मड़ीखेड़ा डैम शिवपुरी मध्य प्रदेश – Attractive Madikheda Dam Shivpuri Madhya Pradesh

मड़ीखेड़ा डैम (Madikheda Dam) मध्य प्रदेश का एक खूबसूरत जलाशय है। मड़ीखेड़ा डैम मध्य प्रदेश (Madikheda Dam Madhya Pradesh) के शिवपुरी जिले में स्थित है। यह शिवपुरी में घने जंगलों के अंदर बना हुआ है। यह बांध एक बहुउद्देशीय परियोजना है। यह बांध चारों तरफ से पहाड़ियों और जंगल से घिरा हुआ है। यहां पर आकर आप अच्छा समय बिता सकते हैं। अगर आप शिवपुरी आते हैं, तो इस बांध में घूमने के लिए जरूर आए।

मड़ीखेड़ा बांध या अटल सागर बांध शिवपुरी की जानकारी – Information about Madikheda Dam or Atal Sagar Dam Shivpuri

मड़ीखेड़ा बांध शिवपुरी (Madikheda Dam) जिले का एक मुख्य पर्यटन स्थल है। मड़ीखेड़ा बांध (Madikheda Dam) एक खूबसूरत पिकनिक स्पॉट है। यहां पर आप अपने फैमिली और दोस्तों के साथ आ सकते हैं और अपना अच्छा समय बिता सकते हैं।

यह बांध जंगलों और पहाड़ों से घिरा हुआ है और सबसे खूबसूरत इस बांध में आने का रास्ता है। इस बांध में आने का रास्ता बहुत ही खूबसूरत है और जंगलों से घिरा हुआ है। आप यहां पर बाइक और कार से आ सकते हैं। आपके यहां पर आकर मजा आएगा।

अटल सागर परियोजना शिवपुरी (atal sagar pariyojna shivpuri) में स्थित एक मुख्य परियोजना है। यह मध्य प्रदेश का मुख्य बांध है। अटल सागर परियोजना (atal sagar pariyojna) को सिंध परियोजना (sindh pariyojana) के नाम से भी जाना जाता है। इस में जल विद्युत परियोजना भी संचालित है। अटल सागर बांध के द्वारा शिवपुरी में विद्युत उत्पादन, सिंचाई के लिए जल, और मछली पालन भी किया जाता है।

मड़ीखेड़ा बांध (Madikheda Dam) को अटल सागर बांध के नाम से भी जाना जाता है। यह बांध सिंध नदी पर बना हुआ है। सिंध नदी मध्य प्रदेश की मुख्य नदी है। सिंध नदी मध्य प्रदेश राज्य में सिरोंज नगर से निकलती है। यह सिरोंज नगर से बहते हुए यमुना नदी में मिलती है। यह नदी मध्य प्रदेश के बहुत सारे जिलों में बहती है और मध्यप्रदेश के बहुत सारे जिलों को सिंचित करते हुए यमुना नदी में मिल जाती है और इसकी यात्रा खत्म हो जाती है।

अटल सागर बांध शिवपुरी (Atal Sagar Dam Shivpuri) से करीब 35 किलोमीटर दूर है। इस बांध में, आप अपनी बाइक या कार से पहुंच सकते हैं। बांध तक आने के लिए सड़क माध्यम उपलब्ध है। बांध में आने के लिए, आप शिवपुरी नरवर सड़क से आ सकते हैं।

यहां पर आपको खांकर रोड से नरवर आने के लिए मुड़ना पड़ता है। नरवर आने के लिए, जो सड़क माध्यम उपलब्ध है। वह पूरा जंगल से भरा हुआ है। यह सड़क माध्यम बहुत अच्छा है। यहां पर जंगल का दृश्य देखने के लिए मिलता है। यहां पर घुमावदार सड़क पड़ती है, जो बहुत मजेदार रहती है। आप यहां बरसात के समय आएंगे, तो आपको ज्यादा मजा आएगा।

आप जब अटल सागर बांध पहुंचेंगे, तो बांध का भराव क्षेत्र आपको देखने के लिए मिलेगा, जो बहुत बड़े एरिया में फैला हुआ है। यहां पर अटल सागर बांध को देखने के लिए, बांध के पास ही में एक गार्डन बनाया गया है, जहां से आप को बांध के गेट एवं इसका भराव क्षेत्र देखने के लिए मिलता है।

यहां पर गार्डन और व्यूप्वाइंट बना हुआ है, जहां से आप बांध के आसपास का क्षेत्र भी देख सकते हैं। गार्डन में चारों तरफ पेड़ पौधे लगे हुए हैं। यहां पर बैठने की व्यवस्था भी है। यहां पर आप आते हैं, तो शांति से अपना समय व्यतीत कर सकते हैं, क्योंकि यहां पर कोई शोर शराबा नहीं रहता है। यहां पर चारों तरफ जंगल है।

बांध चारों तरफ से पहाड़ियों से घिरा हुआ है। यहां पर बैठकर बांध का सुंदर नजारा देखा जा सकता है। बरसात के समय जब बांध के गेट खोले जाते हैं। तब यह बहुत ही ज्यादा जबरदस्त दृश्य देखने मिलता है। उस समय यहां पर बहुत सारे पर्यटक घूमने के लिए आते हैं और अटल सागर बांध को देखते हैं।

अटल सागर बांध में 10 गेट बने हुए हैं। बांध में पानी अधिक होने की स्थिति में, यह गेट खोले जाते हैं, जिससे पानी की मात्रा बहुत अधिक मात्रा में बहती है और बहुत ही सुंदर लगता है। बांध के गेट खोलते हैं, तो इसका दृश्य देखने के लिए देखने लायक रहता है। बांध से बहुत ज्यादा पानी बहता है। आप यहां पर व्यू पॉइंट पर खड़े होकर, यह दृश्य देख सकते हैं।

यह भी पढ़े :- तिघरा बांध ग्वालियर मध्य प्रदेश

मड़ीखेड़ा बांध या अटल सागर बांध की प्रमुख विशेषताएं – Major features of Madikheda Dam or Atal Sagar Dam

मड़ीखेड़ा बांध (Madikheda Dam) या अटल सागर बांध (Atal Sagar Dam) का जल ग्रहण क्षेत्र 5540 वर्ग किलोमीटर है।  अटल सागर के गेट की संख्या 10 है। गेट का साइज 14.50*12 मीटर है। बांध का पूर्ण जलस्तर 346.25 मीटर है। जलाशय का पूर्ण जलस्तर 346.25 मीटर है। बांध की अधिकतम जलस्तर 346.85 मीटर है।

कुल सिंचित जल राशि 901.81 मिलियन क्यूबिक मीटर है। यह बांध सिंध नदी पर बना हुआ है। आप यहां पर आ कर इस बांध के बारे में और भी बहुत सारी बातें जान सकते हैं। बांध के पास ही जल विद्युत परियोजना बनाई गई है, जहां से जलविद्युत बनाई जाती है और जल विद्युत बनाने में जो भी पानी उपयोग होता है। उसको वापस सिंध नदी में मिला दिया जाता है।

यह भी पढ़े :- इंदौर का खुबसूरत चोरल डैम

मड़ीखेड़ा बांध या अटल सागर बांध में घूमने का सबसे अच्छा समय – Best time to visit Madikheda Dam or Atal Sagar Dam

मड़ीखेड़ा बांध (Madikheda Dam) या अटल सागर बांध में घूमने का सबसे अच्छा समय बरसात का रहता है। बरसात के समय यह बांध देखने लायक रहता है। बरसात के समय यह बांध पानी से पूरी तरह भर जाता है और इसका पानी ओवरफ्लो होता है। तब इसके गेट खोले जाते हैं।

तब इस बांध का दृश्य देखने लायक रहता है, तो आप इस बांध में बरसात के समय आ सकते हैं। अगर आप यहां पर बरसात में नहीं आते हैं, तो आप यहां ठंड में आ सकते हैं। ठंड में भी यह जगह बहुत खूबसूरत लगती है।

यह भी पढ़े :- सिरपुर लेक इन्दौर मध्य प्रदेश

मड़ीखेड़ा बांध या अटल सागर बांध कहां पर स्थित है – Where is Madikheda Dam or Atal Sagar Dam located

मड़ीखेड़ा बांध (Madikheda Dam) या अटल सागर बांध शिवपुरी (Atal Sagar Dam Shivpuri) शहर में का मुख्य आकर्षक स्थल है। यह शिवपुरी से करीब 30 किलोमीटर दूर है। इस बांध तक पहुंचने के लिए सड़क माध्यम उपलब्ध है। इस बांध में आप आसानी से आ सकते हैं। यहां पर आने के लिए पक्की सड़क उपलब्ध है।

यह भी पढ़े :- हलाली बांध भोपाल

मड़ीखेड़ा बांध या अटल सागर बांध पर कैसे पहुंचा जा सकता है – How to reach Madikheda Dam or Atal Sagar Dam

मड़ीखेड़ा बांध (Madikheda Dam) या अटल सागर बांध में पहुंचना बहुत आसान है। यहां पर आने के लिए सड़क उपलब्ध है। यह बांध शिवपुरी नरवर सड़क मार्ग पर स्थित है। सड़क के दोनों तरफ आपको घना जंगल देखने के लिए मिलता है। यह सड़क बहुत ही सुंदर है।

यह सड़क कहीं-कहीं पर घुमावदार है, जिसमें इस सड़क में चलने में बहुत मजा आता है। आप यहां पर खूबसूरत सड़कों का नजारा देखते हुए डैम तक पहुंचते हैं। यहां पर पार्किंग के लिए जगह है। इस बांध में आप बरसात के समय जाएंगे, तो आपको बांध का बहुत सुंदर दृश्य देखने के लिए मिलता है।

यह भी पढ़े :- गोविंद सागर बांध ललितपुर शहर

Leave a Comment