केन घड़ियाल अभयारण्य मध्य प्रदेश – Beautiful Ken Gharial Sanctuary Madhya Pradesh

केन घड़ियाल अभ्यारण्य (Ken Gharial Sanctuary) मध्य प्रदेश का एक प्रमुख पर्यटन स्थल है। केन घड़ियाल अभ्यारण्य (Ken Gharial Sanctuary) मुख्य रूप से मगरमच्छ और घड़ियाल के संरक्षण के लिए बनाया गया एक मुख्य स्थल है। यहां पर आकर आप मगरमच्छ और घड़ियाल को देख सकते हैं। केन घड़ियाल अभ्यारण मध्य प्रदेश के छतरपुर जिले के पास में स्थित है। आप यहां पर आसानी से आ सकते हैं। आप यहां पर जाकर अपना अच्छा समय व्यतीत कर सकते हैं।

केन घड़ियाल अभयारण्य खजुराहो मध्य प्रदेश की जानकारी – Information about Ken Gharial Sanctuary Khajuraho Madhya Pradesh

केन घड़ियाल अभ्यारण्य (Ken Gharial Sanctuary) मध्य प्रदेश के छत्तीसगढ़ जिले के पास घूमने का एक मुख्य स्थान है। यह विश्व प्रसिद्ध खजुराहो से करीब 30 किलोमीटर दूर है। यहां पर आप आसानी से आ सकते हैं। यहां पर आने के लिए सड़क मार्ग बना हुआ है। यहां पर आकर आपको घना जंगल देखने के लिए मिलता है, जिसमें आपको ढेर सारे जंगली जानवर देखने के लिए मिलते हैं।

केन घड़ियाल अभ्यारण्य (Ken Gharial Sanctuary) में केन नदी बहती है। केन नदी मध्य प्रदेश की प्रमुख नदी है। केन नदी में पूरे भारत में प्रसिद्ध रनेह जलप्रपात बनता है, जिसे देखने के लिए पूरे विश्व से लोग आते हैं। जलप्रपात के थोड़ा आगे ही आपको केन घड़ियाल अभ्यारण देखने के लिए मिलता है।

केन घड़ियाल अभ्यारण्य (Ken Gharial Sanctuary) घड़ियालों एवं मगरमच्छ को देखने के लिए एक अच्छा स्थान है। केन घड़ियाल अभ्यारण्य (Ken Gharial Sanctuary) छतरपुर जिलें (Chhatarpur district) में स्थित है। यह मध्यप्रदेश का एक दर्शनीय स्थल है। इस सेंचुरी पर आपको घड़ियालों एवं मगरमच्छ के अलावा अन्य जंगली जानवर जैसे मोर, हिरण, नीलगाय, एंटीलोप भी देखने मिल जाते है।

केन घड़ियाल अभ्यारण्य (Ken Gharial Sanctuary) आप अपने वाहन या पब्लिक ट्रांसपोर्ट से आ सकते हैं। यहां पर आप अपने बाइक और कार से आराम से आ सकते हैं। यह अभ्यारण खजुराहो से करीब 30 किलोमीटर दूर है। यहां पर आने के लिए पक्की सड़क उपलब्ध है। रास्ते में  आपको ढेर सारे पीने की दुकान मिलती हैं, जहां पर आप खाना पीना या नाश्ता करते हुए आ सकते हैं, क्योंकि अभ्यारण के अंदर किसी भी तरह की कोई दुकान नहीं है। इस अभ्यारण में एक कैंटीन है, जो रनेह जलप्रपात के पास में बनी हुई है।

केन घड़ियाल अभ्यारण के एंट्री गेट के पास में ही टिकट काउंटर बना हुआ है। यहां पर आपको एंट्री गेट में प्रवेश के लिए शुल्क देना पड़ता है। यहां पर कार और बाइक के लिए अलग-अलग शुल्क लिया जाता है। अगर आप यहां पर टैक्सी या बस का प्रयोग करते हैं, तो उसके लिए अलग शुल्क लिया जाता है।

यहां पर आपको एक गाइड दिया जाता है, जो आपको इस जगह के बारे में संपूर्ण जानकारी देता है। गाइड का चार्ज अलग लगता है। मगर बहुत कम रहता है। आप अगर यहां जाते हैं, तो आप गाइड जरूर करें, ताकि गाइड आपके यहां के बारे में सभी जानकारी दे सके।

टिकट लेने के बाद आप अपनी गाड़ी से अभ्यारण के अंदर प्रवेश कर सकते हैं। आप गाइड के साथ सेंचुरी में प्रवेश करते हैं। आप सेंचुरी में प्रवेश करते हैं, तो आपको चारों तरफ जंगल देखने मिलता है। यहां पर आपको जंगल एरिया मिलता है। रास्ते के दोनों तरफ घना जंगल है। आपके यहां पर जंगली जानवर भी देखने के लिए मिल सकते हैं।

एंट्री गेट से करीब 2 किलोमीटर अंदर जाने पर रनेह जलप्रपात देखने के लिए मिलता है, जो बहुत खूबसूरत है और आप इस जलप्रपात को देख सकते हैं। अगर आपको चाय या कॉफी पीनी है, तो यहां पर कैंटीन बनी हुई है, जहां पर आपको चाय या कॉफी मिल जाती है।

आप रनेह जलप्रपात को देखने के बाद आगे जाते हैं, तो आपके यहां पर जंगल का खूबसूरत दृश्य देखने के लिए मिलता है। यहां पर चारों तरफ हरियाली देखने के लिए मिलती है। चारों तरफ पेड़ पौधे लगे हुए हैं।

जंगल के बीच खूबसूरत रास्ता बना हुआ है। यह रास्ता कच्चा है। मगर आप यहां पर अपनी बाइक और कार से आराम से जा सकते हैं। रास्ते में आपको ढेर सारे जंगली जानवर देखने के लिए मिल जाते हैं। आप जानवरों को परेशान ना करें।

अगर आप यहां बरसात के टाइम में आते हैं, तो यह जंगल हरियाली से भरा रहता है। अगर आप गर्मी के समय आते हैं, तो आपको यहां पर हरियाली कम देखने मिलती है। आप इस रास्ते में आगे जाएंगे, तो आपको हरियाली से भरे पेड़ पौधे देखने के लिए मिलेंगे। आपको यहां पर वॉच टावर देखने के लिए मिलता है, जिसके ऊपर जाकर आप चारों तरफ का दृश्य देख सकते हैं।

आप इस वॉच टावर से रनेह जलप्रपात की चट्टानों को देख सकते हैं, जो बहुत खूबसूरत लगती है। यह चट्टानें करीब 5 किलोमीटर के दायरे में फैली हुई है। वॉच टावर से आपको जंगली जानवर भी देखने के लिए मिलते हैं। आप यहां पर दूरबीन लेकर जाएंगे तो बहुत बढ़िया रहेगा।

वॉच टावर में घूमने के बाद आप जंगल में आगे बढ़ेंगे, तो करीब दो या तीन किलोमीटर आगे जाने पर आपको एक स्पॉट देखने के लिए मिलता है, जहां से आप मगरमच्छ और घड़ियाल को देख सकते हैं। यहां पर एक चौकी बनी हुई है, जहां पर वन विभाग के कर्मचारी रहते हैं और यहां पर एक व्यूप्वाइंट बनाया गया है, जहां से आप केन नदी पर घड़ियाल और मगरमच्छ को देख सकते हैं ,

यहां पर आप घड़ियाल और मगरमच्छ को नदी में आराम करता हुआ देख सकते हैं या नदी में तैरता हुआ देख सकते हैं। घड़ियाल और मगरमच्छ में अंतर होता है। घड़ियाल मगरमच्छ के जैसे ही होते हैं, मगर उनका मुंह लम्बा होता है। यहां पर आपको ढेर सारे मगरमच्छ और घड़ियाल देखने के लिए मिल जाते हैं। यह जगह बहुत खूबसूरत है।

यहां पर केन नदी का दृश्य भी अद्भुत रहता है। इस जगह में किसी भी प्रकार के खाने-पीने की व्यवस्था नहीं है। अगर आप यहां पर जाते हैं, तो अपने साथ पानी जरूर लेकर जाएं, क्योंकि यह जगह जंगल के अंदर स्थित है और यहां पर आपको प्यास लगेगी तो आपके पास पानी नहीं रहेगा। बाकी ये जगह बहुत खूबसूरत है।

यहां पर आपको दूरबीन जरूर लेकर जाना है, क्योंकि दूरबीन से ही आप मगरमच्छ एवं घड़ियाल को देख सकते हैं। अगर आपके पास दूरबीन नहीं रहेगा, तो आपको मगरमच्छ और घड़ियाल देखने के लिए नहीं मिलेंगे। वैसे आप यहां पर जो गाइड लेकर जाते हैं, उनके पास दूरबीन रहता है। आप उनके दूरबीन से देख सकते हैं। अगर आपको शौक है, तो आप अपने पास दूरबीन रख सकते हैं।

केन घड़ियाल अभ्यारण्य (Ken Gharial Sanctuary) में आपको बहुत सारे जंगली जानवर देखने मिल सकते हैं। यहां पर आपको बहुत सारे पक्षी भी देखने मिल सकते हैं जैसे मोर और कई तरह की चिड़िया यहां पर आप देख सकते हैं। यहां पर आपको नीलगाय, हिरण, एंटीलोप जैसे बहुत से जंगली जानवर देखने मिल सकते हैं।

यहां पर आप खुदार नदी और केन नदी का संगम भी हुआ है, जो बहुत अच्छा दृश्य प्रदान करता है। इसी संगम स्थल पर आपको ढेर सारे मगरमच्छ भी देखने मिल जाते हैं। यहां पर जो चट्टाने आपको देखने मिलती है वह आग्नेय चट्टान रहती हैं, जो ज्वालामुखी विस्फोट से बनी हुई है।

केन घड़ियाल अभ्यारण्य (Ken Gharial Sanctuary) में आपको एक पुराना महल का खंडहर भी देखने मिलता है, जो पूरी तरह से खंडहर में तब्दील हो गया है। इस महल में यह के शासक रहा करते थे। यहां पर एक संग्रहालय भी है, जहां पर झरनें के अनेक चित्र एवं विभिन्न पशु पक्षियों के चित्र देख सकते हैं।

आपके केन घड़ियाल सेंचुरी में आकर अपना अच्छा समय बिता सकते हैं। यह जगह बहुत प्यारी है। आप यहां पर अपने दोस्तों और परिवार वालों के साथ आ सकते हैं। अगर आप प्राकृतिक प्रेमी है, तो आप यहां पर जरूर आए।

यह भी पढ़े :- नरसिंहगढ़ वन्यजीव अभयारण्य मध्यप्रदेश 

केन घड़ियाल अभ्यारण्य में घूमने का सबसे अच्छा समय – Best time to visit in Ken Gharial Sanctuary

केन घड़ियाल अभ्यारण्य (Ken Gharial Sanctuary) में घूमने का सबसे अच्छा समय ठंड का रहता है। अगर आप यहां पर मगरमच्छ और घड़ियाल देखने के लिए आना चाहते हैं, तो आप ठंड में आए। क्योंकि आपको बरसात में यहां पर मगरमच्छ और घड़ियाल देखने के लिए नहीं मिलेंगे, क्योंकि बरसात में बाढ़ आ जाती है, जिससे मगरमच्छ और घड़ियाल बह जाते हैं और जो कुछ घड़ियाल और मगरमच्छ रहते हैं। वह ऊपर की ओर चढ़ जाते हैं। इसलिए आपको यहां पर बरसात में मगरमच्छ देखने के लिए नहीं मिलेंगे, आप यहां पर ठंड में आ सकते हैं।

यह भी पढ़े :- रानी दुर्गावती वन्यजीव अभ्यारण्य दमोह

केन घड़ियाल अभयारण्य कहाँ स्थित है – Where is Ken Gharial Sanctuary located

केन घड़ियाल अभयारण्य (ken gharial sanctuary) मध्यप्रदेश की एक प्रसिध्द अभयारण्य है। यह मध्यप्रदेश के छतरपुर जिलें (Chhatarpur district) में स्थित है। यह अभयारण्य छतरपुर जिलें (Chhatarpur district) से करीब 60 किलोमीटर दूर है एवं विश्वप्रसिध्द खजुराहो से करीब 30 किलोमीटर दूर होगा। आप इस अभयारण्य तक अपनी गाड़ी से या फिर किराए के वाहन से आसानी से पहुंच सकते है। यह तक आने के लिए अच्छी सडक है।

यह भी पढ़े :- डुमना नेचर पार्क जबलपुर

यह लेख आपकी जानकारी के लिए लिखा गया है। आपको अच्छा लगे, तो शेयर जरूर करें।

 

Leave a Comment