लाहौल स्पीति में घूमने की जगह – Top 17 Lahaul Spiti Tourist Places in Hindi

Lahaul Spiti Tourist Places in Hindi :- लाहौल स्पीति हिमाचल प्रदेश का एक प्रमुख जिला है। इस लेख में हम आपको लाहौल स्पीति में घूमने की जगह, लाहौल स्पीति कैसे पहुंचे, लाहौल स्पीति के प्रसिद्ध मंदिर,  लाहौल स्पीति के प्रसिद्ध धार्मिक स्थान के बारे में जानकारी देंगे।

Table of Contents

लाहौल स्पीति जिले के बारे में जानकारी – Information about Lahaul Spiti district

लाहौल और स्पीति हिमाचल प्रदेश का एक मुख्य जिला है। लाहौल स्पीति जिला ठंडा रहता है। लाहौल और स्पीति पर घूमने के लिए बहुत सारी जगह है। लाहौल स्पीति पहाड़ों से घिरा हुआ है। यह एक सुंदर शहर है। यहां पर आकर आप हिमालय की सुंदर घाटियों का दृश्य देख सकते हैं।

लाहौल स्पीति में घूमने के लिए बहुत सारी जगह है, जहां पर जाकर आप अपना अच्छा समय बिता सकते हैं। लाहौल स्पीति में घूमने के लिए ऐतिहासिक, प्राकृतिक और धार्मिक जगह हैं, जो बहुत सुंदर है। आप यहां पर अपनी फैमिली और दोस्तों के साथ जा सकते हैं और अच्छा समय बिता सकते हैं।

इस ब्लॉग में हमने, आपको लाहौल और स्पीति जिले के बारे में बहुत सारी जानकारी दी है। आप इस ब्लॉग को पूरा पढ़ें। इस ब्लॉग में हमने लाहौल स्पीति में घूमने लायक प्रमुख जगह (Lahaul Spiti Tourist Places), लाहौल स्पीति कैसे जाएं, लाहौल स्पीति में कहा ठहरे, लाहौल स्पीति जाने का सबसे अच्छा समय, इन सभी के बारे में जानकारी दीजिए।

 

लाहौल स्पीति में घूमने की जगह – Lahaul Spiti Tourist Places 

लाहौल स्पीति के दर्शनीय और पर्यटन स्थलों की सूची – Lahaul Spiti Tourist Places list in Hindi

  1. ताबो मठ लाहौल स्पीति
  2. ताबो गुफाएं लाहौल स्पीति
  3. धनगर मोनेस्ट्री लाहौल स्पीति
  4. पिन वैली राष्ट्रीय उद्यान लाहौल स्पीति
  5. किब्बर अभ्यारण लाहौल स्पीति
  6. त्रिलोकीनाथ मंदिर लाहौल स्पीति
  7. नाको मॉनेस्ट्री लाहौल स्पीति
  8. नाको झील लाहौल स्पीति
  9. रोहतांग पास लाहौल स्पीति
  10. कोकसर लाहौल स्पीति
  11. सिस्सू लाहौल स्पीति
  12. महादेव मंदिर मेंलिंग लाहौल स्पीति
  13. कुंझुम पास
  14. चंद्रताल झील लाहौल स्पीति
  15. शाशूर मॉनेस्ट्री केलॉन्ग लाहौल स्पीति
  16. सूरजताल लाहौल स्पीति
  17. की मॉनेस्ट्री लाहौल स्पीति

 

लाहौल स्पीति में घूमने की जगह – Lahaul Spiti Tourist Places

 

ताबो मठ लाहौल और स्पीति – Tabo Monastery Lahaul and Spiti

ताबो मठ लाहौल और स्पीति जिले का एक मुख्य स्थान है। यह एक बौद्ध मठ है। लोगों के अनुसार यह मठ 1000 साल से भी अधिक पुराना है। ताबो मठ को स्पीति घाटी में 960 ईसवी में एक महान विद्वान रिचेन जंगपो द्वारा स्थापित कराया गया था।

यह मठ मिट्टी से बना हुआ है और बहुत ही सुंदर हैं। यहां पर आकर एक अलग ही शांति मिलेगी। यहां पर आपको बहुत सारी पुरानी पेंटिंग देखने के लिए मिलती है। इन पेंटिंग को बनाने के लिए, ऑर्गेनिक कलर का उपयोग किया गया है। फल और सब्जी के कलर का उपयोग किया गया है। यहां पर आकर अच्छा लगता है।

 

ताबो गुफाएं लाहौल और स्पीति – Tabo Caves Lahaul Spiti

ताबो गुफाएं लाहौल और स्पीति जिले में ताबो गांव में बनी हुई है। यह गुफाएं पहाड़ों पर बनी हुई है और प्राकृतिक रूप से बनी बनाई गई है। यह गुफाए ताबो मठ के पास बनी है। यहां पर आप बौद्ध मठ घूमने के लिए आते हैं। तब यहां पर भी आ सकते हैं। यह गुफाएं बौद्ध संतो के द्वारा मेडिटेशन के लिए उपयोग की जाती थी। यह गुफाएं बहुत सुंदर है।

 

धनकर मॉनेस्ट्री लाहौल और स्पीति – Dhangar Monastery Lahaul Spiti

धनकर मॉनेस्ट्री लाहौल और स्पीति जिले का एक मुख्य आकर्षण स्थल है। यह मॉनेस्ट्री धनकर गांव में बनी हुई है। प्राचीन समय में धनगर गांव लाहौल स्पीति जिले का कैपिटल हुआ करता था। यहां पर आकर आपका बहुत ही अच्छा दृश्य देख सकते हैं।

यहां पर आप स्पीति रिवर का संगम देख सकते हैं। यहां पर आपको पहाड़ों का  सुंदर दृश्य देखने के लिए मिलेगा। धनकर गांव बहुत सुंदर है। धनकर गांव में कैफे बने हुए है, जहां पर खाने पीने की सुविधा मिल जाती है। यहां पर आप हिमालय का स्थानीय भोजन खा सकते हैं। यहां पर बहुत सारे होटल मिल जाते हैं।

 

पिन वैली राष्ट्रीय उद्यान लाहौल और स्पीति – Pin Valley National Park Lahaul Spiti

पिन वैली राष्ट्रीय उद्यान लाहौल स्पीति जिले का एक मुख्य आकर्षण स्थल है। यह राष्ट्रीय उद्यान हिमाचल प्रदेश का एकमात्र राष्ट्रीय उद्यान है, जो ठंडे क्षेत्र में बना हुआ है। इस राष्ट्रीय उद्यान का कोर क्षेत्र 675 वर्ग किलोमीटर क्षेत्र में फैला हुआ है और बफर जोन 1150 वर्ग किलोमीटर क्षेत्र में फैला है।

इस राष्ट्रीय उद्यान में बहुत सारे जंगली जीव देखे जा सकते हैं। यहां पर लाल लोमड़ी, मुर्गा, गिद्ध, गोल्डन ईगल और भी बहुत सारे जंगली जानवर देखने मिलते है। यहां पर हिमालियन तेंदुआ पाया जाता है, जो एकमात्र यहीं देखा जा सकता है और कहीं यह नहीं पाया जाता है। इस पार्क में 20 से भी अधिक पक्षियों की प्रजातियां देखी जा सकती है। यहां पर जाने के लिए दो मुख्य मार्ग है।

 

किब्बर अभ्यारण लाहौल और स्पीति – Kibber Sanctuary Lahaul Spiti

किब्बर अभ्यारण लाहौल और स्पीति का एक मुख्य स्थान है। यह अभ्यारण काजा से लगभग 20 किलोमीटर दूर है। इस अभ्यारण में भेड़, ऐबक्स जैसे जानवर देखने के लिए मिल जाएंगे। यह देश का एकमात्र ठंडे क्षेत्र में बना हुआ अभ्यारण है। यह अभ्यारण 14014 वर्ग किलोमीटर क्षेत्र में फैला हुआ है। यहां पर किब्बर गांव है , जहां पर केवल 2 परिवार रहते हैं। यह बहुत सुंदर है।

 

त्रिलोकीनाथ मंदिर लाहौल और स्पीति – Trilokinath Temple Lahaul Spiti

त्रिलोकीनाथ मंदिर लाहौल स्पीति का एक प्रसिद्ध मंदिर है। यह मंदिर लाहौल स्पीति जिले में चंद्रभागा नदी के किनारे उदयपुर कस्बे में बना हुआ है। यह मंदिर बहुत प्रसिद्ध है। इस मंदिर की खास बात यह है, कि यह मंदिर हिंदू और बौद्ध धर्म के लोगों के लिए एक पवित्र स्थल है।

यहां पर हिंदू एवं बौद्ध धर्म के लोग शिव भगवान जी की पूजा करते हैं। यहां से भगवान जी की अनोखी मूर्ति देखी जा सकती है। यहां शिव भगवान जी के सिर के ऊपर बौद्ध भगवान जी की छोटी सी मूर्ति बनी हुई है, जो बहुत सुंदर लगती है। यह दुनिया का इकलौता मंदिर है ,जहां एक ही मूर्ति की पूजा दो धर्मों के लोग एक साथ करते हैं। यह मंदिर बहुत ही सुंदर तरीके से बना हुआ है।

हिंदू धर्म के लोगों का मानना है, कि इस मंदिर का निर्माण पांडवों के द्वारा किया गया है। बौद्ध धर्म के लोगों का विश्वास है, कि इस मंदिर को पद्म संभव जी ने आठवीं शताब्दी में बनवाया है। यह मंदिर कैलाश मानसरोवर के बाद सबसे पवित्र तीर्थ स्थलों में से एक है। त्रिलोकीनाथ मंदिर पर 6 महीने बर्फ पड़ती है, जिसके कारण यहां पर रास्ते बंद हो जाते हैं। यह मंदिर लोगों की आकर्षण का केंद्र है। यह मंदिर बहुत सुंदर है।

 

नाको मॉनेस्ट्री लाहौल और स्पीति – Nako Monastery Lahaul Spiti

नाको मॉनेस्ट्री लाहौल और स्पीति का मुख्य धार्मिक स्थल है। यह मठ 11वीं शताब्दी में बनाया गया था। यह मठ लाहौल स्पीति जिले में नाको नाम के गांव में बनी हुई है। यह मॉनेस्ट्री बहुत सुंदर है। यहां पर आकर घूम सकते हैं। नाको गांव में ठहरने के लिए बहुत सारे होटल हैं। आप यहां पर आ कर आराम से रूक सकते हैं। मठ के पास पार्किंग की व्यवस्था है। यहां पर आपको बहुत सारे बौद्ध संत देखने के लिए मिल जाएंगे। यहां पर अच्छा लगता है।

 

नाको झील लाहौल स्पीति – Nako Lake Lahaul Spiti

नाको झील लाहौल और स्पीति का एक मुख्य स्थान है। यह झील लाहौल स्पीति जिले में नाको गांव में बनी हुई है। यह झील बहुत बड़े एरिया में फैली हुई है। यह झील बहुत सुंदर है। इस झील में बोटिंग का भी आनंद लिया जा सकता है। झील के चारों तरफ पहाड़ और पेड़ पौधे देखे जा सकते हैं। यहां पर आप आकर अच्छा समय व्यतीत कर सकते हैं।

 

रोहतांग पास लाहौल और स्पीति – Rohtang Pass Lahaul Spiti

रोहतांग पास लाहौल और स्पीति के पास घूमने का मुख्य स्थान है। यह लाहौल और मनाली को अलग करता है। यह जगह बर्फ से ढकी रहती है। यह जगह भारत देश की सबसे ऊंची जगह है। यहां पर आपको आकर बहुत आनंद आएगा। यहां पर बहुत सारे छोटे-छोटे रेस्टोरेंट बने हुए हैं, जहां पर आप मैगी खाने का आनंद उठा सकते हैं। यहां पर आप बर्फ में खेल सकते हैं।

यह पर चारों तरफ बर्फ की वादियां देखने के लिए मिलेगी। यहां पर जून-जुलाई के समय बहुत सारे लोग घूमने के लिए आते हैं। समुद्र तल से रोहतांग पास 13050 फीट की ऊंचाई पर स्थित है। यहां पर व्यास कुंड देखने के लिए लगता है, जहां पर व्यास नदी का उद्गम हुआ है। यहां पर और भी बहुत सारी जगह है, जहां पर आप घूम सकते हैं।

 

कोकसर लाहौल और स्पीति – Koksar Lahaul Spiti

कोकसर गांव लाहौल स्पीति का सबसे पहला गांव है। यह गांव 3140 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है। यह गांव चेनाब नदी के किनारे बसा हुआ है। यहां पर आप चेनाब नदी का दृश्य देख सकते हैं। यहां पर व्यूप्वाइंट बना हुआ है, जहां से चेनाब नदी का दृश्य देखा जा सकता है।

यह गांव लेह मनाली हाईवे रोड पर स्थित है। यहां पर बहुत सारे होटल है, जहां पर आप ठहर सकते हैं। यह गांव चारों तरफ से पहाड़ों से घिरा हुआ है। यहां पर बर्फ के बड़े बड़े पहाड़ देखे जा सकते हैं। सर्दी के समय चेनाब नदी बर्फ से जम जाती है। यहां पर सड़क माध्यम से पंहुचा जा सकता है।

 

सिस्सू लाहौल और स्पीति – Sissu Lahaul Spiti

सिस्सू लाहौल और स्पीति का एक सुंदर गांव है। यह गांव भी बहुत ही आकर्षक है। यह गांव चेनाब नदी के किनारे बसा हुआ है। इस गांव में सिस्सू झील बनी हुई है। यह झील बहुत बड़े एरिया में फैली हुई है। झील का दृश्य बहुत सुंदर रहता है। यहां पर चेनाब नदी बहती है। यहां पर एक जलप्रपात भी देखा जा सकता है, जो बहुत ही आकर्षक लगता है।

इस गांव में ठहरने के लिए बहुत सारे होटल मिल जाते हैं, जहां पर आप रुक सकते हैं। यहां पर चेनाब नदी का दृश्य भी आकर्षक रहता है। यह गांव समुद्र तल से 3130 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है।

 

महादेव मंदिर मेंलिंग – Mahadev Temple Menling Lahaul Spiti

महादेव मंदिर मेंलिंग लाहौल और स्पीति का एक मुख्य मंदिर है। यह मंदिर प्राचीन है। यहां पर गर्भ ग्रह में शिवलिंग के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यहां पर गर्भ ग्रह में 3 मुख वाले शिवलिंग के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। मंदिर के बाहर बहुत सारे शिवलिंग रखे गए हैं। मंदिर में महिलाओं का प्रवेश करना वर्जित है। यह मंदिर पहाड़ों के बीच में बना हुआ है और बहुत सुंदर लगता है। यह मंदिर लाहौल स्पीति जिले में मेंलिंग गांव में बना हुआ है।

 

कुंझुम पास – Kunzhum Pass

कुंजम पास लाहौल स्पीति का प्रमुख पर्यटन स्थल है। इसकी समुद्र तल से ऊंचाई 4590 मीटर है। यह काजा से 78 किलोमीटर दूर है और लोसर से 19 किलोमीटर दूर है। यह जगह बहुत सुंदर है। यह जगह बहुत ठंडी है। यहां पर चारों तरफ बर्फ की वादियां देखी जा सकती है। यहां पर एक स्तूप बना हुआ है, जो कुंजोम माता को समर्पित है।

यहां पर बहुत सारे लोग आते हैं और माता के दर्शन करते हैं। यहां पर लोग दीवार पर सिक्के भी चिपकाते हैं। यह जगह रंग-बिरंगे झंडे से सजी हुई है और बहुत अच्छी लगती है। यहां आस-पास आपको बहुत सारे खाने-पीने के स्टाल भी देखने के लिए मिल जाते हैं। यहां पर माता की मूर्ति बहुत सुंदर है। माता यहां पर आने वालों की रक्षा करती है। कुंझुम पास पर आप मई से अक्टूबर के महीने में घूमने के लिए आ सकते हैं।

 

चंद्रताल झील लाहौल और स्पीति – Chandratal Lake Lahaul Spiti

चंद्रताल झील लाहौल और स्पीति जिले का एक मुख्य आकर्षण स्थल है। यह झील समुद्र तल से 4290 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है। यह झील एक पवित्र स्थल है। इस झील में तैरना और नहाना सख्त मना है। यह झील बहुत सुंदर है। दूर तक आप झील पर सुंदर दृश्य देख सकते हैं। इस झील में आप नीला पानी दूर तक देख सकते हैं। झील तक पहुंचने के लिए थोड़ी सी ट्रकिंग करनी पड़ती है।

यह झील कुंझुम पास से करीब 9 किलोमीटर दूर है। यह जगह प्राकृतिक है। यहां पर अच्छा समय बिताया जा सकता है। इसके बारे में बहुत सारी कहानियां भी प्रसिद्ध है। चंद्रताल झील के पास में कैंपिंग की सुविधा उपलब्ध है। यहां पर आप कैंपिंग का आनंद ले सकते हैं।

 

शाशूर मॉनेस्ट्री केलॉन्ग लाहौल और स्पीति – Shashoor Monastery Keylong Lahaul Spiti

शाशूर गोम्पा मॉनेस्ट्री केलॉन्ग में स्थित है। यह मोनेस्ट्री बहुत सुंदर है। यह मॉनेस्ट्री ऊंची पहाड़ी पर बनी हुई है। पहाड़ी के चारों तरफ पाइन के पेड़ देखे जा सकते हैं। शासुर का मतलब होता है – नीले रंग के पाइन के पेड़। यह मॉनेस्ट्री गोम्पा जांगस्कर के लामा देव ग्यात्शो द्वारा 17 वीं सी ई में स्थापित हुई थी, जो भूटान के राजा नवांम नामग्याल के मिशनरी थे। यह लाहौल और स्पीति की सबसे सुंदर जगह है। यहां पर आप आकर अच्छा समय व्यतीत कर सकते हैं। यहां पर चारों तरफ पहाड़ियों का दृश्य देखा जा सकता है।

यहां पर आप आकर बौद्ध संतो को देख सकते हैं। उनकी जीवनशैली को देख सकते हैं। यहां पर मैडिटेशन किया जा सकता है। यह जगह बहुत शांत है। यहां पर आपको बड़े बड़े प्रेयर व्हील देखने के लिए मिलते हैं, जिन्हें घुमाकर प्रार्थना की जाती है।

 

सूरजताल लाहौल और स्पीति – Surajtal Lahaul Spiti

सूरजपाल लाहौल और स्पीति जिले में स्थित एक सुंदर झील है। यह झील बारालाचा पास के पास स्थित है। यह झील बहुत सुंदर है। इसके चारों तरफ पहाड़ी है। यह झील नीली कलर की है और बहुत ही आकर्षक लगती है। यह झील 4890 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है।

यहां पर आकर अच्छा समय बिताया जा सकता है। सर्दियों के दौरान यह झील जम जाती है। गर्मियों में आपको गहरा नीले रंग का पानी देखने के लिए मिलता है। झील के किनारे बहुत सारे स्टॉल लगे हुए हैं, जहां पर खाने पीने का सामान मिल जाता है।

यह भी पढ़े :- बिलासपुर (हिमाचल प्रदेश) में घूमने की जगह

की मॉनेस्ट्री लाहौल और स्पीति – Key Monastery of Lahaul Spiti

की मॉनेस्ट्री लाहौल और स्पीति जिले का एक मुख्य आकर्षण स्थल है। यह स्पीति वैली में स्थित बुद्धिस्ट लर्निंग का एक बहुत बड़ा केंद्र है। यह मॉनेस्ट्री 1000 साल से भी ज्यादा पुरानी है। यह मॉनेस्ट्री बहुत सुंदर है। यह मठ ऊंची पहाड़ी पर बनी हुई है और बहुत ही आकर्षक लगती है। यहां पर आप घूमने के लिए आ सकते हैं। यहां पर मैडिटेशन किया जा सकता है। यहां पर बहुत शांति मिलती है।

यह मठ समुद्र तल से 13000 फीट की ऊंचाई पर स्थित है। यहां पर आपको दुर्लभ पांडुलिपियों, छवियां देखने के लिए मिलती है। यहां पर दुनिया भर से श्रद्धालु आते हैं। यहां पर हर साल दलाई लामा द्वारा कालचक्र समारोह आयोजित किया जाता है, जिसमें बहुत सारे श्रद्धालु आते हैं।

 

लाहौल और स्पीति कैसे आए – How to reach to Lahaul Spiti

लाहौल स्पीति भारत का एक मुख्य शहर है। लाहौल स्पीति में बहुत सारे आकर्षण है, जो देखने लायक है। यहां पर हर साल बहुत सारे पर्यटक आते हैं। लाहौल स्पीति में पहुंचने के लिए परिवहन के साधन उपलब्ध हैं। लाहौल और स्पीति आने के लिए सड़क माध्यम उपलब्ध है। आप यहां पर सड़क माध्यम द्वारा बहुत आसानी से पहुंच सकते हैं।

यह भी पढ़े :- ऊना के दर्शनीय स्थल

लाहौल स्पीति में सड़क मार्ग द्वारा कैसे पहुंचे – How to reach Lahaul Spiti by road

लाहौल और स्पीति आने के लिए सबसे अच्छा माध्यम है – सड़क माध्यम। आप सड़क माध्यम के द्वारा यहां पर घूम सकते हैं। यहां पर आप अपने वाहन से आएंगे, तो बहुत ही बढ़िया रहेगा। यहां पर कार , बाइक और कुछ लोग अपने स्वयं के वाहन से यात्रा करते है।

सभी परिवहन के माध्यम का अपना एक अलग ही अनुभव रहता है। यहां पर आप बर्फ की वादियां देखने के लिए मिलेगी। इसके अलावा आपको बर्फ की रोड देखने के लिए मिलेगी। यहां पर बर्फ से रोड ढक जाती है। यहां पर यात्रा करके आपको मजा आएगा।

 

लाहौल स्पीति में हवाई मार्ग द्वारा कैसे पहुंचे – How to reach Lahaul Spiti by air

लाहौल और स्पीति का सबसे नजदीक हवाई अड्डा कुल्लू में स्थित है। कुल्लू में भिंतुर में हवाई अड्डा बना हुआ है, जहां पर आप आ सकते हैं और उसके बाद सड़क माध्यम से लाहौल स्पीति पहुंच सकते हैं।

 

लाहौल स्पीति में रेल मार्ग द्वारा कैसे पहुंचे – How to reach Lahaul Spiti by train

लाहौल और स्पीति जिले का सबसे नजदीकी रेलवे स्टेशन जोगिंदर नगर में बना हुआ है। आप रेल माध्यम से लाहौल और स्पीति आना चाहते हैं, तो आपको सबसे पहले जोगिंदर नगर रेलवे स्टेशन आना होगा। और उसके बाद सड़क माध्यम से लाहौल में स्पीति जा सकते हैं।

यह भी पढ़े :- सिरमौर के प्रमुख पर्यटन स्थल

लाहौल और स्पीति में रहने की सुविधा – Accommodation in Lahaul and Spiti

लाहौल और स्पीति में ठहरने के लिए बहुत सारे होटल और होमस्टे उपलब्ध रहते हैं। यहां पर आपको सरकारी रेस्ट हाउस और होटल मिल जाते हैं। यहां पर आप अपनी सुविधा के अनुसार ठहर सकते हैं। यहां पर आप होटल की बुकिंग ऑनलाइन कर सकते हैं। यहां पर छोटे-छोटे गांव बने हुए हैं, जहां पर ठहरने के लिए होटल या होम स्टे आराम से मिल जाते हैं। यहां पर आप होटल की बुकिंग ऑनलाइन कर सकते हैं।

यह भी पढ़े :- संत कबीर नगर के प्रमुख दर्शनीय स्थल

लाहौल और स्पीति में आने का सबसे अच्छा समय – Best time to visit in Lahaul Spiti

लाहौल और स्पीति में आने का सबसे अच्छा समय जून-जुलाई का रहता है। यहां पर उस समय ठंडा मौसम रहता है। बाकी समय यहां पर बर्फ जमी रहती है। इसलिए आप ज्यादा इंजॉय नहीं कर पाएंगे और रास्तों में भी रहती है, जिससे आप का आवागमन नहीं हो पाएगा। इसलिए आप जून-जुलाई के समय आइए और यहां पर घूमने आपको मजा आएगा।

यह भी पढ़े :- मैनपुरी में घूमने की जगह

यह लेख आपकी जानकारी के लिए लिखा गया है, अगर आपको अच्छा लगे, तो इसे शेयर जरूर करें।

Leave a Comment