बांद्राभान होशंगाबाद मध्यप्रदेश – Sacred Bandrabhan Hoshangabad, Madhya Pradesh

Bandrabhan Hoshangabad :- बांद्राभान मध्य प्रदेश का एक प्रसिद्ध धार्मिक स्थान है। यहां पर नर्मदा और तवा नदी का संगम हुआ है। यह एक पवित्र स्थल है। यहां पर हर साल बांद्राभान मेले (bandrabhan mela) का आयोजन होता है। बांद्राभान मेला (bandrabhan mela) मध्य प्रदेश का प्रसिद्ध मेला है। यहां पर भगवान शिव का मंदिर भी बना हुआ है। ये जगह बहुत सुंदर है और आप यहां पर घूमने लिए आ सकते हैं।

बांद्राभान एवं नर्मदा और तवा नदी का संगम, होशंगाबाद मध्यप्रदेश – Bandrabhan and confluence of Narmada and Tawa rivers, Hoshangabad Madhya Pradesh

बांद्राभान (Bandrabhan) होशंगाबाद (Hoshangabad) शहर की एक दर्शनीय स्थल है, जो नर्मदा नदी के किनारे स्थित है। इस जगह पर नर्मदा और तवा नदी का संगम (narmada aur tava nadi ka sangam) होता है। इस जगह का अपना धार्मिक महत्व है। इस जगह पर बहुत सारे लोग घूमने आते हैं।

नर्मदा और तवा नदी मध्य प्रदेश की प्रसिद्ध नदियां हैं। तवा नदी मध्य प्रदेश की प्रसिद्ध नदी है। तवा नदी नर्मदा नदी की सबसे बड़ी सहायक नदी है। तवा नदी मध्य प्रदेश में होशंगाबाद जिले में नर्मदा नदी से मिलती है। यह पावन संगम स्थल बहुत सुंदर है। यहां पर आपको बहुत बड़ा घाट देखने के लिए मिलता है। यहां पर घाट में रेत का मैदान देखा जा सकता है, जहां पर आप घूम सकते हैं। आप यहां पर नर्मदा नदी में जाकर स्नान कर सकते हैं। यहां पर नदी का जल बहुत ही साफ और पवित्र है।

बांद्राभान होशंगाबाद (Bandrabhan Hoshangabad) जिले से करीब 10 किलोमीटर दूर है। बांद्राभान  तक पहुंचने के लिए सड़क मार्ग उपलब्ध है। आप बांद्राभान में आप अपनी बाइक और कार से जा सकते हैं। बांद्राभान जाने के लिए पक्की सड़क उपलब्ध है। मगर बांद्राभान जाने वाली सड़क में आपको रेत की एक मोटी परत देखने के लिए मिलती है। आपके यहां पर अपनी गाड़ी को बहुत संभाल कर चलाने की आवश्यकता होती है, नहीं तो रेत में आपकी गाड़ी फिसल सकती है।

बांद्राभान (Bandrabhan) में नर्मदा और तवा नदी का संगम (narmada aur tava nadi ka sangam) है, जो देखने लायक है। यहां आकर अच्छा लगेगा। यहां पर बहुत बड़ा नर्मदा जी का बीच है या आप कह सकते हैं, कि यह पर नर्मदा नदी विशाल तट है। यहां पर आकर आप स्नान कर सकते हैं और मां नर्मदा जी की पूजा कर सकते हैं।

मगर मां नर्मदा जी के पूजा करने के लिए आप उनमें किसी भी तरह का कचडा न डालें। न ही किसी तरह की मूर्तियां विर्साजित करें। आप यहां पर नर्मदा जी के किनारे थोड़ा देर बैठ सकते है। इस स्थल पर सूर्यास्त का दृश्य मनोरम होता है। नदी कुछ जगहों पर काफी उथली और गहरी हो सकती है इसलिए आप अगर यहां पर नहाते है तो सावधानी जरूर बरतें। नर्मदा और तवा नदी का संगम बरसात में देखने लायक होता है।

यह एक तीर्थ स्थल (tirth sthal) के रूप में प्रसिद्ध है, तो यहां पर बहुत सारे लोग आते हैं और दर्शन करते हैं। आप भी यहां पर अपनी फैमिली और अपने दोस्तों के साथ आकर मां नर्मदा जी के दर्शन कर सकते हैं और उनका आशीर्वाद ले सकते हैं।

यह भी पढ़े :- नरसिंह मंदिर नरसिंहपुर

बांद्राभान का मेला होशंगाबाद – Bandrabhan Mela Hoshangabad

इस जगह को बांद्राभान (Bandrabhan) बोला जाता है – इसके लिए एक कहानी प्रसिद्ध है। कहा जाता है कि यहां पर एक राजा था जिसे संतो के द्वारा श्राप दिया गया था, कि उसका मुख वानर की तरह हो जाएगा। उस राजा ने इस समस्या के समाधान के लिए बहुत प्रयास किया, बहुत सी जगह घूमा। लेकिन उसकी समस्या का किसी भी तरह का समाधान नहीं हो पाया।

फिर उस राजा ने नर्मदा नदी के तट पर तपस्या किया और माॅ नर्मदा की पूजा अर्चना किया। जिससे उसके श्राप का समाधान हो गया।  इसलिए इस जगह का नाम बांद्राभान (Bandrabhan) रखा गया है। राजा की ठीक होने के बाद यह मेला लगने शुरू हो गया है और यह मेला बांद्राभान मेले (Bandrabhan Mela) के नाम से प्रसिध्द है।

बांद्राभान (Bandrabhan) बहुत प्रसिद्ध स्थल है। यहां पर साल में एक बार मेला लगता है। यहां मेला कार्तिक पूर्णिमा (Karthik Purnima) को लगता है। इस मेले में पूरे देश से लोग आते हैं। यह मेला बहुत बड़ा और भव्य रहता है। इस मेले में पूरे राज्य से लाखों लोग पहुंचते हैं और यहां पर स्नान करते हैं। नर्मदा जी का आशीर्वाद लेते हैं। यहां पर बहुत सारी दुकाने रहती हैं। यहां पर तरह तरह के झूले भी लगते है। आप झूले के मजा ले सकते हैं। इस जगह पर मेले के दौरान शासन के द्वारा भी बहुत सारी सुविधाएं की जाती है।  कहा जाता है कि यहां पर लोगों की इच्छाएं भी पूरी होती है।

यह भी पढ़े :- सिमरिया हनुमान मंदिर छिंदवाड़ा

बांद्राभान में घूमने का सबसे अच्छा समय – Best time to visit Bandrabhan

बांद्राभान में घूमने का सबसे अच्छा समय मकर संक्रांति है। यहां पर रेत के मैदान में बहुत बड़े मेले का आयोजन होता है। यहां पर रेत का बहुत बड़ा मैदान देखा जा सकता है। यहां पर तरह-तरह की दुकान लगाई जाती है, जहां पर आप शॉपिंग कर सकते हैं। यहां पर बहुत सारे साधु संत जाकर प्रार्थना करते हैं और मां नर्मदा नदी में डुबकी लगाते हैं। बहुत सारे लोग भी यहां पर आकर मां नर्मदा नदी में डुबकी लगाते हैं। बाकी आप बांद्राभान में कभी भी आ सकते हैं। आप यहां पर आकर संगम में स्नान का आनंद उठा सकते हैं।

यह भी पढ़े :- सरभंगा आश्रम चित्रकूट

बांद्राभान कहां स्थित है – where is Bandrabhan located

बांद्राभान (Bandrabhan) होशंगबाद शहर (Hoshangabad city) में स्थित है। यह होशंगाबाद शहर (Hoshangabad City) से 8 किलोमीटर दूर है। यहां पर आप अपने वाहन से या फिर आटो बुक करके पहुॅच सकते है।

 

यह लेख आपकी जानकारी के लिए लिखा गया है। आप इस लेख को शेयर जरूर करें।

Leave a Comment