तक बाइक और कार आराम से जा सकती है। मंदिर के पास पार्किंग की व्यवस्था है।

माताटीला मंदिर में आप माता मालोन के दर्शन कर सकते हैं। माता मालोन की प्रतिमा बहुत ही सुंदर है। माताटीला मंदिर के बारे में कहा जाता है, कि यह मंदिर प्राचीन है। इस मंदिर के नाम पर ही माताटीला बांध का नाम रखा गया है।

टीला का अर्थ होता है पहाड़ या चट्टान। मालोन माता टीले पर विराजमान है इसलिए इसे माता टीला कहा जाता है। स्थानीय लोगों को मानना है की माता की कृपा से ही बांध  को मजबूती मिली है, नहीं तो बांध बार-बार टूट जा रहा था। माता की पूजा अर्चना करने के बाद ही बांध को मजबूती मिली है। यह मंदिर प्राचीन है।

माताटीला मंदिर लोगों के बीच में बहुत प्रसिद्ध है। लोग यहां पर पूजा करने के लिए आते हैं और मन से प्रार्थना करते हैं। कहा जाता है कि यहां पर जो भी मनोकामना मांगी जाती है, वह जरूर पूरी होती है। मंदिर के पास में आर्मी कैंट है। यहां पर आर्मी वाले भी पूजा करते हैं। मंदिर से आपको चारों तरफ का सुंदर दृश्य देखने के लिए मिलता है। माताटीला मंदिर का निर्माण श्री 108 बाबा कैलाश जी की आज्ञा अनुसार झांसी निवासी श्री ओम प्रकाश शर्मा ठेकेदार के पूज्य पिता स्वर्गीय श्री मूलचंद शर्मा ठेकेदार ने सन 1954 में करवाया था। आप जब भी इस बांध में घूमने आते है, तो आप इस मंदिर में भी घूमने आ सकते हैं।

यह भी पढ़े :- मुहास हनुमान मंदिर कटनी

माताटीला बांध बहुउद्देशीय परियोजना – Matatila Dam Multipurpose Project

माताटीला बांध एक बहुउद्देशीय परियोजना है। इस बांध के द्वारा बहुत सारे उद्देश्यों की पूर्ति की जाती है। इस बांध के द्वारा आसपास के जिलों में पानी की आपूर्ति की जाती है, जिसे पीने का साफ पानी मिलता है। मध्य प्रदेश एवं उत्तर प्रदेश के बहुत सारे गांव में सिंचाई की व्यवस्था की जाती है, जिससे कृषि को बढ़ावा मिलता है।

माताटीला जल विद्युत परियोजना के द्वारा जल विद्युत उत्पन्न की जाती है। माताटीला  डैम के पास में ही जल विद्युतगृह बना हुआ है, जहां पर बिजली का उत्पादन किया जाता है, जिससे मध्य प्रदेश और उत्तर प्रदेश के कई इलाकों में बिजली की सप्लाई की जाती है।

 

माताटीला बांध परियोजना किस नदी पर है – Matatila Dam Project is on which river

माताटीला परियोजना बेतवा नदी पर है। बेतवा नदी मध्य प्रदेश की प्रसिद्ध नदी है। बेतवा नदी मध्य प्रदेश में भोपाल जिले के पास से निकलती है। बेतवा नदी यमुना नदी की सहायक नदी है।

 

माताटीला जल विद्युत परियोजना – Matatila Hydroelectric Project

माताटीला जल विद्युत परियोजना1965 में शुरू की गई थी। माताटीला बांध के पास में बिजली संयंत्र 1965 में बनाया गया था। यहां पर 30 मेगावाट का संयंत्र स्थापित किया गया है। यहां पर तीन इकाइयां परिचालन में है और तीनों इकाइयां चालू हो चुकी है। यहां पर 30 मेगावाट बिजली पैदा की जाती है।

 

माताटीला बांध का निर्माण कब किया गया था – When was Matatila Dam constructed?

माताटीला परियोजना मध्य प्रदेश और उत्तर प्रदेश की सयुंक्त परियोजना है। माताटीला बांध का निर्माण मध्य प्रदेश और उत्तर प्रदेश के संयुक्त संयोजन से किया गया था। यह बांध 1958 में बेतवा नदी पर बनाया गया था। इस बांध में 23 गेट है।

 

माताटीला बांध कहाँ स्थित है – Where is Matatila Dam located?

माताटीला बांध उत्तर प्रदेश राज्य के ललितपुर जिले में स्थित है। यह बांध ललितपुर जिले के तालबेहट तहसील में स्थित है। यह ललितपुर जिले से करीब 30 किलोमीटर दूर है और झांसी जिले से 50 किलोमीटर दूर है। यहां पर आने के लिए सड़क व्यवस्था है। यहां पर आप आसानी से आ सकते हैं।

यह भी पढ़े :- सोन नदी का उद्गम स्थल अमरकंटक

FAQ

 

माताटीला के कितने गेट हैं

माताटीला डैम में 23 गेट है। माताटीला गेट का साइज 60*23 है।

 

माताटीला बांध किस जिले में है

माताटीला बांध ललितपुर जिले में है

 

माताटीला बांध किस राज्य में है

माताटीला बांध उत्तर प्रदेश राज्य में है

 

माताटीला बांध कहां पर है

माताटीला बांध ललितपुर जिले के तालबेहट में स्थित है।

 

माताटीला बांध का जलग्रहण क्षेत्र कितना है

माताटीला बांध का जलग्रहण क्षेत्र 8000 स्क्वेयर माइल्स है।

 

माताटीला डैम की ऊंचाई कितनी है

माताटीला डैम की ऊंचाई 104 फिट है।

 

माताटीला डैम का निर्माण किस सन में किया गया था

माताटीला डैम का निर्माण 1958 में किया गया था।

 

माताटीला डैम किस नदी पर बना हुआ है

माताटीला डैम बेतवा नदी पर बना हुआ है।

यह भी पढ़े :- गोविंद सागर बांध ललितपुर शहर

यह लेख आपकी जानकारी के लिए लिखा गया है। अगर आपको पसंद आया हो, तो आप इसे शेयर जरूर करें।

Leave a Comment