बड़वानी के प्रमुख पर्यटन और दर्शनीय स्थल – Top 9 Barwani Tourist Places in Hindi

Barwani Tourist Places in Hindi :- बड़वानी मध्य प्रदेश का मुख्य जिला है। इस लेख में हम आपको बड़वानी में घूमने की जगह, बड़वानी कैसे पहुंचे, बड़वानी के प्रमुख और प्रसिद्ध मंदिरों के बारे में जानकारी देंगे।

Table of Contents

बड़वानी जिले के बारे में जानकारी – Information about Barwani district

बड़वानी मध्य प्रदेश का प्रमुख जिला है। यह निमाड़ अंचल का मुख्य जिला है। इस जिले को 1998 में खरगोन जिले से अलग करके एक नए जिले के रूप में स्थापित किया गया था।

बड़वानी जिले की मुख्य नदी नर्मदा नदी है। नर्मदा नदी बड़वानी जिले के बहुत करीब से बहती है और बड़वानी जिले में पीने का पानी मुहैया करवाती है। बड़वानी नदी में और भी बहुत सारी नदियां बहती हैं। बड़वानी जिले में गोई नदी बहती है। बड़वानी को निमाड़ का पेरिस कहा जाता है।

बड़वानी जिले में घूमने लिए बहुत सारी जगह है, जहां पर जाकर आप अच्छा समय बिता सकते हैं। बड़वानी जिले में घूमने के लिए ऐतिहासिक, प्राकृतिक और धार्मिक जगह हैं, जो बहुत सुंदर है और आप यहां पर फैमिली और दोस्तों के साथ घूमने के लिए जा सकते हैं।

इस ब्लॉग पोस्ट में हम आपको बड़वानी के प्रमुख पर्यटन (Barwani Tourist Places) और दर्शनीय स्थलों के बारे में जानकारी देंगे, जो बहुत सुंदर हैं। अगर आप बड़वानी के पर्यटन स्थलों (Barwani Tourist Places) की यात्रा करना चाहते हैं, तो इस ब्लॉग पोस्ट  को पढ़ सकते हैं, जिसमें आपको बड़वानी के पर्यटन स्थलों (Barwani Tourist Places) की जानकारी दी गई है।

 

बड़वानी में घूमने की जगह – Barwani Tourist Places

बड़वानी के प्रमुख पर्यटन और दर्शनीय स्थलों की सूची – Barwani Tourist Places list in Hindi

  1. बावनगजा बड़वानी
  2. राजघाट बड़वानी
  3. तीर गोला बड़वानी
  4. शहीद भीमा नायक बांध बड़वानी
  5. मां बड़ी बिजासन माता मंदिर बड़वानी
  6. भंवरगढ़ का किला बड़वानी
  7. सेंधवा का किला बड़वानी
  8. रामगढ़ का किला बड़वानी
  9. भिलट देव मंदिर बड़वानी

 

बावनगजा बड़वानी – Bawangaja Barwani

बावनगजा बड़वानी शहर का एक प्रमुख स्थान (Barwani Tourist Places) है। यह एक जैन तीर्थ स्थल है। यह जगह प्राचीन है। यह 2000 साल पुराना है। बावनगजा सिद्ध क्षेत्र में लंकापति रावण के पुत्र इंद्रजीत और रावण के भाई कुंभकरण में मोक्ष प्राप्त किया था।

यहां पर इंद्रजीत और रावण के भाई कुंभकरण का मंदिर भी देखने के लिए मिलता है। यहां पर जैन धर्म के प्रथम तीर्थकार भगवान ऋषभदेव जी की 84 फीट की खड़गासन मुद्रा में विश्व की सबसे ऊंची प्रतिमा देखने के लिए मिलती है। यह प्रतिमा बहुत ही सुंदर लगती है।

यहां पर आदिनाथ भगवान जी की प्रतिमा के दर्शन करने मिलते है। यह मंदिर सतपुड़ा पर्वत श्रेणी में बना हुआ है। इन मंदिरों में जाने के लिए सीढ़ियां बनी हुई है। बरसात में यह जगह बहुत सुंदर लगती है।

 

राजघाट बड़वानी – Rajghat Barwani

राजघाट बड़वानी का एक मुख्य स्थान (Barwani Tourist Places) है। यहां पर नर्मदा नदी के किनारे एक सुंदर घाट देखने के लिए मिलता है। यहां पर आपको प्राचीन मंदिर देखने के लिए मिलता है। यहां नर्मदा नदी का बहुत सुंदर दृश्य देखने के लिए मिलता है। यहां पर आप नहाने का मजा ले सकते हैं।

 

तीर गोला बड़वानी – Teer Gola Barwani

तीर गोला बड़वानी शहर का एक ऐतिहासिक स्थान है। यहां पर एक बड़ा सा तीर और एक बड़ा सा गोला देखने के लिए मिलता है।यह तीर और गोला सीमेंट और ईट से बनाया गया है और कहा जाता है कि यह स्थल यहां बड़वानी के राजा की समाधि है।

 

शहीद भीमा नायक बांध बड़वानी – Shaheed Bhima Nayak Dam Barwani

शहीद भीमा नायक बांध बड़वानी का एक प्रमुख स्थान (Barwani Tourist Places) है। यह बांध बहुत सुंदर है और बहुत बड़े एरिया में फैला हुआ है। इस बांध में आप बरसात के समय घूमने के लिए आ सकते हैं।

 

मां बड़ी बिजासन माता मंदिर बड़वानी – Maa Badi Bijasan Mata Temple Barwani

मां बड़ी बिजासन माता मंदिर बड़वानी शहर का एक प्रमुख धार्मिक स्थल (Barwani Tourist Places) है। यह मंदिर मध्य प्रदेश और महाराष्ट्र बॉर्डर पर स्थित है। यह मंदिर बहुत बड़ा है और बहुत सुंदर है। मंदिर में बिजासन माता के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। बिजासन माता की प्रतिमा बहुत सुंदर है। मंदिर के आसपास सुंदर पहाड़ियां देखने के लिए मिलती है। यह मंदिर मुख्य हाईवे सड़क पर बना हुआ है। इसलिए यहां पर आसानी से पहुंच सकते है।

मां बिजासन मंदिर के पास ही पहाड़ी के ऊपर एक शिव मंदिर बना हुआ है। यह मंदिर बहुत सुंदर है। इस मंदिर तक आप अपने वाहन से जा सकते हैं। मंदिर तक पहुंचने के लिए सड़क मार्ग है। मंदिर के ऊपर पहुंचकर चारों तरफ का बहुत ही जबरदस्त दृश्य देखने के लिए मिलता है। यहां पर आकर महादेव के शिवलिंग के दर्शन करने के लिए मिलते हैं।

 

भंवरगढ़ का किला बड़वानी – Bhanwargarh Fort Barwani

भंवरगढ़ का किला बड़वानी के सेंधवा में स्थित है। यह किला भंवरगढ़ घाट में बना है। यह किला योद्धा हाजिया नायक की कर्म स्थली रही है, जिन्होंने अट्ठारह सौ सत्तावन की क्रांति में देश की आजादी के लिए जंग लड़ी थी। यह किला खंडहर अवस्था में यहां पर मौजूद है। इस किले में बुर्ज, प्रवेश द्वार, और मोटी मोटी दीवारें है। इस किले तक ट्रैकिंग करके पहुंच सकते हैं।

 

सेंधवा का किला बड़वानी – Sendhwa Fort Barwani

सेंधवा का किला बड़वानी का एक प्रमुख स्थान है। यह एक विशाल किला है। यह किला पुरातत्व विभाग द्वारा संरक्षित किया गया है। यह किला बहुत बड़ा है। किले के अंदर बहुत सारे स्थल है, जहां पर घुमा जा सकता है। किले के अंदर राजराजेश्वर मंदिर है, जो शिव भगवान जी को समर्पित है।

यह मंदिर बहुत सुंदर है और प्राचीन है। यह किला सेंधवा मुख्य शहर में स्थित है। इस किले  से चारों तरफ का बहुत ही सुंदर दृश्य देखा जा सकता है। किले के अंदर एक छोटा सा मार्केट भी लगता है। यह किला सेंधवा के महाराज के द्वारा बनाया गया था और सेंधवा के महाराज इसे निवास स्थान के रूप में प्रयोग करते थे।

 

रामगढ़ का किला बड़वानी – Ramgarh Fort Barwani

रामगढ़ का किला बड़वानी का एक प्रमुख ऐतिहासिक स्थल है। यह एक प्राचीन किला है। यह किला बड़वानी के रामगढ़ ग्राम में है। इस किले तक पहुंचने के लिए ट्रैकिंग करनी पड़ती है। इस किले तक जाने का रास्ता जंगल और पहाड़ों से होकर जाता है। यह किला पहाड़ी पर बना हुआ है। यहां पहुंच कर आपको 1000 साल पुराना किला देखने मिलता है।

 

भिलट देव मंदिर बड़वानी – Bhilat Dev Temple Barwani

भिलट देव मंदिर बड़वानी का एक मुख्य धार्मिक स्थल है। यह मंदिर नागलवाड़ी में स्थित है। यह मंदिर बड़वानी शहर से करीब 50 किलोमीटर दूर है। यह मंदिर एक ऊंची पहाड़ी पर बना हुआ है। यह मंदिर बहुत सुंदर है। कहा जाता है, कि यह स्थान बाबा भिलट देव की कर्मभूमि है। यहां पर सतपुड़ा के अंचल पर बाबा जी ने तप किया था।

यहीं पर उन्होंने समाधि ली थी। इसलिए यह स्थान आज भीलट देव की तपोभूमि और समाधि स्थल के रूप से ना जाना जाता है। यहां पर बहुत सारे श्रद्धालु भिलट देव के दर्शन करने के लिए आते हैं। यह जगह बहुत सुंदर है और यहां पर आकर जो भी व्यक्ति मनोकामना मांगता है। उसकी मनोकामना पूरी होती है।

यह भी पढ़े :- मैहर के 15 प्रमुख दर्शनीय स्थल

बड़वानी जिले में घूमने का सबसे अच्छा समय – Best time to visit in Barwani district

बड़वानी जिले में घूमने का सबसे अच्छा समय ठंड का रहता है। आप बड़वानी जिले में ठंड के समय आ सकते हैं और सभी जगह की सैर कर सकते हैं। ठंड का मौसम बहुत ही बढ़िया रहता है, जिससे घूमने में कोई भी दिक्कत नहीं होती है।

बड़वानी में आप गर्मी के समय भी आ सकते हैं। मगर गर्मी के समय यहां का तापमान बहुत अधिक रहता है, जिससे घूमने में परेशानी हो सकती है।

यह भी पढ़े :- सागर में घूमने की 21 जगह

बड़वानी कैसे पहुंचे – How to reach Barwani

बड़वानी मध्य प्रदेश का प्रमुख जिला है। बड़वानी अन्य शहरों से अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है। बड़वानी में आप वायु मार्ग, रेल मार्ग पर सड़क मार्ग से पहुंच सकते हैं। चलिए जानते हैं – बड़वानी कैसे पहुंचे

 

वायु मार्ग से बड़वानी कैसे पहुंचे – How to reach Barwani by air

वायु मार्ग से बड़वानी पहुंचने के लिए, बड़वानी के सबसे नजदीकी हवाई अड्डा इंदौर में बना है। इंदौर बड़वानी से करीब 150 किलोमीटर दूर है। इंदौर मुख्य शहरों से अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है। यहां पर मुंबई, दिल्ली, हैदराबाद, कोलकाता, पुणे, रायपुर जैसे शहरों से हवाई सेवा उपलब्ध है। आप यहां पर मुख्य शहरों से हवाई मार्ग से आ सकते हैं और उसके बाद बड़वानी सड़क मार्ग द्वारा पहुंच सकते हैं।

 

बड़वानी में रेल मार्ग द्वारा कैसे पहुंचे – How to reach Barwani by train

बड़वानी में रेल मार्ग द्वारा आसानी से पहुंचा जा सकता है। बड़वानी का सबसे नजदीकी रेलवे स्टेशन इंदौर में है। इंदौर बड़वानी से 150 किलोमीटर दूर है। इंदौर में सभी प्रमुख शहरों से ट्रेन आती हैं। आप इंदौर आ सकते हैं और उसके बाद बड़वानी आ सकते हैं।

 

बड़वानी में सड़क मार्ग द्वारा कैसे पहुंचे – How to reach Barwani by road

बड़वानी में सड़क मार्ग द्वारा आसानी से पहुंचा जा सकता है। बड़वानी शहर में हाईवे रोड गुजरती है, जिसके द्वारा आप यहां पर आराम से आ सकते हैं। बड़वानी शहर में खंडवा बड़ौदा राज्य राजमार्ग गुजरता है, जिसके द्वारा आप यहां आ सकते हैं।

बड़वानी अन्य शहरों से सड़क मार्ग द्वारा अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है। बड़वानी इंदौर, उज्जैन, भोपाल, रतलाम, खंडवा, शहरों से सड़क मार्ग द्वारा अच्छी तरह जुड़ा हुआ है। यहां पर आने के लिए बस की सुविधा उपलब्ध है। आप बस के द्वारा यहां पर आराम से आ सकते हैं।

यह भी पढ़े :- बैतूल में घूमने की 20 जगह

यह लेख आपकी जानकारी के लिए लिखा गया है, अगर आपको अच्छा लगे, तो इसे शेयर जरूर करें।

 

Leave a Comment