गौमुख घाट ओमकारेश्वर – Holy Gaumukh Ghat Omkareshwar

गौमुख घाट ओंकारेश्वर (Gaumukh Ghat Omkareshwar) का एक मुख्य दर्शनीय स्थल है। गोमुख घाट (Gaumukh Ghat) मुख्य रूप से नौकायन के लिए प्रसिद्ध है। यहां से आप नर्मदा नदी में नौकायन के लिए नाव की बुकिंग कर सकते हैं। गोमुख घाट बहुत सुंदर है और इस घाट में आकर आपको अच्छा लगेगा। अगर आप ओंकारेश्वर आते हैं, तो इस घाट में जरूर आएं और यहां पर सकारात्मक वातावरण को महसूस करें।

गोमुख घाट ओंकारेश्वर की जानकारी – Information about Gomukh Ghat Omkareshwar

गौ घाट ओंकारेश्वर (Gaumukh Ghat Omkareshwar) की एक सुंदर जगह है। गऊघाट या गोमुख घाट ओमकारेश्वर (Gaumukh Ghat Omkareshwar) में स्थित एक अच्छी जगह है। यह एक प्रमुख घाट है। यह घाट नर्मदा नदी के किनारे बना हुआ है। यह घाट ओमकारेश्वर मंदिर के सामने है। यह घाट बहुत अच्छी तरह से बनाया गया है। यहां पर सभी प्रकार की सुविधा उपलब्ध है।

भारत देश के विभिन्न हिस्सों से आने वाले लोग ओंकारेश्वर आकर सबसे पहले गऊघाट में जाकर स्नान करते हैं। यहां पर स्नान के लिए अच्छी व्यवस्था है। यहां पर महिलाओं के लिए चेंजिंग रूम बने हुए हैं, जहां पर महिलाएं आराम से कपड़े चेंज कर सकती हैं। स्नान करने के बाद, तैयार होकर और पूजा का सामान लेकर आप गऊघाट से नाव की बुकिंग कर सकते हैं और उसके बाद ओंकारेश्वर मंदिर की ओर जा सकते है।

ओंकारेश्वर मंदिर में नाव से जाने का ₹20 लगता है। गऊघाट से ओंकारेश्वर मंदिर जाने में बहुत आनंद आता है। यहां पर नाव की सवारी का अलग ही मजा है। नर्मदा माता की लहरों के बिच में नाव चलती है, तो बहुत अच्छी लगती है। गौ घाट में आपको भगवान शिव के भी दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यहां पर भगवान शिव का छोटा सा शिवलिंग रखा हुआ है, जो बहुत सुंदर है।

इस घाट को गऊघाट या गौमुख घाट (Gaumukh Ghat) इसलिए कहा जाता है, क्योंकि यहां पर गाय के मुख से पानी बहता है। यह पानी पर्वतों से रिसता है और यहां पर गौमुख से निकलता है। गाय का मुख पत्थर का बनाया गया है, जिससे पानी बहता है। इसलिए इस घाट को गौमुख या गऊघाट के नाम से जाना जाता है। यहां पर आकर आपको अच्छा लगेगा।  आप यहां पर तैराकी का भी मजा ले सकते हैं।

गौमुख के नीचे शिव शंकर का छोटा सा शिवलिंग विराजमान है, जो बहुत सुंदर लगता है। लोग यहां पर शिवलिंग की पूजा करते हैं। शिवलिंग पर जल चढ़ाते हैं। फूल और बेलपत्र चढ़ाते हैं और यहां परओंकारेश्वर पहाड़ों के द्वारा शिवलिंग का जलाभिषेक 24 घंटे इसी तरह से होता रहता है। मगर यहां पर साफ सफाई की थोड़ी कमी है।

गऊघाट में अगर साफ सफाई का ध्यान रखा जाए, तो यह घाट और भी ज्यादा सुंदर लगेगा। यहां पर आपको हर जगह कचरा देखने के लिए मिलता है। यहां पर फूल माला और अन्य कचरा यहां पड़ी रहती है। यह सब कचरा नर्मदा नदी में जाकर मिलता है। गवर्नमेंट को इस बात का ध्यान देना चाहिए।

गौमुख घाट (Gaumukh Ghat) में आपको बहुत सारे खाने-पीने की दुकान देखने के लिए मिलती है, जहां पर जाकर आप खाने-पीने का आनंद ले सकते हैं। गोमुख घाट में बहुत सारे लोग टोकरी लेकर बैठे रहते हैं, जो आपको अलग-अलग तरह के फल फ्रूट बेचते हैं। वह आपको फल केला, पपीता, अमरूद, खीरा को काटकर प्लेट में सजा कर देते हैं।

यह फ्रूट प्लेट 10 या ₹20 का होता है। आपके यहां पर पकी हुई बेर भी खाने के लिए मिलेगी। इसमें नमक आप अपने स्वाद अनुसार डाल सकते हैं। यह खाने में अच्छा लगता है और ताजे फल रहते हैं। अगर आप खाना चाहते हैं, तो ले सकते हैं।

ओंकारेश्वर में हर जगह आपको यह स्ट्रीट वेंडर्स मिल जाता है। इसके अलावा आपके यहां पर चाट और फुलकी के ठेले भी मिल जाते हैं। यहां पर चाय की दुकान भी हैं, जहां पर जाकर आप चाय की चुसकी ले सकते हैं। आप घाट में थोड़ा देर बैठकर घाट की शांति का अनुभव कर सकते हैं। वैसे यहां पर बहुत ज्यादा भीड़ बढ़ रहती है।

अगर आपको शांति चाहिए, तो आप नर्मदा नदी के दूसरे तरफ चट्टानों में जाकर बैठ सकते हैं, जहां पर शांति का एहसास होता है और एक अलग ही अनुभव होता है। क्योंकि यहां पर ज्यादातर लोग नहीं आते हैं। मगर आप को यहां पर सुकून चाहिए, तो आप यहां पर जा सकते हैं।

यहां आप नर्मदा की धार को देख सकते हैं। ओंकारेश्वर डैम को देख सकते हैं और कुछ देर शांति से बैठकर इस जगह को एंजॉय कर सकते हैं। यह जगह बहुत अच्छी है। बाकी आप अपनी इच्छा अनुसार जहां पर भी चाहे बैठ सकते हैं और शांति का अनुभव कर सकते हैं। ओंकारेश्वर में आकर हर जगह बहुत अच्छा लगता है। बस गऊघाट में आकर कुछ लोग डिस्टर्ब करते हैं।

यहां पर सामान बेचने वाले लोग आपके पास बार-बार आते हैं और आपसे सामान खरीदने के लिए कहते हैं। नाव वाले लोग भी बार-बार आकर आपसे नाव की सवारी करने के लिए कहते हैं।

यह भी पढ़े :-श्री ममलेश्वर ज्योतिर्लिंग मंदिर, ओंकारेश्वर

गौमुख घाट कहां पर स्थित है – Where is Goumukh Ghat located

गौमुख घाट (Gaumukh Ghat) ओंकारेश्वर का एक प्रसिद्ध घाट है। गोमुख घाट ओंकारेश्वर में नर्मदा नदी के किनारे बना हुआ है। आप यहां पर पैदल आराम से पहुंच सकते हैं। यहां पर आने के लिए अच्छा सड़क मार्ग है। घाट तक पहुंचाने के लिए सीढ़ियां बनी हुई है।

यह भी पढ़े :-मुहास हनुमान मंदिर कटनी

यह लेख आपकी जानकारी के लिए लिखा गया है। अगर आपको अच्छा लगा हो, तो आप इसे शेयर जरूर करें।

Leave a Comment