चंदौली के प्रमुख दर्शनीय स्थल – Top 10 Chandauli me ghumne ki jagah

Chandauli me Ghumne ki Jagah :- चंदौली जिला उत्तर प्रदेश का एक प्रमुख जिला है। इस लेख में हम आपको चंदौली जिले में घूमने की जगह (chandauli me ghumne ki jagah), चंदौली कैसे पहुंचे, चंदौली के प्रमुख धार्मिक स्थान और चंदौली के प्रसिद्ध मंदिरों के बारे में जानकारी देंगे।

Table of Contents

चंदौली जिले के बारे में जानकारी – Information about Chandauli district

चंदौली उत्तर प्रदेश का एक प्रमुख जिला है। चंदौली उत्तर प्रदेश में गंगा नदी के किनारे बसा हुआ है। चंदौली में जंगल, पहाड़, नदियां देखने के लिए मिल जाती है। चंदौली जिला उत्तर प्रदेश राज में, उत्तर प्रदेश और बिहार की सीमा के पास में स्थित है। उत्तर प्रदेश और बिहार की सीमा में कर्मनाशा नदी बहती है। कर्मनाशा नदी उत्तर प्रदेश की प्रमुख नदी है। कर्मनाशा नदी के बारे में बहुत सारी बातें कही जाती है।

चंदौली जिला में आपको ढेर सारे पर्यटन स्थल देखने के लिए मिलते हैं। चंदौली जिला में ढेर सारे जलप्रपात और डैम देखे जा सकते हैं। यह जिला पहाड़ियों से घिरा हुआ है। यहां पर आकर अच्छा लगता है। चंदौली जिले में घूमने के लिए प्राकृतिक, धार्मिक और ऐतिहासिक जगह देखने के लिए मिलती है, जो बहुत सुंदर है। आप इन जगहों में फैमिली और दोस्तों के साथ घूमने के लिए आ सकते हैं।

हमने इस ब्लॉग में चंदौली में घूमने वाले प्रमुख जगह, चंदौली कैसे जाएं, चंदौली में कब घूमने जाए, चंदौली में क्या प्रसिद्ध है। इन सभी के बारे में जानकारी दी है। आप इस ब्लॉग को पूरा पढ़े। ताकि आपको इन सभी के बारे में जानकारी मिल सके और आप चंदौली में आकर घूम सके हैं।

 

चंदौली में घूमने की जगह – Chandauli me Ghumne ki Jagah

चंदौली जिले के प्रमुख पर्यटन और दर्शनीय स्थलों की सूची – Chandauli Tourist Places list in Hindi

  1. चंद्रप्रभा वन्यजीव अभयारण्य चंदौली
  2. राजदरी जलप्रपात चंदौली
  3. देवदरी जलप्रपात चंदौली
  4. चंद्रप्रभा बांध चंदौली
  5. लतीफ शाह दरगाह चंदौली
  6. लतीफ शाह बांध चंदौली
  7. मूसाखंड बांध चंदौली
  8. नौगढ़ बांध चंदौली
  9. करकतगढ़ जलप्रपात चंदौली
  10. कोइलरवा हनुमान जी मंदिर चंदौली

 

चंदौली जिले के प्रमुख पर्यटन स्थल – Chandauli me Ghumne ki Jagah

 

चंद्रप्रभा वन्यजीव अभयारण्य चंदौली – Chandraprabha Wildlife Sanctuary Chandauli

चंद्रप्रभा वन्यजीव अभयारण्य चंदौली जिले का एक मुख्य आकर्षण स्थल है। यहां पर बहुत सारे जंगली जानवर देखने के लिए मिलते हैं। इस अभ्यारण के बीच से एक नदी बहती है, जिसका नाम चंद्रप्रभा है। इस नदी के कारण ही इस अभ्यारण को चंद्रप्रभा अभ्यारण के नाम से जाना जाता है।

इस नदी का उद्गम इस अभ्यारण में हुआ है और इस नदी का, जो आकार है। वह चांद के आकार का है। इसलिए इस नदी को चंद्रप्रभा के नाम से जाना जाता है और इस अभ्यारण को चंद्रप्रभा अभयारण्य कहा जाता है। चंद्रप्रभा अभ्यारण चंदौली जिले से करीब 40 किलोमीटर दूर है और वाराणसी से यह 70 किलोमीटर दूर है। अभ्यारण में आप अपने स्वयं के वाहन से घूमने के लिए आ सकते हैं।

यहां पर काला हिरण, चीतल, नीलगाय, जंगली सूअर, चिंकारा, अजगर यह सभी जानवर देखे जा सकते हैं। यहां पर पक्षियों की भी बहुत सारी प्रजातियां पाई जाती है। चंद्रप्रभा वन्यजीव अभयारण्य में प्रवेश करने के लिए शुल्क लिया जाता है। यहां पर पार्किंग शुल्क लिया जाता है। दोपहिया एवं चार पहिया वाहन का शुल्क अलग अलग रहता है। यहां पर आने का सबसे अच्छा समय बरसात का रहता है। यहां पर आकर अच्छा समय बिताया जा सकता है।

 

राजदरी जलप्रपात चंदौली – Rajdari Falls Chandauli

राजदरी जलप्रपात जिला चंदौली में चंद्रप्रभा वन्य जीव अभ्यारण के अंदर स्थित है। यह जलप्रपात चंद्रप्रभा नदी पर बना हुआ है। देवदरी और  राजदरी जलप्रपात, यह दोनों जलप्रपात आसपास स्थित है और बहुत सुंदर है। यहां पर सबसे पहले राजदरी जलप्रपात देखने के लिए मिलता है, उसके बाद देवदरी जलप्रपात देखने के लिए मिलता है।

राजदारी जलप्रपात में बहुत सारे छोटे-छोटे झरने देखने के लिए मिलते हैं, जो स्टेप बाय स्टेप नीचे गिरते हैं और बहुत ही सुंदर लगते हैं। यहां पर जलप्रपात के पास में वॉच टावर बना हुआ है, जहां से जलप्रपात का सुंदर दृश्य देखा जा सकता है। यहां पर बरसात में बहुत सारे लोग आते हैं और इंजॉय करते हैं। यहां बहुत सारे बंदर भी हैं।

 

देवदरी जलप्रपात चंदौली – Devdari Falls Chandauli

देवदारी जलप्रपात चंदौली में चंद्रप्रभा वन्यजीव अभयारण्य के अंदर स्थित एक आकर्षक स्थल है। यह झरना बरसात के समय देखने के लिए मिल जाता है। यह झरना चंद्रप्रभा नदी पर बना हुआ है। यहां पर ऊंची चट्टानों से पानी गिरता है, जो बहुत ही आकर्षक लगता है। यह पानी कुंड में गिरता है। झरने के पास में वॉच टावर बना हुआ है, जहां से झरने का सुंदर दृश्य देखा जा सकता है। यहां पर आप अपनी गाड़ी से घूमने के लिए आ सकते हैं। यहां पर पार्किंग शुल्क लिया जाता है। यह जगह बनारस से 70 किलोमीटर दूर है।

 

चंद्रप्रभा बांध चंदौली – Chandraprabha Dam Chandauli

चंद्रप्रभा बांध चंदौली अभ्यारण के अंदर स्थित है। यह बांध चंद्रप्रभा नदी पर बना हुआ है। यह बांध बहुत बड़ा और बहुत सुंदर है। बरसात के समय यह बांध बहता है. जिससे यह और भी ज्यादा आकर्षक लगता है। यह बांध जंगल के अंदर बना हुआ है। यहां पर बरसात में जब बांध पूरी तरह पानी से भरता है, तो यह झरने की तरह बहता है और बहुत ही सुंदर लगता है। बांध के पास में जाने की मनाई है। आप बांध को दूर से देख सकते हैं। यह वाराणसी से 65 किलोमीटर दूर है। यहां आस-पास में बहुत सारे जंगली जानवर देखने के लिए मिल जाते हैं।

 

लतीफ शाह दरगाह चंदौली – Latif Shah Dargah Chandauli

लतीफ शाह दरगाह चंदौली जिले का एक प्रमुख धार्मिक स्थल है। यह दरगाह प्राचीन है। यह दरगाह चंदौली में चकिया में बनी हुई है। लतीफ शाह एक संत थे और यहां पर उनकी दरगाह बनाई गई है। यहां बहुत सारे मुस्लिम लोग, इस दरगाह में आते हैं और लतीफ शाह की कब्र के दर्शन करते हैं और यहां पर आकर लोग प्रार्थनाएं करते हैं। यह दरगाह बहुत सुंदर है। यह दरगाह लतीफ शाह बांध के पास में बनी हुई है।

 

लतीफ शाह बांध चंदौली – Latif Shah Dam Chandauli

लतीफ शाह बांध चंदौली के पास घूमने का एक मुख्य स्थान है। यह लतीफ शाह दरगाह के पास बना हुआ है। यह बांध कर्मनाशा नदी पर बना हुआ है। इस बांध के पानी का उपयोग सिंचाई के लिए किया जाता है। यहां पर आप बरसात में घूमने के लिए आएंगे, तो बहुत अच्छा लगेगा, क्योंकि बरसात में बांध का पानी ओवरफ्लो होकर बहता है। जिसका दृश्य देखने लायक रहता है। यहां पर आकर आप दरगाह एवं बांध दोनों ही देख सकते हैं।

 

मूसाखंड बांध चंदौली – Moosakhand Dam Chandauli

मूसाखंड बांध चंदौली का एक मुख्य पर्यटन स्थल है। यह एक सुंदर बांध है। यह बांध चारों तरफ से पहाड़ियों से घिरा हुआ है। यह बांध चंदौली जिले में चकिया में स्थित है। यह बांध कर्मनाशा नदी पर बना हुआ है। इस बांध के पानी का उपयोग सिंचाई के लिए किया जाता है। यह बांध बरसात के समय बहुत सुंदर लगता है। बरसात के समय यहां पर बहुत सारे लोग घूमने के लिए आते हैं।

 

नौगढ़ बांध चंदौली – Naugarh Dam Chandauli

नौगढ़ चंदौली का एक सुंदर बांध है। यह बांध चंदौली जिले के नौगढ़ गांव में बना हुआ है। यहां पर कार और बाइक से घुमा जा सकता है। यह बांध घने जंगल के अंदर स्थित है। यह बांध चंद्रप्रभा वन्य जीव अभ्यारण के अंदर बना हुआ है। इस बांध का निर्माण 1956 में किया गया था।

इसके चारों तरफ जंगल है, जहां पर वन्यजीव देखे जा सकते हैं। यहां पर आप बरसात के समय घूमने के लिए आ सकते हैं। यह बांध मुख्य रूप से सिंचाई के उद्देश्य से बनाया गया है। यहां पर आकर बांध का मनमोहक दृश्य देखने के लिए मिलता है।

नौगढ़ बांध से कुछ ही दूरी पर, नौगढ़ जलप्रपात देखने के लिए मिलता है, जो बहुत सुंदर है। यह जलप्रपात घने जंगल के अंदर बना हुआ है और यह जलप्रपात ऊंची चट्टानों से नीचे गिरता है। जलप्रपात का दृश्य देखने लायक रहता है। यहां पर आकर बहुत आनंद आता है। बरसात में यहां पर घूमने के लिए आ सकते हैं। यह जलप्रपात बरसात में हीं देखने के लिए मिलेगा।

 

करकतगढ़ जलप्रपात चंदौली – Karkatgarh Falls Chandauli

करकतगढ़ जलप्रपात चंदौली का प्राकृतिक पर्यटन स्थल है। यह जलप्रपात कर्मनाशा नदी पर बना हुआ है। यह जलप्रपात उत्तर प्रदेश और बिहार की सीमा पर बना हुआ है। यहां पर बरसात के समय घूमने के लिए आया जा सकता है। यह जगह चारों तरफ से जंगल से घिरी हुई है। यहां पर आकर अच्छा लगता है। बहुत सारे लोग आकर यहां पर इंजॉय करते हैं।

यह भी पढ़े :- संत कबीर नगर में घूमने की जगह

कोइलरवा हनुमान जी मंदिर चंदौली – Koilarwa Hanumanji Temple Chandauli

कोइलरवा हनुमान जी मंदिर चंदौली का एक प्रमुख मंदिर है। यह मंदिर चंदौली के नौगढ़ में स्थित है। यह मंदिर घने जंगल के अंदर बना हुआ है। यह मंदिर पहाड़ी पर बना हुआ है। यहां पर आसपास के गांव वाले भगवान हनुमान के दर्शन करने के लिए आते हैं।

मंदिर जंगल के अंदर बना हुआ है। इसलिए यहां पर जाने का रास्ता भी जंगल वाला है। यहां पर हनुमान जयंती और गुरु पूर्णिमा के दिन दूर-दूर से लोग भगवान हनुमान जी के दर्शन करने के लिए आते हैं। यहां पर आकर प्राकृतिक सौंदर्य देखने के लिए मिलता है।

मंदिर तक पहुंचने के लिए सड़क की व्यवस्था है। यह मंदिर बहुत ही अच्छी तरह से बनाया गया है। इस मंदिर तक आप अपने वाहन से पहुंच सकते हैं। मंदिर के पास में कोइलरवा वाटरफॉल देखने के लिए मिलता है, जो बहुत सुंदर लगता है और यह पहाड़ियों के बीच से बहता है। यहां पर आकर अच्छा समय बिताया जा सकता है। बरसात में यहां पर बहुत सारे लोग घूमने के लिए आते हैं।

यह भी पढ़े :- सिरमौर में घूमने की जगह

चंदौली में क्या प्रसिद्ध है – What is famous in Chandauli

चंदौली में चंद्रप्रभा वन्यजीव अभयारण्य प्रसिद्ध है। इस अभ्यारण के अंदर दो जलप्रपात है – राजदरी और देवदारी। यह दोनों जलप्रपात बहुत प्रसिद्ध है। यह दोनों जलप्रपात बहुत सुंदर है और यह दोनों जलप्रपात बरसात के समय देखने के लिए मिलते हैं।

यह भी पढ़े :- अयोध्या में घूमने की जगह

चंदौली में घूमने का सबसे अच्छा समय – Best time to visit in Chandauli

चंदौली में घूमने का सबसे अच्छा समय बरसात का रहता है, क्योंकि बरसात में यहां पर आपको झरने देखने के लिए मिलते हैं। बरसात में यहां पर चारों तरफ हरियाली रहती है। यहां पर बहुत सारे डैम हैं, जहां पर आप घूम सकते हैं। यहां पर आप जून जुलाई-अगस्त के महीने घूमने के लिए आ सकते हैं। इसके अलावा आप यहां ठंड के मौसम में भी घूमने के लिए आ सकते हैं।

यह भी पढ़े :- अमेठी के दर्शनीय स्थल

चंदौली कैसे जाये – How to reach Chandauli

चंदौली उत्तर प्रदेश का प्रमुख जिला है। चंदौली अन्य शहरों से अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है। चंदौली पहुंचना बहुत आसान है। यहां पर आप सड़क माध्यम और रेल मार्ग से आ सकते है।

 

चंदौली में सड़क मार्ग से कैसे पहुंचे – How to reach Chandauli by road

चंदौली से ग्रांड ट्रक रोड गुजरती है। यह मुख्य हाईवे सड़क है और इस सड़क मार्ग द्वारा आप चंदौली शहर पर आ सकते हैं और विभिन्न टूरिस्ट प्लेस में घूमने के लिए जा सकते हैं। यहां पर आने के लिए बस की सुविधा मिल जाती है। यहां पर आप लखनऊ बनारस इलाहाबाद जैसे शहरों से सड़क मार्ग से आ सकते हैं।

 

चंदौली में रेल मार्ग से कैसे पहुंचे – How to reach Chandauli by rail

रेल मार्ग से चंदौली पहुंचना आसान है, क्योंकि यहां पर सबसे बड़ा रेलवे जंक्शन है। चंदौली के मुगलसराय सबसे बड़ा रेलवे जंक्शन है, जहां पर देश के विभिन्न हिस्सों से ट्रेनें आती हैं। यहां पर दिल्ली, मुंबई, भोपाल, इंदौर, लखनऊ, मुख्य शहरों से ट्रेन डायरेक्ट आती हैं। इस रेलवे जंक्शन का नाम बदलकर पंडित दीनदयाल उपाध्याय रेलवे स्टेशन रख दिया गया है।

 

चंदौली में हवाई मार्ग से कैसे पहुंचे – How to reach Chandauli by air

अगर आप हवाई मार्ग से चंदौली आना चाहते हैं, तो उसके लिए आपको वाराणसी आना पड़ेगा। चंदौली का नजदीकी हवाई अड्डा वाराणसी में है। आप वाराणसी में हवाई मार्ग से पहुंच सकते हैं और उसके बाद चंदौली रेल मार्ग या सड़क मार्ग से आ सकते हैं।

यह भी पढ़े :- बाराबंकी के दर्शनीय स्थल

यह लेख आपकी जानकारी के लिए लिखा गया है, अगर आपको अच्छा लगे, तो इसे शेयर जरूर करें।

Leave a Comment