झोतेश्वर मंदिर जबलपुर –  Holy Jhoteshwar Temple Jabalpur

झोतेश्वर मंदिर मध्य प्रदेश (Jhoteshwar mandir Madhya Pradesh) का प्रसिद्ध मंदिर है। झोतेश्वर मंदिर मध्य प्रदेश (Jhoteshwar mandir Madhya Pradesh) के नरसिंहपुर जिले में स्थित है। यह मंदिर नरसिंहपुर के गोटेगांव तहसील में स्थित है। यह मंदिर श्री त्रिपुर सुंदरी राजराजेश्वरी माता को समर्पित है। यह मंदिर बहुत ही अच्छी तरह से बनाया गया है। यह मंदिर एक पहाड़ी पर बना हुआ है। आप इस जगह पर घूमने के लिए आ सकते हैं।

झोतेश्वर मंदिर गोटेगांव नरसिंहपुर की जानकारी – Information about Jhoteshwar Temple Gotegaon Narsinghpur

झोतेश्वर मंदिर नरसिंहपुर जिले (Jhoteshwar Temple Narsinghpur District) का एक प्रमुख पर्यटन स्थल है। यह मंदिर बहुत प्रसिद्ध है। यह मंदिर नरसिंहपुर जिले के गोटेगांव में स्थित है। झोतेश्वर मंदिर (Jhoteshwar Temple) को ज्योर्तेश्वर मंदिर (Jyoteshwar temple) भी कहते हैं। यह मंदिर अनेक नामों से प्रसिद्ध है।

इस मंदिर को गोटेगांव का मंदिर (Gotegaon ka mandir), श्रीधाम मंदिर (shreedham mandir), झोतेश्वर का मंदिर (jhoteshwar ka mandir), मां राजराजेश्वरी त्रिपुर सुंदरी मंदिर (Maa Raj Rajeshwari Tripur sundari mandir), गोटेगांव मंदिर (gotegaon mandir), भी कहा जाता है। इस मंदिर में आपको मां राजराजेश्वरी के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यह मंदिर बहुत सुंदर है।

यह मंदिर एक ऊंची पहाड़ी पर बना हुआ है। इस मंदिर के पास आपको बहुत सारे मंदिर देखने के लिए मिलते हैं। झोतेश्वर मंदिर के पास में आपको यज्ञशाला, लक्ष्मी नारायण मंदिर, श्री परमहंसी गंगा मंदिर, राधा कृष्ण मंदिर, मणिदीप शंकराचार्य आश्रम, रामबीर वाटिका, हनुमान टेकड़ी, विचार शिला, श्री कामेश्वर महादेव जी का मंदिर और शिव मंदिर देखने के लिए मिल जाता है।

झोतेश्वर मंदिर (Jhoteshwar Temple) में आप घूमने के लिए किसी भी मौसम में जा सकते हैं। यह मंदिर हर समय बहुत ही सुंदर लगता है। बस आप इस मंदिर में घूमने जाते हैं, तो समय का विशेष ध्यान रखें, क्योंकि यह मंदिर 12 बजे के बाद बंद हो जाता है। झोतेश्वर मंदिर (Jhoteshwar Temple) में जाने के लिए आप अपनी गाड़ी से या बाइक से जा सकते हैं।

इस मंदिर में जाने के लिए अच्छी सड़क उपलब्ध है। झोतेश्वर मंदिर गोटेगांव से करीब 13 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। आप यहां पर बाइक और कार से पहुंच सकते हैं। गोटेगांव से झोतेश्वर का रास्ता बहुत ही सुंदर है। यहां पर आपको गांव के दृश्य देखने के लिए मिलते हैं, क्योंकि यह जगह शहरीकरण से दूर है।

यहां पर बड़े-बड़े खेत और गांव देखने के लिए मिल जाते हैं। जब आप मंदिर पहुंचते हैं, तो मंदिर का प्रवेश द्वार देखने के लिए मिलता है, जो बहुत सुंदर है। प्रवेश द्वार में के पास में प्रसाद की दुकान और होटल मिल जाती है। आप इस प्रवेश द्वार से अंदर प्रवेश करते हैं, तो आपको पहाड़ी के ऊपर जाना पड़ता है। वैसे यहां पर पहाड़ी के ऊपर तक जाने के लिए सड़क मिल जाती है।

आप झोतेश्वर मंदिर (Jhoteshwar Temple) के पास जितने भी मंदिर बने हुए हैं। उन सभी मंदिरों को अपनी गाड़ी से आराम से घूम सकते हैं। आप अपनी गाड़ी झोतेश्वर मंदिर (Jhoteshwar Temple) के नीचे ही खड़ी कर सकते हैं। यहां पर पार्किंग की जगह बनी हुई है और मंदिर में जाने के लिए सीढ़ियां बनी हुई है। सीढ़ियां से आप मंदिर के ऊपर पहुंचते हैं, तो आपको झोतेश्वर मंदिर देखने के लिए मिलता है।

झोतेश्वर मंदिर (Jhoteshwar Temple) पर छत पर आपको कमल के फूलों की सुंदर नक्काशी देखने के लिए मिलती है, जो बहुत ही सुंदर लगती है। मुख्य मंदिर में आपको राजराजेश्वरी माता के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यहां पर बहुत बड़ा झूमर भी लगा हुआ है, जो बहुत सुंदर लगता है। मंदिर का ऊपर का हिस्सा दक्षिण भारतीय शैली में बना हुआ है, जो बहुत ही सुंदर लगता है।

मंदिर के सबसे ऊपरी सिरे में आपको कलश देखने के लिए मिलता है। यह कलश सोने का है। मंदिर में आपको एक लाइन से बहुत सारे देवियों के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यह सारी प्रतिमाएं पत्थर की बनी हुई है और मंदिर की दीवारों पर विराजमान है। यहां पर आपको नौ देवियों के दर्शन करने के लिए भी मिलते हैं। झोतेश्वर मंदिर (Jhoteshwar Temple) के बाजू में आपको यज्ञशाला देखने के लिए मिल जाती है। यज्ञशाला में हवन किया जाता है। यहां पर जब भी झोतेश्वर मंदिर में कोई उत्सव मनाया जाता है, तो यहां पर हवन होते हैं।

यह भी पढ़े :- मठ घोघरा जलप्रपात सिवनी – Math Ghogra Falls and Caves Lakhnadon Seoni

ज्योर्तेश्वर में घूमने के लिए अन्य प्रसिद्ध मंदिर – Other famous temples to visit in Jyoteshwar

  • हनुमान टेकरी (Hanuman Tekri jhoteshwar)
  • श्री राधा कृष्ण मंदिर (Sri Radha Krishna Temple jhoteshwar)
  • गुरु गुफा (Guru cave jhoteshwar)
  • श्री परमहंसी गंगा मंदिर (Sri Paramahamsi Ganga Temple jhoteshwar)
  • लक्ष्मी नारायण मंदिर (Laxmi Narayan temple jhoteshwar)
  • जम्बीर वाटिका (Jambir Vatika jhoteshwar)
  • श्री कामेश्वर महादेव मंदिर (Shri Kameshwar Mahadev Temple jhoteshwar)
  • विचार शिला (vichaar shila jhoteshwar)
  • मणिदीप (manideep jhoteshwar)
  • परमहंसी आश्रम झोतेश्वर (Paramhansi Jhoteshwar)

 

हनुमान टेकरी झोतेश्वर – Hanuman Tekri Jhoteshwar

हनुमान टेकरी झोतेश्वर में सबसे ऊंचे स्थान पर स्थित है। यह मंदिर पहाड़ी की चोटी में स्थित है। यह मंदिर हनुमान जी को समर्पित है। मंदिर में हनुमान जी की बहुत सुंदर प्रतिमा देखने के लिए मिलती है। यहां पर बहुत सारे बंदर भी देखने के लिए मिलते हैं। यहां से आप चारों तरफ के सुंदर दृश्य को देख सकते हैं। यहां पर पीने के पानी के लिए एक हेड पंप लगा हुआ है।

 

लक्ष्मी नारायण मंदिर – Lakshmi Narayan Temple Jyoteshwar

लक्ष्मी नारायण मंदिर ज्योर्तेश्वर का एक सुंदर मंदिर है। इस मंदिर में आपको श्री राम जी के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यह मंदिर ज्योर्तेश्वर मंदिर के पास ही में स्थित है।

 

श्री राधा कृष्ण मंदिर – Shree Radha Krishna Temple Jhotshwar

श्री राधा कृष्ण मंदिर झोतेश्वर मंदिर के पास में स्थित एक सुंदर मंदिर है। यह मंदिर श्री राधा और कृष्ण जी को समर्पित है। इस मंदिर में श्री राधा कृष्ण जी की बहुत ही सुंदर मूर्ति देखने के लिए मिलती है।

 

शिव मंदिर झोतेश्वर – Shiva temple jhoteshwar

आपको यहां पर शिव मंदिर भी देखने के लिए मिलता है। यहां पर आपको स्फटिक शिवलिंग दर्शन करने के लिए मिल जाते हैं।

झोतेश्वर की सभी जगह में आप पैदल भी घूम सकते हैं और अपनी गाड़ी से भी घूम सकते हैं। झोतेश्वर मंदिर (Jhoteshwar Temple) में आपको परमहंसी गंगा मंदिर के पास में गंगा माता के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। इसके अलावा आपको यहां पर एक कुआं भी देखने के लिए मिलता है, जिसमें से पानी बहता रहता है। यह कुआ देखने में बहुत पुराना लगता है। यहां पर टैंक बने हुए हैं, जिनमें कुआं का पानी बहकर आता है और टैंक में आपको मछलियां देखने के लिए मिलती हैं। यह पानी गर्मियों में भी आपको बहता हुआ देखने के लिए मिलेगा।

यह भी पढ़े :- जानकी कुंड चित्रकूट

झोतेश्वर में रुकने की सुविधा – Accommodation facility in Jyorteshwar

झोतेश्वर में रुकने के लिए आपको आश्रम मिल जाता है। आश्रम में आप मंदिर के संस्था से परमिशन लेकर ठहर सकते हैं। यहां पर होटल वगैरह की सुविधा उपलब्ध नहीं है। आप आश्रम में ही रुक सकते हैं।

 

झोतेश्वर मंदिर में आने का सबसे अच्छा समय – Best time to visit Jhoteshwar Temple

झोतेश्वर मंदिर में आने का सबसे अच्छा समय नवरात्रि है। यहां पर नवरात्रि के समय पूरे देश से भक्त लोग दर्शन करने के लिए आते हैं। नवरात्रि के समय मंदिर को बहुत अच्छे से सजाया जाता है। नवरात्रि के समय यहां पर मेले का आयोजन भी होता है। आप यहां पर नवरात्रि में आकर मंदिर में श्री तिरुपुर सुंदरी माता के दर्शन कर सकते हैं। वैसे आप इस मंदिर में कभी भी घूमने के लिए आ सकते हैं।

यह भी पढ़े :- नरसिंह मंदिर नरसिंहपुर

झोतेश्वर मंदिर का समय – Jhoteshwar temple timings

ज्योर्तेश्वर मंदिर में आने से पहले आपको इसके समय का ज्ञान जरूर होना चाहिए, क्योंकि अगर आप मंदिर में समय से नहीं आएंगे, तो आपको माता के दर्शन करने के लिए नहीं मिलेंगे। झोतेश्वर मंदिर के खुलने का समय सुबह 6 बजे है।

आपको मंदिर में 6:00 बजे से 12 बजे तक माता के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। 12:00 बजे के बाद मंदिर का द्वार बंद हो जाता है और माता के दर्शन करने के लिए नहीं मिलते हैं। इसलिए अगर आप यहां पर 12:00 के पहले आते हैं तो आप माता के दर्शन कर सकते हैं। आप शाम को 5:00 के बाद माता के दर्शन कर सकते हैं।

यह भी पढ़े :- बरमान घाट नरसिंहपुर

झोतेश्वर मंदिर कहां पर है – Where is the jhoteshwar temple

झोतेश्वर मंदिर नरसिंहपुर (Jhoteshwar Temple Narsinghpur) का एक प्रसिद्ध मंदिर है। यह मंदिर नरसिंहपुर के गोटेगांव तहसील (Gotegaon Tehsil) में स्थित है। गोटेगांव तहसील (Gotegaon Tehsil) से यह मंदिर करीब 13 किलोमीटर दूर है। आप इस मंदिर में गाड़ी से आराम से पहुंच सकते हैं। इस मंदिर में आप ट्रेन के माध्यम से भी आ सकते हैं। गोटेगांव रेलवे स्टेशन (Gotegaon Railway Station) बहुत प्रसिद्ध है।

गोटेगांव रेलवे स्टेशन (Gotegaon Railway Station) श्रीधाम गोटेगांव रेलवे स्टेशन (Shridham Gotegaon Railway Station) के नाम से प्रसिद्ध है। यहां पर बहुत सारे भक्त ज्योर्तेश्वर मंदिर में घूमने के लिए आते हैं और स्टेशन में आपको ज्योर्तेश्वर जाने के लिए ऑटो और बस की सुविधा मिल जाती है। आप अगर कम बजट रखते हैं, तो आप बस से जा सकते हैं और आपका बजट अगर ज्यादा है, तो आप ऑटो बुक करके यहां पर जा सकते हैं।

यह भी पढ़े :- नरसिंहपुर जिले के दर्शनीय स्थल

जबलपुर से झोतेश्वर कैसे पहुंचे – How to reach Jhoteshwar from Jabalpur

झोतेश्वर मंदिर जबलपुर (Jhoteshwar Temple Jabalpur) के पास में स्थित एक प्रसिद्ध पर्यटन स्थल है। जबलपुर से झोतेश्वर की दूरी करीब 80 किलोमीटर है। जबलपुर से झोतेश्वर जाने के लिए आप दो माध्यमों का प्रयोग कर सकते हैं। एक है सड़क माध्यम और दूसरा है रेल माध्यम। जबलपुर से डायरेक्ट झोतेश्वर के लिए ट्रेन मिल जाती है और आप सड़क माध्यम से जाते हैं, तो आप चरगवां से जा सकते हैं। या आप चाहे तो जबलपुर भोपाल हाईवे सड़क से भी जा सकते हैं।

चरगवां रोड आपको बहुत जल्दी झोतेश्वर पहुंचा देगी। झोतेश्वर जबलपुर से करीब 80 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। झोतेश्वर पहुंचने के लिए सड़क बहुत ही अच्छी है और आप बहुत आसानी से ज्योतिश्वर पहुंच जाएंगे। अगर आप ट्रेन का यूज करते हैं, तो आपको रेलवे स्टेशन के बाहर ही बहुत सारी बस और ऑटो मिल जाएगी, जिससे आप झोतेश्वर पहुंच सकते हैं।

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो, तो आप इसे शेयर जरूर करें।

Leave a Comment